लाइव टीवी

जम्मू-कश्मीर में शहीद हुए राजीव सिंह शेखावत, दोस्तों से किया था अगले साल रिटायरमेंट पर पार्टी देने का वादा
Jaipur News in Hindi

Babulal Dhayal | News18 Rajasthan
Updated: February 9, 2020, 5:22 PM IST
जम्मू-कश्मीर में शहीद हुए राजीव सिंह शेखावत, दोस्तों से किया था अगले साल रिटायरमेंट पर पार्टी देने का वादा
शहीद के सहपाठी भगवत सिंह बताते हैं कि वो कमाल का बंदा था. इतना जुनूनी इंसान हमने हमारे जीवन में कभी नहीं देखा. (File Photo)

जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) के पुंछ सेक्टर में पाकिस्तान (Pakistan) की नापाक गोलाबारी में शहीद हुए भारतीय सेना (Indian Army) के जाबांज राजीव सिंह शेखावत (Rajeev Singh Shekhawat) अगले साल रिटायर (Retire) होने वाले थे.

  • Share this:
जयपुर. जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) के पुंछ सेक्टर में पाकिस्तान (Pakistan) की गोलाबारी में शहीद हुए भारतीय सेना (Indian Army) के जाबांज राजीव सिंह शेखावत (Rajeev Singh Shekhawat) अगले साल रिटायर (Retire) होने वाले थे. वे हाल ही में जनवरी माह में परिवार के साथ छुट्टियां मनाकर वापस ड्यूटी (Duty) पर लौटे थे. जाते समय दोस्तों से वादा करके गए थे कि अगले साल रिटायरमेंट की वो सबको जोरदार पार्टी देंगे. रविवार को जैसे ही राजीव सिंह की शहादत (Martyrdom) की खबर उनके पैतृक गांव में लुहाकणां खुर्द (Luhakanan Khurd) पहुंची तो शोक की लहर दौड़ गई. राजीव सिंह की शहादत की खबर सुनकर जयपुर ग्रामीण सांसद कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ (Colonel Rajyavardhan Singh Rathore) उनके घर पहुंचे और परिजनों से मिलकर उनको ढांढस बंधाया. शहीद का अंतिम संस्कार सोमवार को पूरे सैन्य सम्मान के साथ उनके पैतृक गांव में होगा.

सेना में 17 साल पूरे कर चुके थे
जयपुर जिले के विराट नगर इलाके के लुहाकणां खुर्द गांव निवासी राजीव सिंह सेना में 17 साल पूरे कर चुके थे. राजीव सिंह की शहादत की खबर के बाद परिजनों की आंखों से आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे हैं. राजीव गांव में सबकी आंख का तारा थे. वे जब भी ड्यूटी से आते थे तो बच्चों के संग क्रिकेट और फुटबॉल के मैच आयोजित करवाते थे. सबके घर रामा श्यामा करने जाते थे. राजीव का परिवार भले ही जयपुर में रहता है, लेकिन उनका मन हमेशा गांव में ही रहा. इस बार भी जब वे छुट्टी आये तो गांव में सबसे मिलकर गये.

शहीद के पिता भी सेना से रिटायर्ड हैं

शहीद की पत्नी उषा देवी गृहिणी हैं. बेटा अधिराज सिंह महज 10 साल का है. शहीद के पिता शंकर सिंह भी सेना से रिटायर हैं. शहीद की मां को जबसे बेटे के शहादत की खबर मिली है वो बेसुध हैं. शहीद के सहपाठी भगवत सिंह बताते हैं कि वो कमाल का बंदा था. इतना जुनूनी इंसान हमने हमारे जीवन में कभी नहीं देखा. पिछले महीने श्रीगंगानगर से उसकी यूनिट जब कश्मीर रवाना हो रही थी तो हम सबसे मिलकर गया था. जल्द लौटने का वादा भी किया था, लेकिन अब उनकी पार्थिव देह आएगी. बकौल भगवत हमें फख्र है कि वो देश के काम आया. हमारा राजीव देश के लिए वीरगति को प्राप्त हुआ.

जयपुर: जम्मू-कश्मीर में शहीद हुए राजवीर सिंह शेखावत अगले साल रिटायर होने वाले थे Jaipur: Rajvir Singh Shekhawat, who was martyred in Jammu and Kashmir, was to retire next year
शहीद के परिजनों को ढांढस बंधाते जयपुर ग्रामीण के सांसद कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़.


राजपूत बहुल लुहाकणां खुर्द गांव में एक से बढ़कर एक अफसरलुहाकणां खुर्द गांव में सेना में जाने का जुनून है. यहां के जापान सिंह ब्रिगेडियर से तो रामप्रताप सिंह भी कर्नल पद से रिटायर्ड हैं. वर्तमान में भी करीब 125 जवान चीन और पाकिस्तान से सटी सीमा पर भारत माता की रक्षा कर रहे हैं. उनमें से एक राजीव सिंह शेखावत भी थे. शहीद राजीव सिंह की पार्थिव देह रविवार देर शाम तक पहुंचने की संभावना है. शहीद का अंतिम संस्कार सोमवार को पूरे सैन्य सम्मान के साथ उनके पैतृक गांव में होगा. रात को पार्थिव देह को प्रागपुरा में रखा जाएगा.

 

राजस्थान का एक और वीर सपूत राजीव सिंह शेखावत जम्मू-कश्मीर में हुआ शहीद

 

 

विधानसभाध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी ने कहा- CAA को राज्य सरकारों को लागू करना पड़ेगा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 9, 2020, 4:24 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर