मंत्री के 'गोलमोल' जवाब पर भड़के नेता प्रतिपक्ष, कहा- सदन का बना रखा है मजाक, बिना तैयारी उठकर चले आते हैं
Jaipur News in Hindi

मंत्री के 'गोलमोल' जवाब पर भड़के नेता प्रतिपक्ष, कहा- सदन का बना रखा है मजाक, बिना तैयारी उठकर चले आते हैं
मंत्री अर्जुन सिंह बामनिया के जवाब ना देने से नाराज हुए नेता प्रतिपक्ष.

राजस्‍थान विधानसभा में विपक्ष के सवालों के आगे बार-बार मंत्रियों की बोलती बंद हो रही है. जबकि इस बार जनजाति क्षेत्र विकास मंत्री अर्जुन सिंह बामनिया विपक्ष के सवाल पर घिर गए. इस पर नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया (Gulab Chand Kataria) ने कड़ी टिप्पणी की है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
जयपुर. राजस्‍थान विधानसभा (Rajasthan Legislative Assembly) में विपक्ष के सवालों के आगे बार-बार मंत्रियों की बोलती बंद हो रही है और उनसे जवाब देते नहीं बन रहा. बुधवार को प्रश्नकाल में ऐसी ही स्थिति उस वक्‍त बनी जब जनजाति क्षेत्र विकास मंत्री अर्जुन सिंह बामनिया विपक्ष के सवाल पर घिर गए. मंत्रियों की अधूरी तैयारी पर नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया (Gulab Chand Kataria) ने कड़ी टिप्पणी करते हुए यहां तक कह दिया कि सदन का मजाक बनाकर रख दिया है और मंत्री बिना तैयारी के उठकर चले आते हैं.

विधायक जगसीराम ने पूछा था ये सवाल
विधायक जगसीराम ने मंत्री से जो जानकारी मांगी थो वो उपलब्ध करवाने की बजाय मंत्री अपने आंकड़े गिनाते रहे. मंत्री से सवाल पूछा गया था कि योजना के तहत साल 2019 में कितने छात्र-छात्राओं को लाभान्वित नहीं किया गया था. जबकि मंत्री बार-बार लाभान्वित होने वाले छात्र-छात्राओं से जुड़ा जवाब देते रहे. इतना ही नहीं सवाल से जुड़ा विवरण सदन की मेज पर भी रखना था, लेकिन वह उपलब्ध नहीं करवाया गया. इस पर नेता प्रतिपक्ष ने ऐतराज जताते हुए कहा कि मंत्री जवाब दें कि आखिर जो विवरण रखा जाना था वो कहां है. आसन से स्पीकर के दखल के बाद भी मंत्री गोलमोल जवाब देते रहे और आखिर में चौतरफा घिर जाने के बाद कहा कि जानकारी उपलब्ध करवा दी जाएगी.

अधूरी तैयारी पर हमलावर विपक्ष



विपक्ष के सवालों के आगे सदन में बार-बार सरकार के मंत्री निरुत्तर हो रहे हैं और विपक्ष को उन्हें घेरने का मौका मिल रहा है. अधूरी तैयारी से आने के कारण मंत्रियों को बार-बार यह कहकर काम चलाना पड़ रहा है कि जल्द ही जानकारी उपलब्ध करा दी जाएगी. मंत्रियों के इस रवैये पर बार-बार स्पीकर की भी सख्ती देखने को मिल रही है.



 

ये भी पढ़ें-

7 वर्षीय बेटे राम ने दी शहीद रतन लाल को मुखाग्नि, नम हुईं सभी की आंखें

 

हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल को शहीद का दर्जा, आश्रित को मिलेगी नौकरी और मुआवजा
First published: February 26, 2020, 5:04 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading