जयपुर: स्कूली सिलेबस में शामिल होगा 'निरोगी राजस्थान', सरकार करवाएगी डिजिटल हैल्थ सर्वे
Jaipur News in Hindi

जयपुर: स्कूली सिलेबस में शामिल होगा 'निरोगी राजस्थान', सरकार करवाएगी डिजिटल हैल्थ सर्वे
अशोक गहलोत (फाइल फोटो)

निरोगी राजस्थान कार्यक्रम (Nirogi Rajasthan) अब स्कूली सिलेबस (School syllabus) का हिस्सा बनेगा. प्रदेश में बच्चे अब स्कूलों में निरोगी रहने का पाठ पढ़ेंगे. वहीं राज्य सरकार प्रदेश के सभी नागरिकों का डिजिटल हैल्थ सर्वे करवाएगी, जिससे हर व्यक्ति के स्वास्थ्य की जानकारी उपलब्ध होगी.

  • Share this:
जयपुर. निरोगी राजस्थान कार्यक्रम (Nirogi Rajasthan) अब स्कूली सिलेबस (School syllabus) का हिस्सा बनेगा. प्रदेश में बच्चे अब स्कूलों में निरोगी रहने का पाठ पढ़ेंगे. सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने शुक्रवार को सीएमओ में स्वास्थ्य विभाग (Health Department) की समीक्षा बैठक (Review meeting) में निरोगी राजस्थान को सिलेबस का हिस्सा बनाने के निर्देश दिए हैं. बैठक में सीएम ने निरोगी राजस्थान और नए मेडिकल कॉलेजों की प्रगति का रिव्यू भी किया.

निरोगी हैल्पलाइन शुरू करने के निर्देश
सीएम ने कहा कि पहली बार किसी राज्य सरकार ने प्रिवेंटिव हैल्थ का इतना बड़ा कार्यक्रम शुरू किया है जो प्रदेशभर के लोगों को फिट रहने और उचित उपचार के लिए प्रेरित करेगा. सीएम ने इसके लिए जल्द ही एक निरोगी हैल्पलाइन शुरू करने के निर्देश दिए ताकि उस पर लोगों को स्वास्थ्य संबंधी परामर्श आसानी से मिल सके. सीएम ने कहा कि अभियान के तहत राज्य सरकार प्रदेश के सभी नागरिकों का डिजिटल हैल्थ सर्वे करवाएगी, जिससे हर व्यक्ति के स्वास्थ्य की जानकारी उपलब्ध होगी.

ज्यादा से ज्यादा जनता क्लिनिक खोले जाएं



एएनएम एवं आशा सहयोगिनियों के जरिए किया जाने वाला यह सर्वे प्रदेशवासियों को निरोगी बनाने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम होगा. गहलोत ने कहा कि लोगों को उनके घर के पास ही स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाने के लिए भामाशाहों, एनजीओ और विधायक कोष के सहयोग से जनता क्लिनिक खोले जाएं. मुख्यमंत्री ने नए मेडिकल कॉलेजों की स्थापना की समीक्षा करते हुए कहा कि इनके टेंडर, डिजाइन और अन्य प्रक्रियाओं को जल्द से जल्द पूरा कर सितंबर माह से पहले इनका निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाए.



अनियमितताओं की शिकायतों को लेकर गंभीर हुए सीएम
सीएम ने भरतपुर और चूरू के मेडिकल कॉलेज एवं और हॉस्पिटल भवन के घटिया निर्माण के साथ अनियमितताओं की शिकायतों को गंभीरता से लिया. उन्होंने निर्देश दिए कि दोनों मेडिकल कॉलेजों के निर्माण में गड़बड़ियों की विशेषज्ञों से जांच करवाई जाए. इसमें जो भी दोषी पाया जाएगा, उसे बख्शा नहीं जाएगा. उन्होंने कहा कि जनता की गाढ़ी कमाई के पैसों से तैयार होने वाले भवनों में किसी तरह की गड़बड़ी को सरकार बर्दाश्त नहीं करेगी.

 

अजमेर उर्स के लिए 6 और स्पेशल ट्रेनों की घोषणा, यहां देखें ट्रेनों का शिड्यूल

 

जयपुर में फिर शुरू होगा 'फ्लाइंग क्लब', आसमान में उड़ान भर सकेंगे 'युवा'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading