अपना शहर चुनें

States

Jaipur News: CWC मीटिंग में अशोक गहलोत ने दिखाए तेवर, असंतुष्ट नेताओं से कहा- क्या पार्टी नेतृत्व पर भरोसा नहीं

कांग्रेस वर्किंग कमेटी की मीटिंग में अशोक गहलोत ने दिखाए 
आक्रामक तेवर दिखाए.
कांग्रेस वर्किंग कमेटी की मीटिंग में अशोक गहलोत ने दिखाए आक्रामक तेवर दिखाए.

कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) की बैठक शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई, जिसमें राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) और वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा के बीच बहस होने की खबर है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 22, 2021, 10:11 PM IST
  • Share this:
जयपुर. कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) की बैठक शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई. इसमें राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) और कांग्रेस के बड़े नेता आनंद शर्मा के बीच बहस होने की खबर है. अशोक गहलोत ने असंतुष्ट नेताओं पर आक्रामक होते हुए कहा कि जो नेता बार-बार चुनाव की मांग कर रहे हैं, क्या उन्हें पार्टी नेतृत्व पर भरोसा नहीं है, वहीं आनंद शर्मा ने CWC सदस्यों का चुनाव करवाने की मांग उठाई.

गहलोत ने तल्ख तेवर दिखाते हुए कहा कि आज कई नेता चिट्ठी लिखकर सवाल उठा रहे हैं, संगठन चुनाव की मांग कर रहे हैं. आप बताइए जो महासचिव, सीडब्ल्यूसी सदस्य सहित बड़े पदों पर बैठे हैं क्या चुनाव के जरिए बैठे हैं. क्या आपको कांग्रेस अध्यक्ष पर विश्वास नहीं है जो इस तरह की बातें कर रहे हैं. आज कांग्रेस में जिन्हें बड़े पद मिले हैं वह बिना चुनाव ही मिले हैं.

गहलोत ने कहा कि अभी कोविड और किसान आंदोलन बड़ा मुद्दा है, अभी संगठन चुनाव की कोई आवश्यकता नहीं है. जो लोग कांग्रेस में संगठन चुनाव की मांग कर रहे हैं उन्हें पता है जेपी नड्डा और अमित शाह कैसे अध्यक्ष बने थे. अशोक गहलोत के निशाने पर गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा जैसे नेता थे। कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक, गहलोत के सवाल उठाने पर आनंद शर्मा सहित कुछ नेताओं ने विरोध जताया, बाद में राहुल गांधी ने मामले संभाल लिया.



बता दें CWC की बैठक में अध्यक्ष पद का चुनाव इसी साल मई में कराने का ऐलान कर दिया गया. पिछले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था. इसके बाद सोनिया गांधी को अंतरिम अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गई थी. बैठक में आज संगठन के चुनाव, किसान आंदोलन और कुछ अन्य मुद्दों पर चर्चा हुई.
वरिष्ठ नेता मधुसूधन मिस्त्री की अध्यक्षता वाले केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण ने कांग्रेस अध्यक्ष समेत संगठन का चुनाव तमिलनाडु, केरल, पश्चिम बंगाल, असम और पुडुचेरी के विधानसभा चुनाव के बाद मई में कराने का प्रस्ताव रखा गया. चुनाव प्राधिकरण ने 29 मई को अधिवेशन कराए जाने की भी पेशकश की है. सीडब्ल्यूसी चुनाव प्राधिकरण के प्रस्ताव पर चर्चा कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज