Home /News /rajasthan /

जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट अब निजी हाथों में, अडानी ग्रुप करेगा संचालन

जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट अब निजी हाथों में, अडानी ग्रुप करेगा संचालन

फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट अब निजी हाथों में चला गया है. इसे निजी हाथों में देने का फैसला महीनों पहले कर लिया गया था. अब इसका संचालन अडानी ग्रुप करेगा. अडानी ग्रुप ने सात कंपनियों में सबसे ज्यादा बोली लगाई.

जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट अब निजी हाथों में चला गया है. इसे निजी हाथों में देने का फैसला महीनों पहले कर लिया गया था. अब इसका संचालन अडानी ग्रुप करेगा. अडानी ग्रुप ने सात कंपनियों में सबसे ज्यादा बोली लगाई. अडानी ग्रुप 174 रूपए प्रति यात्री के हिसाब से जयपुर एयरपोर्ट अथोरिटी को देगा. दूसरी तरफ इस फैसले के खिलाफ जयपुर एयरपोर्ट एम्पॉलाइज़ यूनियन एयरपोर्ट पर हड़ताल पर बैठ गई है.

BJP सरकार का एक और बड़ा फैसला पलटने की तैयारी, बंद किए गए स्कूलों के खुलेंगे ताले

जयपुर एयरपोर्ट एम्पॉलाइज यूनियन पिछले काफी समय से एयरपोर्ट के निजीकरण का विरोध कर रही है. लेकिन उनका विरोध फिलहाल किसी काम आता नजर नही आ रहा है. ताजा जानकारी के मुताबिक देश के 6 एयरपोर्ट को निजी हाथों में देने का फैसला किया गया था. इसमें से 5 एयरपोर्ट अडानी ग्रुप ने ज्यादा बोली लगाकर अपने नाम कर लिए हैं.

CM गहलोत का पीएम पर पलटवार, कहा- बिना तथ्यों के आरोप लगा रहे हैं मोदी

जयपुर एयरपोर्ट के लिए इन कंपनियों ने लगाई बोली

1. जीएमआर - 69 रुपए प्रति यात्री
2. अडानी ग्रुप - 174 रुपए प्रति यात्री
3. एएमपी कैपिटल - 139 रुपए प्रति यात्री
4. पीएनसी - 36 रुपए प्रति यात्री
5. नेशनल इंवेस्टमेंट - 155 रुपए प्रति यात्री
6. इंवेस्टमेंट - 72 रुपए प्रति यात्री
7. ऑटोस्ट्रेड - 48 रुपए प्रति यात्री

निर्दलीय विधायकों को साधने की कवायद, सीएम गहलोत से मिले 8 विधायक

यात्रियों के आवागमन पर निर्भर करेगी आय
अगर एक दिन में जयपुर एयरपोर्ट से कम से कम 5000 यात्री भी आवागमन करते हैं तो 5 हजार यात्रियों के हिसाब से 8 लाख 70 हज़ार रुपए जयपुर एयरपोर्ट अथोरिटी को मिलेंगे. ये रकम यात्रियों के आवागमन पर कम या ज्यादा हो सकती है. लेकिन एम्पलॉइज यूनियन इस फैसले से खुश नहीं है और वह एयरपोर्ट के टर्मिनल-2 पर बेमियादी भूख हड़ताल पर बैठ गई है.

CMO तक पहुंची थप्पड़ कांड की गूंज, खेल मंत्री चांदना ने सीएम को दिया स्पष्टीकरण

ये एयरपोर्ट भी गए अडानी ग्रुप के पास
जयपुर एयरपोर्ट की तर्ज पर ही त्रिवेन्द्रम, मेंगलोर, अहमदाबाद और लखनऊ एयरपोर्ट भी अडानी ग्रुप की झोली में चले गए हैं. इन एयरपोर्टस पर भी प्रति यात्री सबसे ज्यादा बोली लगाने वाला अडानी ग्रुप ही रहा. फिलहाल जयपुर एयरपोर्ट को लेकर एयरपोर्ट एम्पलॉइज यूनियन हाईकोर्ट में जा रही है. जल्द ही इस मामले की सुनवाई भी शुरू होने वाली है. लिहाजा अभी अदालत का रूख देखना भी बाकी है. जयपुर एयरपोर्ट के अलावा गुवाहाटी और त्रिवेन्द्रम के कर्मचारी भी अदालत जा चुके हैं और उनकी सोमवार को सुनवाई है.

खेल राज्य मंत्री अशोक चांदना के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा डालने का मामला दर्ज

UDH मंत्री का राजे पर पलटवार, कहा- संपूर्ण नहीं, फसली ऋण माफ करने का किया था वादा

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

Tags: Airports, Jaipur news, Rajasthan news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर