लाइव टीवी

जयपुर: लॉकडाउन के बीच खरीफ सीजन की तैयारियां, खाद-बीज का भंडारण जारी
Jaipur News in Hindi

Dinesh Sharma | News18 Rajasthan
Updated: April 6, 2020, 7:42 PM IST
जयपुर: लॉकडाउन के बीच खरीफ सीजन की तैयारियां, खाद-बीज का भंडारण जारी
बुवाई मई के मध्य से शुरू होगी.

लॉकडाउन (Lockdown) के बीच कृषि विभाग ने खरीफ सीजन की तैयारियां भी शुरू कर दी है. 1 अप्रेल से खरीफ सीजन (Kharif season) की शुरुआत हो जाती है. इसके लिए खाद-बीज का भंडारण निरंतर जारी है ताकि किसानों को समस्या का सामना ना करना पड़े.

  • Share this:
जयपुर. लॉकडाउन (Lockdown) के बीच कृषि विभाग ने खरीफ सीजन की तैयारियां भी शुरू कर दी है. 1 अप्रेल से खरीफ सीजन (Kharif season) की शुरुआत हो जाती है और कृषि विभाग को खाद-बीज जैसे जरूरी इंतजाम समय से करने होते हैं. हालांकि इस बार अभी बुवाई देरी से शुरू होगी, लेकिन कृषि विभाग के अधिकारियों के मुताबिक लॉकडाउन का खरीफ सीजन की तैयारियों पर कोई असर नहीं है. खाद-बीज का भंडारण निरंतर जारी है ताकि किसानों को समस्या का सामना ना करना पड़े.

लॉकडाउन से मुक्त हैं कृषि आदान
सरकार ने भी कृषि आदानों को लॉकडाउन से मुक्त रखा है. कोरोना संकट के संबंध में जारी की गई गाइडलाइन की पालना करते हुए खरीफ सीजन की तैयारी की जा रही है. मक्का, बाजरा, ज्वार, मूंग, मोठ, मूंगफली, कपास आदि खरीफ की प्रमुख फसलें हैं. खरीफ सीजन में प्रदेश में करीब 1 लाख 60 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में बुवाई होती है.

मई के मध्य से शुरू होगी बुवाई



खरीफ सीजन 1 अप्रेल से ही शुरू हो जाता है, लेकिन बुवाई का सिलसिला मई माह के मध्य से शुरू होता है. 1 अप्रेल से इस सीजन के लिए खाद-बीज का अग्रिम भंडारण शुरू कर दिया जाता है. कृषि विभाग के अधिकारियों के मुताबिक 15 मई के आसपास कपास और मूंगफली की बुवाई शुरू हो जाएगी. जबकि बाजरा, मक्का, ज्वार, मूंग, मोठ आदि की बुवाई 15 जून के आसपास शुरू होगी. खरीफ सीजन में सबसे ज्यादा रकबे में बाजरे की बुवाई की जाती है. कृषि विभाग की ओर 51 कंपनियों को बीटी कॉटन बीज की आपूर्ति की परमिशन दी जा चुकी है.



इस बार किसानों को सीएसआर का भी मिलेगा फायदा
उल्लेखनीय है कि लॉकडाउन के बाद उपजी स्थितियों को देखते हुए इस बार निजी कंपनियां किसानों को राहत देने के लिए सीएसआर के तहत नई पहल करने जा रही है. राजस्थान में पहली बार सीएसआर गतिविधियों के तहत किसानों को भी मदद उपलब्ध करवाई जाएगी. इसमें लघु व सीमांत किसानों को कटाई और जुताई के उपयोग में आने वाले कृषि उपकरण निशुल्क मुहैया करवाए जाएंगे. इसके लिए कृषि उपकरण बनाने वाली दो प्रमुख कंपनियां आगे आई हैं. इन कंपनियों ने प्रदेश के मुख्य सचिव को इसका प्रस्ताव भेजा है. उसे स्वीकार कर लिया गया है.

Lockdown: किसानों को मुफ्त में मिलेगे कटाई-जुताई के उपकरण, ऐसे उठाएं फायदा

COVID-19: राजस्थान में 14 और नए मामले आए सामने, जयपुर में 100 पर पहुंचा आंकड़ा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 6, 2020, 7:39 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading