राजस्थान में शुद्ध के लिए युद्ध अभियान से त्योहारी सीजन पर रूकेगी मिलावटखोरी!

त्योहारों के सीजन में बाजारों में अक्सर नकली और मिलवाटी खाद्य सामाग्री की भरमार हो जाती है (प्रतीकात्मक तस्वीर)

त्योहारों के सीजन में बाजारों में अक्सर नकली और मिलवाटी खाद्य सामाग्री की भरमार हो जाती है (प्रतीकात्मक तस्वीर)

होली (Holi) के त्योहार को देखते हुए खाद्य सुरक्षा आयुक्त द्वारा प्रदेशभर में शुद्ध के लिए युद्ध अभियान का आगाज किया गया है. 28 मार्च तक चलने वाले इस अभियान के तहत सभी खाद्य सुरक्षा अधिकारियों को मिलावटी (Adulteration) खाद्य पदार्थों के खिलाफ विशेष अभियान चलाकर नूमने लेने और निरीक्षण करने के निर्देश दिए हैं

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 23, 2021, 10:57 PM IST
  • Share this:
जयपुर. त्योहारी सीजन में नकली और मिलावटी खाद्य पदार्थ आमजन की सेहत के साथ खिलवाड़ न कर सकें इसके लिए राजस्थान (Rajasthan) में शुद्ध के लिए युद्ध अभियान की शुरुआत की गई है. खाद्य सुरक्षा आयुक्त ने सभी एफएसएसओ को मिलावटखोरी (Adulteration) के विरुद्ध कार्रवाई कर खाद्य पदार्थों के नमूने (Sample) लेने के निर्देश दिए गए हैं. आदेशों का पालन नहीं करने वाले खाद्य सुरक्षा अधिकारियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई होगी.

दरअसल त्योहारों के दौरान खाद्य पदार्थों की मांग और खपत बढ़ने से बाजार में इसकी कमी हो जाती है ऐसे में ज्यादा मुनाफा के लालच में कई व्यापारी-निर्माता मिलावटी खाद्य पदार्थों की बिक्री करने लगते हैं. इस कारण से लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ होने की आशंका बनी रहती है. होली के त्योहार को देखते हुए खाद्य सुरक्षा आयुक्त द्वारा प्रदेशभर में शुद्ध के लिए युद्ध अभियान का आगाज किया गया है. 28 मार्च तक चलने वाले इस अभियान के तहत सभी खाद्य सुरक्षा अधिकारियों को मिलावटी खाद्य पदार्थों के खिलाफ विशेष अभियान चलाकर नूमने लेने और निरीक्षण करने के निर्देश दिए हैं.

खाद्य सुरक्षा आयुक्त डॉ. के.के शर्मा ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के अनुसार वर्गीकृत 34 जिलों में से 31 जिलों में खाद्य सुरक्षा अधिकारी तैनात हैं. वहीं तीन जिलों में खाद्य सुरक्षा अधिकारी के पद रिक्त हैं. ऐसे में रिक्त जगहों पर हेडक्वार्टर के अधिकारियों को भेजा गया है. सभी खाद्य सुरक्षा अधिकारियों को जरुरत पड़ने पर डेयरी, रसद विभाग और पुलिस की मदद लेने को कहा गया है. साथ ही इन्हें रोजाना रिपोर्ट भेजने के भी निर्देश दिए गए हैं. आदेशों का पालन नहीं करने पर खाद्य सुरक्षा अधिकारियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई होगी.

त्योहारों के मौसम में मिलावट का खेल पुराना है. बाजार में खाद्य सामग्रियों की डिमांड बढ़ने पर मिलावटखोर नकली और मिलावटी आइटम की बिक्री करने लगते हैं. मिलावट का यह कारोबार काफी बड़ा है लेकिन उस मात्रा में कार्रवाई नहीं होने से मिलावटखोर अक्सर बच निकलते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज