लाइव टीवी

जयपुर: ACB की कार्रवाई से हिल उठा परिवहन विभाग, जद में आए ये अधिकारी रहे हैं चर्चित
Jaipur News in Hindi

News18 Rajasthan
Updated: February 17, 2020, 3:38 PM IST
जयपुर: ACB की कार्रवाई से हिल उठा परिवहन विभाग, जद में आए ये अधिकारी रहे हैं चर्चित
कार्रवाई के दौरान पहले परिवहन निरीक्षक उदयवीर सिंह को दलाल मनीष मिश्रा से 40 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा गया था.

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (Anti Corruption Bureau) की ओर से परिवहन विभाग (Transport Department) में मासिक बंधी के रूप में चल रहे घूसखोरी (Bribery) के बड़े खेल से पर्दा उठाने की कार्रवाई के बाद विभाग में जबर्दस्त हड़कंप (Stir) मचा हुआ है.

  • Share this:
जयपुर. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (Anti Corruption Bureau) की ओर से परिवहन विभाग (Transport Department) में मासिक बंधी के रूप में चल रहे घूसखोरी (Bribery) के बड़े खेल से पर्दा उठाने की कार्रवाई के बाद विभाग में जबर्दस्त हड़कंप (Stir) मचा हुआ है. गत करीब 4 महीने से एसीबी के अधिकारी परिवहन विभाग के इन अधिकारियों और दलालों (Officers and Brokers) पर पैनी नजर बनाये हुए थे. सभी शिकायतों का तकनीकी एवं मानवीय रूप से सत्यापन (Verification) होने के बाद ब्यूरो की 17 टीमों ने रविवार जब ताबड़तोड़ कार्रवाई की तो परिवहन विभाग हिल उठा. देर रात तक 1 करोड़ 20 लाख रुपए की नगदी, प्रोपर्टी और अन्य दस्तावेज बरामद किए जा चुके थे और सर्चिंग की कार्रवाई चल रही थी.

ये अधिकारी पहले भी चर्चा में रहते आए हैं
एसीबी के इस कार्रवाई की जद में आए नवीन जैन हाईकोर्ट के आदेश पर परिवहन उप निरीक्षक के रूप में कार्यरत हैं. वरिष्ठ निरीक्षक शिवरचरण मीणा भी है कई महत्वपूर्ण स्थानों पर रह चुके हैं. रतनलाल मीणा परिवहन निरीक्षक शुरू से चर्चा में रहे हैं. आलोक बुढानिया ने परिवहन उप निरीक्षक के रूप में 2016 में ज्वाइन किया था. डीटीओ मुख्यालय महेश शर्मा पूर्व में तत्कालीन परिवहन मंत्री यूनुस खान के खासमखास थे. 5 वर्ष तक डीटीओ एन्फोर्समेन्ट जयपुर के पद पर रहने के दौरान बहुत ज़्यादा शिकायतों के बाद वर्तमान मंत्री ने उनको मुख्यालय लगाया था. भरतपुर निवासी उदयवीर सिंह चौधरी ने 2013 में परिवहन विभाग में ज्वाइन किया था. तब से जयपुर-शांहजहांपुर इलाके में पोस्टिंग रही है. वर्तमान में शाहपुरा (जयपुर) डीटीओ ऑफिस में कार्यरत हैं.




ये अधिकारी आए कार्रवाई की जद में
कार्रवाई के दौरान पहले परिवहन निरीक्षक उदयवीर सिंह को दलाल मनीष मिश्रा से 40 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा गया. मनीष के पास से अन्य अधिकारियों को मासिक बंधी के तौर पर दिए जाने के लिए रखे गए 1 लाख 20 हजार रुपए भी जब्त किए गए हैं. उसके बाद कार्रवाई कर डीटीओ शाहजहांपुर गजेन्द्र सिंह, डीटीओ चौमू विनय बंसल, डीटीओ मुख्यालय महेश शर्मा, परिवहन निरीक्षक शिवचरण मीणा, उदयवीर सिंह, आलोक बुढानिया, नवीन जैन और रतनलाल को निरूद्ध कर इनके ठिकानों की सर्चिंग शुरू करवाई गई.

लेनदेन करने वाले ये दलाल आए पकड़ में

 
एसीबी ने परिवहन विभाग के अधिकारियों के अलावा गोल्ड लाइन ट्रांसपोर्ट कंपनी के जसवंत सिंह यादव, तनुश्री लॉजिस्टिक के विष्णु कुमार, ममता पत्नी योगेश कुमार उर्फ बंटी, मनीष मिश्रा समेत रणवीर, पवन उर्फ पहलवान और विष्णु कौशिक को भी निरूद्ध किया है. इनके ठिकानों की भी तलाशी ली गई है.

 

कॉर्डिनेशन कमेटी की बैठक, 40 हजार कांग्रेसियों को जल्द मिलेगा 'राजयोग'

 

पदोन्नति में आरक्षण: कांग्रेस का प्रदर्शन, गहलोत ने कहा-केंद्र की नीयत में खोट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 16, 2020, 11:26 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर