राजस्थान की गहलोत सरकार ने CAA, NRC और NPR के खिलाफ पास किया संकल्प
Jaipur News in Hindi

राजस्थान की गहलोत सरकार ने CAA, NRC और NPR के खिलाफ पास किया संकल्प
सदन में संकल्प को संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल ने पेश किया.

राजस्थान विधानसभा (Rajasthan Legislative Assembly) में CAA, NRC और NPR तीनों के खिलाफ शनिवार को संकल्प पारित (Resolution passed) कर दिया गया है. सदन में विपक्षी बीजेपी विधायकों (BJP MLAs) ने संकल्प पर कड़ा विरोध (Protest) जताया.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान विधानसभा (Rajasthan Legislative Assembly) में CAA, NRC और NPR तीनों के खिलाफ शनिवार को संकल्प पारित (Resolution passed) कर दिया गया है. सदन में विपक्षी दल बीजेपी के विधायकों (BJP MLAs) ने संकल्प पर कड़ा विरोध (Protest) जताया, लेकिन कांग्रेस सरकार के संख्या बल के आगे उनका विरोध काम नहीं आ पाया. संकल्प को लेकर सदन में जोरदार बहस (Heated discussion) हुई. CAA, NRC और NPR इन तीनों के खिलाफ संकल्प पारित करने वाला राजस्थान देश का पहला राज्य बन गया है. अब तक केरल (Kerala) और पंजाब (Punjab) विधानसभा में सीएए के खिलाफ ही प्रस्ताव पारित हुआ है.

संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल ने पेश किया संकल्प
सदन में संकल्प को संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल ने पेश किया. संकल्प को पेश करते ही बीजेपी विधायकों ने इस पर कड़ी आपत्ति जताई. नाराज विधायकों ने वेल में आकर नारेबाजी शुरू कर दी. उसके बाद इस पर बहस शुरू हुई. लंबी बहस के बाद संकल्प पारित कर दिया गया. संकल्प पारित होने के बाद विधानसभा की कार्यवाही को 10 फरवरी तक के लिए स्थगित कर दिया गया.

संकल्प के ये है मुख्य बिन्दु
- सीएए से देश की एकता और अखंडता को खतरा है.


- सीएए संविधान की मूल भावना का उल्लंघन करता है.
- देश के एक बड़े वर्ग में इसको लेकर आशंका है.
- एनआरसी और एनपीआर की प्रस्तावना एक ही है.
- यह संविधान के अनुच्छेद 14 का उल्लंघन है.
- एनपीआर के नए प्रावधानों को वापस लेने के बाद ही जनगणना हो.
- सीएए का लक्ष्य धर्म के आधार पर अवैध प्रवासियों में विभेद करना है.
- देश के संविधान में यह स्पष्ट कथन है कि भारत एक पंथ निरेपक्ष देश हैं.
- यह संविधान की आधारभूत विशेषता है और इसे बदला नहीं जा सकता.
- सीएए का लक्ष्य धर्म के आधार पर अवैध प्रवासियों में विभेद करना है.
- धर्म के आधार पर ऐसा विभेद संविधान के प्रतिष्ठित पंथ निरपेक्ष आदर्शों के अनुरूप नहीं है.

जयपुर: सदन में CAA, NRC और NPR के खिलाफ संकल्प पेश, ये हैं मुख्य बिन्दु

सुप्रीम कोर्ट के आदेश से प्रभावित सभी पंचायतों में फिर से निकाली जाएगी लॉटरी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज