• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • शहीद की पत्नी ने बेटे के लिए खरीदा था प्लॉट, भूमाफिया ने रास्ते पर किया कब्जा

शहीद की पत्नी ने बेटे के लिए खरीदा था प्लॉट, भूमाफिया ने रास्ते पर किया कब्जा

शहीद किशन सिंह राठौड़ की पत्नी विष्णुकंवर.

शहीद किशन सिंह राठौड़ की पत्नी विष्णुकंवर.

जम्मू कश्मीर के कुलगाम में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में शहीद हुए किशन सिंह राठौड़ की पत्नी वीरांगना विष्णुकंवर की जमीन (प्लॉट) तक जाने का रास्ता भूमाफिया ने बंद कर दिया है. उसे खुलवाने के लिए वीरांगना सरकारी दफ्तरों के चक्कर काटने को मजबूर हैं.

  • Share this:
पुलवामा में शहीदों की शहादत को नमन किया जा रहा है और इस आतंकी हमले को लेकर पूरा देश एकजुट होकर कार्रवाई की मांग कर रहा है. हर व्यक्ति अपने अपने तरीके से शहीदों के परिवार को राहत देने की कोशिश कर रहा है. लेकिन इसी बीच राजस्थान की राजधानी जयपुर में एक ऐसा मामला सामने आया जिसमें शहीद का परिवार अपने हक के लिए सरकारी दफ्तरों के चक्कर काटने को विवश है. 2002 में आतंकियों से लोहा लेते हुए जम्मू कश्मीर के कुलगाम में शहीद हुए किशन सिंह राठौड़ की पत्नी ने जो प्लॉट अपने लिए खरीदा उसके रास्ते पर ही भूमाफिया कब्जा कर चुके हैं. नक्शे और दस्तावेजों में अतिक्रमण साबित करने के बाद भी शहीद वीरांगना और परिजन जिम्मेदार अधिकारियों के दफ्तर के चक्कर काट रहे हैं लेकिन कोई मददगार साबित नहीं हो रहा है.

ये भी पढ़ें- पाकिस्तानी नागरिकों को 48 घंटे में छोड़ने का आदेश

मामला राजधानी जयपुर के कालवाड़ स्थित सुरजीत नगर का है. यहां पर भूमाफिया अपने बल के प्रयोग पर दुकानें बनाने का काम कर रहे हैं. आपको बता दें कि जिस जमीन पर दुकानें बनाई जा रही हैं वहां पर जेडीए (जयपुर विकास प्राधिकरण) प्लान में 80 फीट रोड दर्शाई हुई है. अब 80 फीट रोड को ही अवैध तरीके से दुकानें बनाकर ब्लॉक किया जा रहा है. दुकानें बनाकर जिस जमीन पर जाने का रास्ता बंद किया जा रहा है वहां पर 2002 में जम्मू कश्मीर में शहीद हुए किशन सिंह राठौड़ की पत्नी ने अपने बच्चों और खुद के लिए प्लॉट खरीदा था, लेकिन भूमाफिया द्वारा अब उनके प्लॉट पर जाने के रास्ते पर दुकानें बनाई जा रही हैं. ऐसे में रास्ता ब्लॉक होने के कारण अन्दर कॉलोनियों के जाने का रास्ता भी बंद हो गया है. अब शहीद की पत्नी जेडीए और मंत्रियों के चक्कर लगा रही है लेकिन उसके बाद भी भूमाफियों का खौफ खत्म नहीं हो रहा है.

ये भी पढ़ें- खेतड़ी के शहीद श्योराम को नमन करने उमड़ा जन सैलाब, कई मंत्री भी हुए शामिल

Martyr Kishan singh rathore
जम्मू कश्मीर के कुलगाम में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में शहीद हुए किशन सिंह राठौड़


मेरे पति सीआरपीएफ में थे और 2002 में जम्मू में शहीद हुए थे. उनके बाद यह प्लॉट मैंने बच्चों के भविष्य को देखते हुए खरीदा था.
विष्णुकंवर, शहीद की पत्नी

कालवाड में पेट्रोलपंप के पास इस जमीन पर जेडीए में 80 फीड रोड दिखा रखी है और इस 80 फीट रोड पर कई लोगों ने अन्दर प्लाट ले रखे हैं. ये 80 फीट रोड कालवाड़ रोड पर जाकर मिलती है, लेकिन भूमाफिया और जमीन के सौदागरों द्वारा कालवाड़ जा रही इस रोड की जमीन पर ही दुकानें बना दी गईं.

ये भी पढ़ें- राजस्थान में 'देशद्रोही' और 'धार्मिक भावनाएं' भड़काने वाला युवक गिरफ्तार

Martyr Kishan singh rathore
रास्ते पर निर्माण कार्य.


फिलहाल मामले को लेकर स्थानीय लोगों ने भी जेडीसी, मंत्री, अधिकारियों को ज्ञापन दिया, लेकिन मामला जस का तस है. जेडीए अधिकारियों का कहना है कि मामला सामने आया है जिसके बाद काम को रुकवा दिया गया है और जांच की जा रही है, लेकिन भूमाफिया द्वारा एक दिन काम रोककर दूसरे दिन वापस शुरू करवा दिया जाता है.


ये भी पढ़ें- राजस्थान बोर्ड की किताबों में होगी पुलवामा में शहीद हुए CRPF के शहीदों की गाथा

बहरहाल, राजधानी में भूमाफियाओं का खौफ बढ़ता जा रहा है. शिकायतों के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है. साथ ही 80 फीट रोड पर कब्जा होने के कारण अब शहीद का परिवार अपने प्लॉट पर भी नहीं जा पा रहा है. शहीद की पत्नी विष्णु कंवर आस लगा कर बैठी हैं कि उनके पति की मेहनत की कमाई से लिए गए प्लॉट से उनकी यादें जुड़ी हैं. उनकी याद को वे किसी भी तरह से दूर नहीं करना चाहती.

ये भी पढ़ें- शहादत को सलाम... मरुधरा के 6 सपूत शहीद, रातभर नहीं सोया पूरा गांव

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज