लाइव टीवी

JLF-2020: आमेर राजस्थान का 'नगीना', इसे 'आइकॉनिक टूरिज्म सेंटर' बनाया जाएगा

Arbaaz Ahmed | News18 Rajasthan
Updated: January 27, 2020, 9:23 PM IST
JLF-2020: आमेर राजस्थान का 'नगीना', इसे 'आइकॉनिक टूरिज्म सेंटर' बनाया जाएगा
पर्यटन मंत्री ने कहा कि राजस्थान के पर्यटन को लेकर लगातार उम्मीदें जताई जाती रहती हैं. यहां और नए आकर्षण दुनियाभर के पर्यटकों को देखने को मिलेंगे.

गुलाबी नगरी के डिग्गी पैलेस (Diggy Palace) में आयोजित हो रहे जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल (JLF)के आखिरी दिन सोमवार को फ्रंट लॉन में आमेर (Amer) के एक्शन प्लान को लेकर के एक बहुत ही रोचक सेशन (Interesting session) का आयोजित हुआ.

  • Share this:
जयपुर. गुलाबी नगरी के डिग्गी पैलेस (Diggy Palace) में आयोजित हो रहे जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल (JLF)के आखिरी दिन सोमवार को फ्रंट लॉन में आमेर (Amer) के एक्शन प्लान को लेकर के एक बहुत ही रोचक सेशन (Interesting session) का आयोजित हुआ. इसमें राजस्थान के पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह (Tourism Minister Vishvendra Singh) मौजूद रहे. इस दौरान उन्होंने आमेर पर लिखी गई किताब 'सीक्रेट्स ऑफ आमेर' (Secrets of Amer) को भी लांच किया.

सिंह ने रिस्पोंसिबल और सस्टेनेबल टूरिज्म को लेकर अपनी बात रखी
इस पूरे सेशन में पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने राजस्थान में रिस्पोंसिबल और सस्टेनेबल टूरिज्म को लेकर अपनी बात रखी. मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने बताया कि कैसे राजस्थान सरकार प्रदेश के पर्यटन को नई ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए वचनबद्ध है और इसके क्या-क्या नए प्रयास किए जा रहे हैं. पर्यटन मंत्री ने कहा कि राजस्थान में आमेर एक नगीने की तरह है. इसके विकास को लेकर काफी काम किया जाना है. इसे आइकॉनिक टूरिज्म सेंटर के रूप में विकसित किया जाना है. इस पर काम जारी है.

दुनियाभर के पर्यटकों को नए आकर्षण देखने को मिलेंगे

पर्यटन मंत्री ने कहा कि राजस्थान के पर्यटन को लेकर लगातार उम्मीदें जताई जाती रहती हैं. यहां और नए आकर्षण दुनियाभर के पर्यटकों को देखने को मिलेंगे. वैसे ही राजस्थान सरकार की कोशिश रहेगी कि जिस तरीके से जंतर-मंतर और जयपुर के परकोटे का नाम विश्व विरासत स्थलों की सूची में शुमार हो चुका है, वैसे ही प्रदेश के और भी मॉन्युमेंटस को इस लिस्ट में शामिल कराने के लिए प्रयास किए जाएंगे.

अंतिम दिन कई महत्वपूर्ण सेशन आयोजित हुए
जेएलएफ के अंतिम दिन कई महत्वपूर्ण सेशन आयोजित हुए. इसमें देश-दुनिया से आए सैंकड़ों लोगों ने भाग लिया. सोमवार शाम को फेस्टिवल के समापन के बाद यहां से देसी-विदेशी मेहमानों के जाने का सिलसिला शुरू हो गया. पांच दिन के दौरान यहां सैंकड़ों सेशंस में विभिन्न विषयों पर खुलकर चर्चा हुई. 

सरपंच प्रत्याशी ने प्रचार के लिए गोविंदा को बुलाया, पुलिस ने डाला रंग में भंग

 

JLF-2020: साहित्य के महाकुंभ का हुआ समापन, यादें संजोकर विदा हुए मेहमान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 27, 2020, 9:20 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर