जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पैसेंजर ग्रोथ में पिछड़ा, नॉटम ने घटाया आवागमन

फोटो: न्यूज18 राजस्थान

फोटो: न्यूज18 राजस्थान

इसकी वजह से ना केवल डोमेस्टिक यात्री भार में कमी आई, बल्कि अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों ने भी जयपुर के बजाय दिल्ली का रूख कर लिया.

  • Share this:
तीन साल में पहली बार जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पैसेंजर ग्रोथ में पिछडा हुआ नज़र आ रहा है. इसके पीछे सबसे बड़ी वजह है तीन महीने तक चला लंबा नॉटम. इसकी वजह से ना केवल डोमेस्टिक यात्री भार में कमी आई, बल्कि अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों ने भी जयपुर के बजाय दिल्ली का रूख कर लिया. अब जयपुर एयरपोर्ट पर फिर से रौनक लौटने में अभी थोड़ा वक्त लगेगा.



विश्व मानचित्र पर अपनी एक अलग पहचान रखने वाले जयपुर से पिछले 3 साल में एयर कनेक्टिविटी लगातार बढ़ रही है. घरेलू हो या इंटरनेशनल कनेक्टिविटी सभी जगह जयपुर से विमानों का आवागमन बढ़ रहा है. जयपुर फिलहाल 5 विदेशी शहरों और 19 घरेलू शहरों से जुड़ा हुआ है. लेकिन हाल ही में एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने स्थानीय एयरपोर्ट से जुड़े अप्रैल माह के आंकड़े जारी किए हैं. इसमें जयपुर की ग्रोथ निगेटिव रही है. इससे एयरपोर्ट प्रशासन की व्यवस्थाओं पर सवाल खड़े हो गए हैं.



नॉटम से बढ़ी परेशानियां

कभी टैक्सी ट्रैक बनाने तो कभी रन-वे मेंटीनेंस के नाम पर बार-बार एयरपोर्ट को बंद किए जाने से एयरलाइंस के लिए परेशानी बढ़ गई है. एयरपोर्ट को बंद किए जाने को तकनीकी भाषा में नॉटम (नोटिस टू एयरमैन) कहा जाता है. ऐसा नहीं है कि केवल अप्रैल में ही यात्रियों और विमानों की संख्या में गिरावट दर्ज की गई है. बल्कि इससे पहले मार्च माह में भी यात्रीभार और एयरक्राफ्ट मूवमेंट कम हुआ था. जबकि मार्च माह तक जयपुर में अच्छा पर्यटन सीजन रहता है.
महीना             यात्री रोजाना    फ्लाइट्स



नवंबर 17/        4.19 लाख        63 फ्लाइट

दिसंबर 17       4.55 लाख         64 फ्लाइट

जनवरी 18       4.63 लाख         67 फ्लाइट

फरवरी 18       4.55 लाख         69 फ्लाइट

मार्च 18           4.11 लाख         54 फ्लाइट

अप्रैल 18         4.16 लाख         62 फ्लाइट



यह हुआ नॉटम का असर

मार्च और अप्रैल में विमानों का आवागमन कम होने और यात्रीभार में गिरावट के लिए एयरपोर्ट नोटम को जिम्मेदार मान रहा है. मार्च में एयरपोर्ट को रोजाना दिन में 7 घंटे तक बंद रखा गया. इसके बाद से मई माह में एयरपोर्ट को रात में बंद रखा गया. एयरपोर्ट नॉटम के चलते इंटरनेशनल एयरलाइंस का रुझान भी जयपुर से कम हो रहा है.



रनवे नॉटम के कारण ही जयपुर से सिंगापुर की स्कूट एयरलाइंस की फ्लाइट और एतिहाद एयरवेज की जयपुर से आबूधाबी की फ्लाइट फरवरी माह में बंद हो गई थीं. दो इंटरनेशनल फ्लाइट बंद होने से यात्रियों को झटका लगा. फिलहाल यात्रियों को पता लगने में समय लग रहा है कि एयरपोर्ट पूरी तरह से शुरू हो चुका है. जैसे ही पुराने यात्रियों का आवागमन फिर से शुरू होगा तो एयरपोर्ट भी फिर से ज़िंदा हो उठेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज