लाइव टीवी

देश में आने वाला हर चौथा टूरिस्ट यहां जरूर आता है, पिछले वर्ष यहां पर्यटकों ने 34 करोड़ रुपए के टिकट खरीदे
Jaipur News in Hindi

Arbaz ahmed | News18 Rajasthan
Updated: February 13, 2020, 7:25 PM IST
देश में आने वाला हर चौथा टूरिस्ट यहां जरूर आता है, पिछले वर्ष यहां पर्यटकों ने 34 करोड़ रुपए के टिकट खरीदे
जयपुर सिटी को हाल ही वर्ल्ड हेरिटेज लिस्ट में शामिल किया गया है.

जयपुर (Jaipur) में पर्यटन और पर्यटकों की आवाजाही का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि अकेले आमेर फोर्ट (Amer Fort) में 34 करोड़ रुपए से ज्यादा के सिर्फ टिकट आमद है, जो कि अगले साल 40 करोड़ के पार होने की उम्मीद है.

  • Share this:
जयपुर. पर्यटन राजस्थान (Rajasthan) के लिए एक ऐसा शब्द है, जो जयपुर (Jaipur) की रग-रग में बसा है. देश में पर्यटन के मामले में राजस्थान का बहुत अहम मुकाम है, प्रदेश की राजधानी जयपुर देश के गाेल्डन ट्रायंगल का हिस्सा है. यहां पर्यटन एक जीवन रेखा के रूप में देखा जाता है. राजधानी में अकेले आमेर में 34 करोड़ रुपए से ज़्यादा के सिर्फ टिकट आमद है. जो कि अगले साल 40 करोड़ के पार होने की उम्मीद है. चाहे हम यहां के हेरिटेज पर्यटन की बात करें. धार्मिक पर्यटन की बात करें या फिर नेचर पर्यटन की बात हों. प्रदेश के सबसे खास टूरिज़्म स्पॉट जयपुर में हैं और यहां पर्यटकों की संख्या सबसे ज्यादा रहती है. जयपुर के वर्ल्ड हेरिटेज सिटी बनने के बाद जयपुर में पर्यटकों की आमद में और इज़ाफ़ा होगा. पर्यटक देसी हो या विदेशी वो अगर भारत आ रहे हैं, तो जयपुर उनकी विश लिस्ट में शामिल होता है. पहले जंतर मंतर और आमेर के यूनेस्को विश्व विरासत स्थल में शामिल होने से पर्यटकों में और उनसे होने वाली आमदनी में काफी इजाफा हुआ है. पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह के मुताबिक जयपुर वॉल सिटी के विश्व विरासत सूची में शामिल होने के बाद अब इसमें और इजाफा होना तय है.

जयपुर टूरिस्ट पसंदीदा शहर है. भारत आने वाले कुल पर्यटकों में से हर साल 25 फीसदी पर्यटक जयपुर जरूर आते हैं. जयपुर को पसंद किए जाने के कई अहम कारण हैं, इनमें जयपुर की हेरिटेज इमेज और इसका गोल्डन ट्रायंगल में शामिल होना भी है.


amer fort, jaipur
जयपुर का आमेर फोर्ट पर्यटकों की पसंदीदा जगह है.(GettyImages)


पर्यटन सचिव श्रेय गुहा के मुताबिक यहां जंतर मंतर, आमेर, अल्बर्ट हॉल, सिटी पैलेस, जंतर मंतर हवामहल अल्बर्ट हॉल जैसे स्थापत्य कला के बेजोड़ नमूने भी मौजूद हैं. गुलाबी नगरी में मौजूद ये वो खास इमारतें हैं जो दुनियां के कोने-कोने से पर्यटकों को यहां खींच लाती हैं.

जयपुर में देसी और विदेश पर्यटकों का आगमन साल दर साल

Jaipur, world heritage city
राजस्थान में पिछले साल देसी पर्यटकों को संख्या पांच करोड़ 2 लाख 36 हजार थी.


पर्यटकों का आकर्षण का केंद्र आमेर फोर्टराजस्थान की तुलना में जयपुर के आमेर में पर्यटक आगमन का आंकड़ा इसकी प्रसिद्धी की कहानी कहता है. आमेर इसलिए क्योंकि आमेर पर्यटन आगमन का औसत पैमाना माना जाता है. आमेर महल अधीक्षक पंकज धरेंद्र कहते हैं कि जयपुर के पर्यटन में सबसे अहम योगदान आमेर का ही है.

Jaipur, world heritage city
आमेर में पिछले साल करीब 17 लाख देसी और पांच लाख विदेशी पर्यटक आए


विदेशी पर्यटकों के टिकट से 34 करोड़ 73 लाख की आमदनी
हालांकि राजस्थान में पर्यटन पर एक नजर डाली जाए तो सरकारी आंकड़ों के मुताबिक राजस्थान में पर्यटन पिछले साल काफी इजाफ हुआ है. वर्ष 2018-19 के पर्यटक स्वागत केंद्र, सूचना केंद्र और पुलिस विभाग के आंकड़ों पर अगर गौर करें  तो राजस्थान में पिछले साल देसी पर्यटकों को संख्या पांच करोड़ 2 लाख 36 हजार थी.  विदेशी पर्यटकों पर अगर नजर डालें इनकी संख्या 17 लाख 54 हजार थी, लेकिन विदेशी और देसी पर्यटक दोनों के मामले में राजस्थान में सबसे पर्यटकों की संख्या जयपुर में  रही है. आमेर में पिछले साल करीब 17 लाख देसी और पांच लाख विदेशी पर्यटक आए और इनके टिकट से ही 34 करोड़ 73 लाख की आमदनी हुई, आमेर के अलावा अन्य मोन्यूमेंट्स की कमाई इसमें शामिल नहीं है.

Jaipur, world heritage city
आमेर में पिछले साल करीब 17 लाख देसी और पांच लाख विदेशी पर्यटक आए.


जयपुर क्यों बना हुआ है पसंदीदा डेस्टिनेशन
जयपुर के लिए पर्यटकों की खास इनायत की वजहों पर अगर गौर करें तो जयपुर की इमेज देश उन सुकून पसंद अमन चैन और बेहतर लॉ एंड ऑर्डर वाले शहरों में शुमार है इस तरह के मामलों को लेकर अपना टूरिजम स्पॉट चुनने से पहले विदेशी पर्यटक काफी संवेदनशील होते हैं. सुरक्षा और बेहतर माहौल का मसला हल होने के बाद न सिर्फ शहर में मौजूद हेरिटेज इमारतें बल्की गुलाबी चारदीवारी के रूप में पूरे शहर की हेरिटेज इमेज लोगों को काफी पसंद आती है. शहर में प्रदेश का कलचर आसानी से देखने को मिलता है. यहां नाइट टूरिज़्म, पिंकसिटी बाय नाइट जैसे टूर लाइट एंड साउंड शो और शहर में शुरू किये गए बायोलॉजिकल पार्क और झालाना लेपर्ड जैसे अट्रेक्शन नेचर लवर्स को भी यहां अट्रेक्ट कर रहे हैं. शहर आने के लिए कनेक्टिविटी बेहतरीन है. दिल्ली से सबसे नजदीक होने के साथ ही जयपुर में आने के लिए रोड, रेल्वे और हवाई रूट बहुत कंफर्ट हैं.

hawamaha, jaipur
जयपुर का हवामहल भी मुख्य पर्यटन स्थलों में से एक है. (GettyImages)


ये भी पढ़ें- 

लड़की से छेड़खानी पर लोगों ने कांस्टेबल का मुंह किया काला

Jaipur Today: राजस्थान यूनिवर्सिटी में आज से 'घूमर', JKK में 'आरोपी हाजिर हो'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 13, 2020, 7:21 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर