Kisan Andolan: राजस्थान में श्रीगंगानगर और हनुमानगढ़ में भारत बंद का व्यापक असर, शेष प्रदेश में बेअसर

श्रीगंगानगर में आज बाजार 
और मंडिया पूरी तरह से बंद हैं. व्यापारिक और श्रमिक संगठनों ने भी इसे अपना समर्थन दिया है. श्रीगंगानगर में प्रदर्शन करते किसान.

श्रीगंगानगर में आज बाजार और मंडिया पूरी तरह से बंद हैं. व्यापारिक और श्रमिक संगठनों ने भी इसे अपना समर्थन दिया है. श्रीगंगानगर में प्रदर्शन करते किसान.

Impact of Bharat Bandh in Rajasthan: प्रदेश के सीमावर्ती जिलों श्रीगंगानगर और हनुमानगढ़ जिलों में बंद का व्यापक असर देखा गया है. यहां बाजार पूरी तरह से बंद है. श्रीगंगागनर में फतुही स्टेशन पर किसानों ने कब्जा कर लिया. बीकानेर जिले में बंद का आंशिक असर है.

  • Share this:
जयपुर. तीनों केन्द्रीय कृषि कानूनों (Central agricultural laws) के खिलाफ देश में चल रहे किसान आंदोलन (Kisan Andolan) को गति देने के लिये आज बुलाये गये भारत बंद (Bharat Bandh) का राजस्थान में तीन चार जिलों को छोड़कर कोई खास असर नजर नहीं आ रहा है. संयुक्त किसान मोर्चा  के आह्वान पर बुलाये गये इस बंद का प्रदेश के सीमावर्ती श्रीगंगानगर तथा हनुमानगढ़ जिले में व्यापक और बीकानेर जिले में आंशिक असर देखने को मिल रहा है.

हालांकि किसान संगठन बंद को सफल बनाने में जुटे हैं, लेकिन उनकी यह कोशिश कोई खास रंग नहीं दिखा पा रही है. संयुक्त किसान मोर्चा ने मजदूर, व्यापारी और विद्यार्थियों से भी इसमें शामिल होने का आह्वान किया है, लेकिन ये तीनों ही वर्ग में ना के बराबर सहभागिता दर्शा रहे हैं. कृषि कानूनों के विरोध में करीब 4 महीने से चल रहे किसान आन्दोलन का कांग्रेस समर्थन तो कर रही है लेकिन भारत बंद में पार्टी कोई सक्रिय भागीदारी नहीं निभा रही है. वहीं इंटक ने विरोध-प्रदर्शन सफल बनाने का आह्वान जरुर किया है.

श्रीगंगानगर में फतुही स्टेशन पर किसानों का कब्जा

श्रीगंगानगर में बंद का व्यापक असर देखा गया है. संयुक्त किसान मोर्चा के आव्हान पर आज बाजार पूरी तरह से बंद हैं. मंडिया भी बंद है. व्यापारिक और श्रमिक संगठनों ने भी इसे अपना समर्थन दिया है. श्रीगंगानगर स्टेशन पर अंबाला जाने वाली ट्रेन को किसानों ने रोक दिया. हालांकि रेलवे ने सुरक्षा के चलते ट्रेन को पहले ही रद्द कर दिया था. वहीं श्रीगंगानगर के नजदीकी फतुही स्टेशन पर भी किसानों ने कब्जा कर लिया था. श्रीगंगानगर में रोडवेज सहित अन्य वाहनों का संचालन पूरी तरह से बंद है. यहां शांति व कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिये 11 मजिस्ट्रेट तैनात किये गये हैं.
हनुमानगढ़ की मंडियों में नहीं लगाई जा रही है जिंसों की बोली

हनुमानगढ़ में जिले में बंद का व्यापक असर दिखाई दिया है. यहां आवश्यक सेवाओं को छोड़कर अधिकतर बाजार बंद हैं. जिले में कई स्थानों पर किसानों ने चक्काजाम किया है. जिले की मंडियों में जिंसों की बोली नहीं लगाई जा रही है. बंद को देखते हुये जिले में 23 पॉइंट पर 200 पुलिसकर्मी तैनात किये गये हैं. भारत बंद के तहत बीकानेर का खाजूवाला कस्बा पूरी तरह से बंद है. यहां कच्ची आढ़त व्यापार संघ ने इस बंद को समर्थन दिया है. वहीं भारत बंद के समर्थन में कृषि मंडी भी है बंद है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज