Jaipur: लॉकडाउन के बीच वाम दलों-संगठनों का प्रदर्शन, घर की छतों, बालकनियों और खेतों में खड़े होकर जताया विरोध

इस विरोध प्रदर्शन में कई संगठन शामिल हुए.
इस विरोध प्रदर्शन में कई संगठन शामिल हुए.

लॉकडाउन (Lockdown) के बीच वामपंथी दलों और जनसंगठनों के राष्ट्रीय आह्वान के तहत मंगलवार को प्रदेशभर में विरोध प्रदर्शन (Protest) किया गया. लोगों ने घरों की छतों पर, दरवाजों पर, बालकनियों में और खेतों-ढाणियों में खड़े हो कर नारेबाजी कर अपना विरोध जाहिर किया.

  • Share this:
जयपुर. लॉकडाउन (Lockdown) के बीच वामपंथी दलों और जनसंगठनों के राष्ट्रीय आह्वान के तहत मंगलवार को प्रदेशभर में विरोध प्रदर्शन (Protest) किया गया. लोगों ने घरों की छतों पर, दरवाजों पर, बालकनियों में और खेतों-ढाणियों में खड़े हो कर नारेबाजी कर अपना विरोध जाहिर किया. लॉकडाउन से प्रभावित वर्ग को राहत देने की मांग को लेकर यह प्रदर्शन किया गया. प्रदर्शन में सोशल डिस्टेंसिंग का भी ध्यान रखा गया. प्रदर्शन में शामिल हुए संगठनों के लोग मास्क लगाए हुए नजर आए.

कई संगठनों ने निभाई सहभागिता
संगठनों का कहना है कि कोरे भाषण नहीं बल्कि मजदूरों को राशन की जरूरत है. इस प्रदर्शन के जरिए श्रमिकों-किसानों, महिलाओं, छात्रों-नौजवानों और आम जनता ने नारेबाजी कर सरकारों की कार्यप्रणाली के खिलाफ विरोध जताया और चेतावनी दी. सुबह साढ़े दस बजे से लेकर 10 बजकर 40 मिनट तक यह प्रदर्शन किया गया. भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) के मुताबिक 10 मिनट इस प्रदर्शन में सीटू, किसान सभा, अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति, स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया, भारत की जनवादी नौजवान सभा , दलित शोषण मुक्ति मंच राजस्थान और आदिवासी जनाधिकार मंच इसमें शामिल रहे.

संगठनों की ये हैं प्रमुख मांगें



- कोरे भाषण नहीं बल्कि मजदूरों को राशन दिया जाए.
- कोरोना वारियर्स यानि चिकित्साकर्मियों, सफाईकर्मियों आदि को पीपीई किट सहित सुरक्षा उपकरण उपलब्ध करवाए जाएं.
- सभी श्रमिकों और कर्मचारियों को नौकरी से ना हटाने की गारंटी दी जाए.
- संकटपूर्ण समय में मदद के लिए सबके खातों में न्यूनतम 7500 रुपये प्रतिमाह जमा कराएं जाएं.
- प्रवासी-मजदूरों और असंगठित क्षेत्र के मजदूरों को भोजन, आवास और चिकित्सा सुविधा सुनिश्चित हो.
- मजदूरों को सुरक्षित घरों तक पहुंचाने की व्यवस्था की जाए.
- महामारी को साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण के औजार के रूप में इस्तेमाल करना बंद हो.

COVID-19: केन्द्रीय मंत्री मेघवाल ने जयपुर पुलिस पर लगाए ये गंभीर आरोप

Corona Free होने की स्टेज पर आए भीलवाड़ा में फिर सामने आए 4 नए पॉजिटिव केस
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज