लाइव टीवी

जयपुर: सौर ऊर्जा से रोशन होंगी प्रदेश की कृषि मंडियां, सीएम गहलोत ने दी मंजूरी
Jaipur News in Hindi

Goverdhan Chaudhary | News18 Rajasthan
Updated: February 4, 2020, 6:59 PM IST
जयपुर: सौर ऊर्जा से रोशन होंगी प्रदेश की कृषि मंडियां, सीएम गहलोत ने दी मंजूरी
जयपुर की मुहाना फल-सब्जी मंडी में कचरा संयंत्र स्थापित किया जाएगा.

प्रदेश की कृषि उपज मंडियां (Agricultural produce markets) और उप मंडियां जल्द ही सौर ऊर्जा (Solar energy) से रोशन होंगी. इसके साथ ही जयपुर (Jaipur) में मुहाना स्थित फल सब्जी मंडी प्रांगण का कायाकल्प भी होगा.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश की कृषि उपज मंडियां (Agricultural produce markets) और उप मंडियां जल्द ही सौर ऊर्जा (Solar energy) से रोशन होंगी. इसके साथ ही जयपुर (Jaipur) में मुहाना स्थित फल सब्जी मंडी प्रांगण का कायाकल्प भी होगा. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ( CM Ashok Gehlot) ने विभिन्न मण्डियों में सौर ऊर्जा संयंत्र लगाने की योजना और मुहाना मंडी में कचरा संयंत्र स्थापित करने को मंजूरी दी है.

यह प्रक्रिया अपनाई जाएगी
कृषि विपणन विभाग के प्रस्ताव के अनुसार जिन कृषि मंडियों और उप मंडियों के पास सोलर प्लांट की स्थापना के लिए पर्याप्त बजट उपलब्ध है वहां केपेक्स मोड के माध्यम से संयंत्र लगाए जाएंगे. इस प्रक्रिया में विभिन्न बैंकों से संयंत्र की लागत राशि पर 70 से 80 प्रतिशत तक ऋण प्राप्त किया जा सकता है. प्रस्ताव के अनुसार जिन मंडी समितियों के पास बजट उपलब्ध नहीं है वहां सोलर प्लांट की स्थापना का काम रेस्को मोड से होगा.

वित्तीय और प्रशासनिक स्वीकृति जारी

इन संयंत्रों की स्थापना के लिए 12.32 करोड़ रूपए के प्रस्ताव के लिए वित्तीय और प्रशासनिक स्वीकृति भी जारी कर दी गई है. उल्लेखनीय है कि विभिन्न कृषि उपज मंडी समितियां अपने प्रागंणों में सौर ऊर्जा संयंत्र लगाने के लिए पहले ही प्रस्ताव भेज चुकी है. इस निर्णय से इन संयंत्रों की स्थापना जल्द होगी और मंडियों में उपभोक्ताओं को सस्ती बिजली उपलब्ध हो सकेगी.

मुहाना फल सब्जी मंडी में कचरा संयंत्र लगेगा
मुख्यमंत्री ने राजधानी जयपुर की मुहाना फल-सब्जी मंडी में ठोस कचरा प्रबन्धन के लिए 33.37 करोड़ रूपये की लागत से कचरा संयंत्र की स्थापना, संचालन और रखरखाव के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी है. इस संयंत्र के लिए यार्ड मद व सड़क मद में उपलब्ध बचत राशि का उपयोग किया जा सकेगा. इस संयंत्र की स्थापना के बाद में मुहाना मंडी में ही भारी मात्रा में उपलब्ध ठोस कचरे का निस्तारण कर कम्पोस्ट बनाया जा सकेगा वहीं मंडी परिसर भी साफ-सुथरा रहेगा. 

HC ने सरकार से पूछा-बदली हुई परिस्थितियों में पुन: लॉटरी की जरुरत क्यों पड़ी ?

 

ऑनलाइन सिस्टम ने किया कमाल: 8 लाख नए किसान ऋण योजना से जुड़े, अपात्र हुए बाहर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2020, 6:52 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर