लाइव टीवी

राजस्थान: को-ऑपरेटिव सोसायटियों के खिलाफ 55 हजार शिकायतें, अब शिकंजा कसने की तैयारी

Dinesh Sharma | News18 Rajasthan
Updated: January 12, 2020, 12:19 PM IST
राजस्थान: को-ऑपरेटिव सोसायटियों के खिलाफ 55 हजार शिकायतें, अब शिकंजा कसने की तैयारी
इन सोसायटियों पर कार्रवाई को लेकर जल्द ही सहकारिता रजिस्ट्रार नीरज के. पवन एक मीटिंग भी लेंगे.

आम लोगों की मेहनत की कमाई डकारने वाली मल्टी स्टेट क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटियों (Multi State Credit Co-operative Societies) पर अब सख्त कार्रवाई (Strict action) की तैयारी की जा रही है. सेन्ट्रल रजिस्ट्रार के यहां पंजीकृत होने वाली इन सोसायटियों पर कार्रवाई के लिए प्रदेश के सहकारिता रजिस्ट्रार नीरज के. पवन (Neeraj K. Pawan) ने पत्र लिखे हैं.

  • Share this:
जयपुर. आम लोगों की मेहनत की कमाई डकारने वाली मल्टी स्टेट क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटियों (Multi State Credit Co-operative Societies) पर अब सख्त कार्रवाई (Strict action) की तैयारी की जा रही है. इनके खिलाफ अभी तक 55 हजार शिकायतें (Complaints) मिल चुकी हैं. सेन्ट्रल रजिस्ट्रार के यहां पंजीकृत होने वाली इन सोसायटियों पर कार्रवाई के लिए प्रदेश के सहकारिता रजिस्ट्रार नीरज के. पवन (Neeraj K. Pawan) ने पत्र लिखे हैं. हाल ही में सेन्ट्रल रजिस्ट्रार के साथ सहकारिता रजिस्ट्रार (Registrar of Co-operatives) की मीटिंग भी हो चुकी है, जिसमें इन सोसायटियों पर कड़ी कार्रवाई पर सहमति (Consent) बनी है. सहकारिता रजिस्ट्रार ने केन्द्रीय रजिस्ट्रार को कार्रवाई के लिए अलग-अलग पत्र लिखे हैं.

13 मल्टी स्टेट सोसायटियों का रिकॉर्ड मांगा
इन पत्रों में फर्जीवाड़ा करने वाली 13 मल्टी स्टेट सोसायटियों का रिकॉर्ड मांगा गया है. इनके पदाधिकारियों, बैंक खातों और सम्पत्तियों की केन्द्र से जानकारी मांगी गई है. इन सोसायटियों के खिलाफ अभी तक 55 हजार शिकायतें मिल चुकी हैं. पत्रों में सोसायटियों पर कार्रवाई के लिए स्पेशल टीम गठित कर राजस्थान भेजने का आग्रह किया गया है. इनमें से नवजीवन, संजीवनी और सर्वोदय मल्टी सोसायटी में लिक्विडेटर नियुक्त करने का भी आग्रह किया गया है.

एक और सोसायटी का फर्जीवाड़ा आया सामने

वहीं प्रदेश में एक ओर मल्टी स्टेट क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी का फर्जीवाड़ा सामने आया है. अजमेर में कार्य कर रही रूबी क्रेडिट कॉपरेटिव सोसायटी के खिलाफ जमा राशि और ब्याज नहीं लौटाने की शिकायतें निवेशकों ने की है. उसके बाद सहकारिता रजिस्ट्रार ने अजमेर कलक्टर और एसपी को कार्रवाई के लिए कहा है. वहीं केन्द्रीय रजिस्ट्रार से भी इस सोसायटी में अवसायक नियुक्त करने का आग्रह किया गया है. प्रदेश में आम लोगों को राहत देने की इस कवायद को केन्द्रीय रजिस्ट्रार ने भी काफी सराहा है और उम्मीद जताई है की दूसरे राज्य भी इस तरह की व्यवस्था करेंगे.

कार्रवाई को लेकर होगी मीटिंग
इन सोसायटियों पर कार्रवाई को लेकर जल्द ही सहकारिता रजिस्ट्रार एक मीटिंग भी लेंगे. इस मीटिंग को लेकर सभी अतिरिक्त रजिस्ट्रार को 20 जनवरी से पहले शिकायतों, सम्पत्तियों और निरीक्षण आदि की जानकारी भेजने को कहा गया है. रजिस्ट्रार ने मल्टी स्टेट क्रेडिट कॉपरेटिव सोसायटियों के साथ ही राज्य में पंजीकृत क्रेडिट सोसायटियों से संबधित सूचनाएं भी मांगी हैं. 

टिड्डी प्रभावित किसानों के जख्मों पर सरकारी मलहम, मुआवजा देने के निर्देश

पंचायत चुनाव-2020: घर में सरपंची लाने के लिए दो सगे भाई आमने-सामने डटे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 12, 2020, 12:17 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर