लाइव टीवी

जयपुर: नर्बदा इन्दौरिया 'संतोष व्यास स्मृति सृजन सेवा सम्मान' से पुरस्कृत
Jaipur News in Hindi

News18 Rajasthan
Updated: January 26, 2020, 8:24 PM IST
जयपुर: नर्बदा इन्दौरिया 'संतोष व्यास स्मृति सृजन सेवा सम्मान' से पुरस्कृत
जीवन मूल्यों पर आधारित लेखन कार्य के लिए किया गया सम्मानित.

रचनात्मक संस्था मरूदेश संस्थान सुजानगढ़ (Sujangarh) ने राजस्थान सरकार (Government of Rajasthan) के सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग की उप निदेशक नर्बदा इंदौरिया (Narbada Indoreia) को संतोष व्यास स्मृति सृजन सेवा सम्मान (Honor) प्रदान किया है.

  • Share this:
जयपुर. रचनात्मक संस्था मरूदेश संस्थान सुजानगढ़ (Sujangarh) ने राजस्थान सरकार (Government of Rajasthan) के सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग की उप निदेशक नर्बदा इंदौरिया (Narbada Indoreia) को संतोष व्यास स्मृति सृजन सेवा सम्मान (Honor) प्रदान किया है. सुजानगढ़ के जैन भवन सभागार में आयोजित कार्यक्रम में इंदौरिया को यह सम्मान प्रदान किया गया. उन्हें पुरस्कार स्वरूप 11 हजार रुपये की राशि, अभिनंदन पत्र, शॉल, प्रतीक चिन्ह और साहित्य (Literature) प्रदान किया गया.

जीवन मूल्यों पर आधारित लेखन कार्य के लिए किया सम्मानित
मरूदेश संस्थान सुजानगढ़ की ओर से प्रतिवर्ष पूर्व प्राचार्या एवं शिक्षाविद् संतोष व्यास के नाम से 'संतोष व्यास स्मृति सृजन सेवा सम्मान' प्रदान किया जाता है. इस बार यह सम्मान समारोह राष्ट्रीय बालिका दिवस पर आयोजित किया गया. मरूदेश संस्थान के अध्यक्ष डॉ. घनश्यामनाथ कच्छावा ने बताया कि सोना देवी सेठिया कन्या महाविद्यालय की प्राचार्या संतोष व्यास के सान्निध्य में शिक्षा ग्रहण करने वाली नर्बदा इंदौरिया गत 25 बरसों से मीडिया क्षेत्र में सक्रिय है. उन्होंने खोजपूर्ण, उत्कृष्ट, रचनात्मक, सामाजिक सरोकार एवम् विकास की सकारात्मक पत्रकारिता में विशेष रूचि रखते हुए जीवन मूल्यों पर आधारित लेखन कार्य किया है.

पूर्व में भी मिल चुके हैं कई पुरस्कार

डॉ. कच्छावा ने बताया कि राजस्थान सरकार की मासिक पत्रिका 'राजस्थान सुजस' में सम्पादक के रूप में सेवाए दे चुकी इंदौरिया को पूर्व में भी कई प्रतिष्ठित पुरस्कारों से सम्मानित किया जा चुका है. प्रतिष्ठित पत्रकारिता पुरस्कार ‘माणक अलंकरण’ प्राप्त करने वाली राज्य की सबसे कम आयु की प्रथम महिला हैं. उन्हें वर्ष 2001 में 'नारी शक्ति अवार्ड' से सम्मानित किया गया. इंदौरिया को 'पन्नाधाय पत्रकारिता पुरस्कार और रतन ज्योत पुरस्कार भी मिल चुके हैं. वहीं जनसम्पर्क क्षेत्र में विशिष्ट योगदान के लिए 'इन्दिरा गांधी प्रियदर्शिनी राष्ट्रीय एकता पुरस्कार’ से भी नवाजा जा चुका है.

 

आधुनिक युग की यह एकलव्य सरकार से मांग रही है एक अदद रायफल, यहां पढ़ें क्यों ? 

 

जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में लगे 'हमको चाहिए आजादी' के नारे, मचा हड़कंप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 26, 2020, 8:20 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर