• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Jaipur: राजस्थान में चिकित्सा विभाग में मैन पावर की कमी होगी दूर- डॉ. शर्मा

Jaipur: राजस्थान में चिकित्सा विभाग में मैन पावर की कमी होगी दूर- डॉ. शर्मा

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने कहा कि 9 हजार एएमएम और जीएनएम को जल्द ही नियुक्ति दे दी जाएगी.

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने कहा कि 9 हजार एएमएम और जीएनएम को जल्द ही नियुक्ति दे दी जाएगी.

राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग (Medical and Health Department) में मैन पावर की कमी को दूर करने के लिए डॉक्टर्स और नर्सेज की भर्ती की जाएगी. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने कहा है कि कोरोना (Corona) से लड़ाई में मैनपावर की कमी नहीं आने दी जाएगी.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग (Medical and Health Department) में मैन पावर की कमी को दूर करने के लिए डॉक्टर्स और नर्सेज की भर्ती की जाएगी. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने कहा है कि कोरोना (Corona) से लड़ाई में मैनपावर की कमी नहीं आने दी जाएगी. पिछले दिनों 735 नए चिकित्सकों जिलों में नियुक्ति दे दी गई है और अब 2000 नए चिकित्सकों की भर्ती की प्रक्रिया शुरू की जा रही है.

9 हजार एएमएम और जीएनएम को जल्द ही नियुक्ति दे दी जाएगी
बकौल डॉ. शर्मा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देश पर न्यायालय में अटकी 12 हजार 500 जीएनएम और एएनएम की भर्ती का रास्ता साफ करते हुए 9 हजार एएमएम और जीएनएम को जल्द ही नियुक्ति दे दी जाएगी. डॉ. शर्मा ने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य के आधारभूत ढांचे को मजबूत करने और अस्पतालों को सभी चिकित्सा सुविधाओं से युक्त करने के लिए चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश दिए जा चुके हैं. प्रदेश में जांच सुविधाओं का विस्तार किया जा रहा है. चिकित्सा संस्थानों में वर्तमान में 4700 जांच प्रतिदिन करने की क्षमता विकसित कर ली है और आने वाले दिनों में इसकी भी संख्या 10 हजार की जाएगी. सभी जिला मुख्यालयों पर भी जांच की सुविधाएं विकसित करने पर काम चल रहा है.

कोरोना फोर्स से अभद्रता बर्दाश्त नहीं
राजस्थान में कोरोना से लड़ रही कर्मवीरों की फोर्स का स्वस्थ रहना प्रदेश के लिए सबसे बड़ी चुनौती है. स्वास्थ्यकर्मी, पुलिसकर्मी, प्रशासक, पत्रकार और अन्य सेवाओं के लोग इस लड़ाई में मुस्तैदी से लगे हुए हैं. इनके साथ किसी भी सूरत में बदतमीजी या अभद्रता बर्दाश्त नहीं की जाएगी. ऐसा करने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

कर्फ्यूग्रस्त क्षेत्रों के लिए 400 मेडिकल वैन OPD
कोरोना प्रभावित कर्फ्यूग्रस्त और ऐसे क्षेत्र जो लॉकडाउन की वजह से सामान्य चिकित्सा सेवाओं से वंचित हैं वहां 400 मेडिकल मोबाइल वाहनों द्वारा चिकित्सा सेवाएं सुलभ करवाई जा रही हैं. सुबह 8 बजे से 2 बजे तक सभी उपखंड मुख्यालयों और अन्य चिन्हित स्थानों पर चिकित्सा उपचार सेवाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं. कोई भी व्यक्ति जो किसी सामान्य या विशेष बीमारी से ग्रसित है वह इस सेवा के अंतर्गत निःशुल्क उपचार ले सकता है. इन मोबाइल वाहनों में लाउड स्पीकर की व्यवस्था भी की गई है ताकि घरों में रह रहे लोगों को इसकी सूचना आसानी से मिल सके.

सीएम गहलोत ने लोगों की पीड़ा को समझा
कांग्रेस नेता एवं राज्य बीज निगम के पूर्व अध्यक्ष धर्मेन्द्र राठौड़ ने चिकित्सा सेवाओं में विस्तार के लिए सीएम अशोक गहलोत का आभार जताते हुए कहा कि उन्होंने लोगों की पीडा को समझा है. प्रदेश में चिकित्सकों और नर्सेज की भर्ती होने से चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग में मैन पावर की कमी दूर होगी. लोगों को इससे अस्पतालों और डिस्पेंसरियों में स्टाफ की कमी से नहीं जूझना पड़ेगा.

COVID-19: राजस्थान में कोरोना को हराने का अचूक मंत्र बना Home Quarantine

COVID-19: राजस्थान में 3 दर्जन नए केस, 2000 पहुंची संख्या, 29 लोगों की मौत

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज