लाइव टीवी

ALERT: पाकिस्तानी हैकर्स के निशाने पर जयपुर मेट्रो, Cyber Attack का खतरा!

Lovely Wadhwa | News18 Rajasthan
Updated: December 11, 2019, 4:22 PM IST
ALERT: पाकिस्तानी हैकर्स के निशाने पर जयपुर मेट्रो, Cyber Attack का खतरा!
जयपुर मेट्रो की सुरक्षा को लेकर केन्द्र सरकार ने जारी किया अलर्ट (फाइल फोटो)

जयपुर मेट्रो (Jaipur Metro) की सुरक्षा को लेकर केन्द्र सरकार ने अलर्ट (Alert) जारी किया हैं. पाकिस्तानी हैकर्स (Pakistani Hackers) से जयपुर मेट्रो को साइबर अटैक (Cyber Attack) का खतरा जताया जा रहा हैं.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान की राजधानी जयपुर में जयपुर मेट्रो (Jaipur Metro) की सुरक्षा को लेकर केन्द्र सरकार ने अलर्ट (Alert) जारी किया हैं. पाकिस्तानी हैकर्स (Pakistani Hackers) से जयपुर मेट्रो को साइबर अटैक (Cyber Attack) का खतरा जताया जा रहा हैं. साइबर हमले से बचने के लिए केंद्र सरकार (central government) ने जयपुर मेट्रो को अपनी साइबर सिक्योरिटी (Cyber security) अपडेट करने को लेकर अलर्ट जारी किया है. मेट्रो प्रशासन ने एक्सपर्ट की मदद से साइबर एडवाइजरी बनाने की तैयारी शुरू कर दी है. हालांकि मेट्रो प्रशासन (Metro Administration) की ओर से बताया जा रहा है कि यह अलर्ट देश के सभी मेट्रो प्रशासन को जारी किया गया है.

केन्द्र सरकार नें जयपुर मेट्रो को एडवाइजरी बनाने के दिए निर्देश 

पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है. पाकिस्तान (Pakistan) कभी सीजफायर उल्लंघन कर रहा हैं तो वहीं अब साइबर हमले कर दहशत फैलाने का काम कर रहा हैं. हाल ही में देश की सुरक्षा एजेन्सियों को मेट्रो की सुरक्षा को लेकर अलर्ट मिला हैं. साइबर हमले के माध्यम से मेट्रो के ऑपरेटिंग सिस्टम (Operating System) को डेमेज कर बड़ा हमला करने की तैयारी  हैं. केन्द्र सरकार से जयपुर मेट्रो को मिले इनपुट के अनुसार केन्द्र सरकार नें जयपुर मेट्रो रेल प्रशासन को एडवाइजरी बनाने के निर्देश दिए हैं. मेट्रो को साइबर हमले से बचाव के लिए एडवाइजरी मांगी गई हैं.

केंद्र सरकार से मिले अलर्ट के बाद जयपुर मेट्रो पर बढ़ी सुरक्षा
केंद्र सरकार से मिले अलर्ट के बाद जयपुर मेट्रो पर बढ़ी सुरक्षा


ट्रेनों को गलत दिशा में भटका भी सकते हैं हैकर्स

साइबर एक्सपर्ट की माने तो ऑपरेटिंग सिस्टम इंटरनेट और इंट्रानेट के जरिए रन होता है. हैकर्स इंटरनेट से रन होने वाले सिस्टम में आसानी से दाखिल हो सकते हैं, ऐसे में हैकर्स कम्प्यूटर नेटवर्क सिस्टम में ट्रॉजन फाइल इन्स्टॉल करके कंट्रोल अपने हाथ में ले लेते हैं और ट्रेनों को गलत दिशा में भटका भी सकते हैं. सरकारी रिकार्ड के अनुसार पिछले 4 साल में पाकिस्तानी हैकर्स 25 सरकारी वेबसाइट्स हैक कर चुके हैं. इनमें पंचायती राज, सिंचाई विभाग, मुख्यमंत्री रिलीफ विभाग, एनीमल हसबेंडरी, गोपालन, आरटीडीसी, माइन्स और कॉलेज एजुकेशन विभाग की वेबसाइट भी शामिल हैं. वहीं साइबर अलर्ट को लेकर केंद्र सरकार से मिले अलर्ट के बाद जयपुर मेट्रो की सुरक्षा बढ़ा दी गई हैं

ये 4 बड़े नुकसान बताए जा रहे हैं, जो हैकर्स पहुंचा सकते हैं

  • ऑटोमेटिक ऑपरेटिंग सिस्टम के चलते हैकर्स कंट्रोल अपने हाथ में लेकर स्पीड ओवर या डाऊन कर सकते हैं.

  • टिकटिंग सिस्टम या एकॉउंट को हैक करके रेवेन्यू या सिस्टम को लास्ट कर सकते हैं.

  • मेट्रो का संचालन ठप कर सकते हैं

  • मेट्रो कोच में एंट्री और एक्जिट सिस्टम को भी हैक करने का अंदेशा जताया जा रहा है.


यह भी पढ़ें- अजमेर में हाईटेक ATM लूट, बिना तोड़फोड़ किए स्मार्ट डिवाइस से पार किए 80 हजार रुपए

यह भी पढ़ें- स्कूली छात्रा ने घर में फांसी लगाकर की आत्महत्या, जांच में जुटी पुलिस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 4:07 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर