कृष्ण जन्माष्टमी: बधाई गीत गूंजे, गोविंददेव जी को दी 31 तोपों की सलामी

पूरा प्रदेश शनिवार को कृष्ण जन्माष्टमी के (Krishna Janmashtami) रंग में रंगा रहा है. कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर प्रदेशभर में सुबह से ही धार्मिक आयोजनों (Religious events) का दौर शुरू हो गया था. भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव की खुशी में कृष्ण मंदिरों को भव्य तरीकों से सजाया (grand decorations) गया था.

News18 Rajasthan
Updated: August 25, 2019, 8:19 AM IST
कृष्ण जन्माष्टमी: बधाई गीत गूंजे, गोविंददेव जी को दी 31 तोपों की सलामी
कृष्ण जन्माष्टमी पर जयपुर में गोविंददेव जी का किया पंचामृत से अभिषेक किया गया.फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।
News18 Rajasthan
Updated: August 25, 2019, 8:19 AM IST
पूरा प्रदेश शनिवार को कृष्ण जन्माष्टमी के (Krishna Janmashtami) रंग में रंगा रहा है. कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर प्रदेशभर में सुबह से ही धार्मिक आयोजनों (Religious events) का दौर शुरू हो गया था. भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव की खुशी में कृष्ण मंदिरों को भव्य तरीकों से सजाया (grand decorations) गया था. मुख्य आयोजन रात को कृष्ण जन्मोत्सव के समय हुए. राजधानी जयपुर के आराध्य देव गोविंददेवजी (Govinddev ji) के मंदिर में कृष्ण जन्मोत्सव पर उन्हें 31 तोपों की सलाम दी गई. बधाई गीत गाए गए. रंग बिरंगी आतिशबाजी की गई. गोविंददेवजी मंदिर समेत विभिन्न मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए पुलिस-प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था और यातायात के विशेष प्रबंध किए थे.

गोविंददेव जी का पंचामृत से हुआ अभिषेक
जयपुर में गोविंददेव जी मंदिर में सुबह से ही भव्य आयोजनों का दौर शुरू हो गया था. रात को 11 बजे से 11.15 मंगला आरती के बाद 12 से 1 बजे तक तिथि पूजन व अभिषेक हुआ. कृष्ण जन्मोत्सव पर गोविंददेव जी को 31 तोपों की सलामी के बीच पंचामृत से अभिषेक किया गया. गोविंददेव जी का 425 लीटर दूध, 365 किलो दही, 11 किलो घी और 85 किलो बुरे से अभिषेक हुआ. इस मौके पर पूर्व राजपरिवार की सदस्य पद्ममिनी देवी, सांसद दीया कुमारी, कांग्रेस नेता घनश्याम तिवाड़ी, पूर्व विधायक मोहनलाल गुप्ता, पूर्व मेयर ज्योति खण्डेलवाल और सांसद रामचरण बोहरा भी पूजा में शामिल हुए. जयपुर शहर का प्रमुख मंदिर होने के कारण यहां सुबह से ही श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ने शुरू हो गया था.

जोधपुर में निकली ठाकुर जी की शोभायात्रा

वहीं जोधपुर में जन्माष्टमी पर पूजा अर्चना से महोत्सव की शुरुआत हुई है. रातानाडा स्थित कृष्ण मंदिर से ठाकुर जी की शोभा यात्रा निकली गई. यात्रा में सैंकड़ों श्रद्धालुओं ने जमकर नृत्य कर ठाकुर जी की सवारी का आनंद लिया. बीकानेर में कृष्ण मंदिरों में सुबह से ही श्रद्धालुओं के आने सिलसिला रात तक लगातार जारी रहा. मंदिरों में विशेष प्रकार की झांकियां लोगों के आकर्षण का केन्द्र बनी हुई थी.

भरतपुर में 12 बजे मनाया गया कान्हा का जन्मोत्सव
भरतपुर शहर के नदिया गोपाल जी मंदिर और राधा रमण मंदिर में दोपहर को ठीक 12 बजे कान्हा का जन्मोत्सव मनाया गया. पंडितों ने वेद मंत्रों के साथ कान्हा का दूध, दही, इत्र और गंगाजल से अभिषेक किया. कृष्ण मंदिरों में महाआरती के आयोजन हुए. 11 सौ दीपों से भगवान कृष्ण की आरती उतारकर माता देवकी और यशोदा की महिमा का गुणगान किया गया.
Loading...

उदयपुर में हुआ मटकी फोड़ कार्यक्रम का भव्य आयोजन
उदयपुर शहर के प्रसिद्ध जगदीश मंदिर में विभिन्न अनुष्ठानों का आयोजन हुआ. भक्त भजन कीर्तन हुए. वहीं जगदीश चौक में रात को मटकी फोड़ कार्यक्रम का विशाल आयोजन हुआ. इसमें हजारों लोग शामिल हुए. मटकी फोड़ कार्यक्रम के दौरान विभिन्न सांस्कृतिक और देशभक्ति कार्यक्रमों का भी आयोजन किया गया. इस बार माखन से भरी मटकी को जमीन से 25 फीट की ऊंचाई पर लटकाया गया था.

जयपुर में जल्द खुलेंगे जनता क्लिनिक, 20 स्थान किए चिन्हित

गहलोत सरकार इस साल लेकर आ रही है ये 8 नई नीतियां

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 24, 2019, 6:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...