Jaipur : सीसीटीवी लगाने के आदेश का पालन न करने पर पुलिस ने किया मामला दर्ज

जयपुर में 25 जनवरी को पुलिस कमिश्नरेट ने विभिन्न संस्थानों को सीसीटीवी लगाने का आदेश दिया था. (सांकेतिक फोटो)

जयपुर शहर में लगे सभी सीसीटीवी कैमरे को पुलिस अपने मैप पर दर्ज कर रही है. ताकि कभी कोई आपराधिक घटना हो तो अपराधियों के बारे में जल्द पता लगाया जा सके.

  • Share this:
    जयपुर. जयपुर (Jaipur) में पुलिस कमिश्नरेट ने उन दुकानदारों पर कार्रवाई करनी शुरू कर दी है, जिन्होंने सीसीटीवी (CCTV) लगवाने के आदेशों का पालन नहीं किया. इसी के तहत जयपुर पुलिस (Jaipur Police) ने दो दुकान संचालकों के खिलाफ पहली बार मामला दर्ज (FIR) किया है. चोरी, लूट, डकैती और अन्य अपराधों पर अकुंश लगाने के इरादे से 25 जनवरी को पुलिस कमिश्नरेट ने विभिन्न संस्थानों को सीसीटीवी लगाने का आदेश दिया था.

    सीसीटीवी कैमरे लगवाने यह है मकसद

    राजधानी जयपुर की बजाज नगर थाना पुलिस ने दो दुकान संचालकों के खिलाफ धारा 188 में मामला दर्ज किया है. मामला सीसीटीवी नहीं लगवाने का है. दरअसल अपराध नियंत्रण के लिए 25 जनवरी को एडिशनल पुलिस कमिश्ननर ने धारा 144 के तहत शहर के विभिन्न वित्तीय, वाणिज्यिक, व्यापारिक, व्यावयासिक संस्थानों जैसे बैंक, एटीएम, प्राइवेट लॉकर्स कंपनी, ज्वेलरी शॉप, पेट्रोल पंप, मॉल्स, होटल्स, सिनेमा हॉल, शराब की दुकानों, मल्टीस्टोरिज सोसायटी, गेस्ट हाउस, धर्मशाला, बार-पब वालों को परिसर और बाहर सीसीटीवी लगवाने का आदेश दिया था. मकसद था चोरी, लूट डकैती समेत अन्य अपराधों को कंट्रोल करना. लेकिन सीसीटीवी नहीं लगवाने पर पुलिस ने आदेशों की अवेहलना करने वालों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है. पहली बार शराब दुकान के एक संचालक और हार्डवेयर दुकान संचालक के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज किया है.

    शहर में लगे कैमरे को पुलिस दर्ज कर रही अपने मैप में

    हालांकि इन आदेशों के बाद जयपुर शहर में विभिन्न संस्थानों द्वारा 4 हजार से अधिक सीसीटीवी लगाए जा चुके हैं. पुलिस का तर्क है कि कई बार वारदात होने के बाद अपराधियों का सुराग लगने में देरी होती है. ऐसे में सीसीटीवी होने से अपराधियों के बारे में जल्द पता चल सकता है. जयपुर शहर में लगे सभी सीसीटीवी कैमरे को पुलिस अपने मैप पर दर्ज कर रही है. ताकि कभी कोई आपराधिक घटना होती है, तो तुरंत सीसीटीवी के जरिए अपराधियों के बारे में जल्द पता लगाया जा सके.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.