लाइव टीवी

लश्कर-ए-तैय्यबा के लिए पैसा जुटाने के आरोप में सजा काट रहा था शकरउल्ला
Jaipur News in Hindi

News18 Rajasthan
Updated: February 20, 2019, 4:34 PM IST
लश्कर-ए-तैय्यबा के लिए पैसा जुटाने के आरोप में सजा काट रहा था शकरउल्ला
आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का सदस्य शकरउल्ला. (Photo-PTI)

आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का सदस्य शकरउल्ला जयपुर की सेंट्रल जेल में कैदियों के आपसी झगड़े में मारा गया. शकरउल्ला पाकिस्तान के सियालकोट का रहने वाला था और लश्कर-ए-तैयबा के लिए पैसा जुटाता था.

  • Share this:
राजस्थान की जयपुर सेंट्रल जेल में उम्रकैद की सजा काट रहे पाकिस्तानी कैदी शकरउल्लाह की हत्या कर दी गई है. हत्या जेल में बंद अन्य कैदियों के साथ शकरउल्लाह के झगड़े के दौरान हुई. शकरउल्ला पाकिस्तान के सियालकोट का रहने वाला बताया जा रहा है जो आतंकी लश्कर-ए-तैयबा से जुड़ा था. शकरउल्ला को उसके अन्य साथियों के साथ 2010 में लश्कर-ए-तैयबा के लिए पैसा जुटाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था.

ये भी पढ़ें- जयपुर जेल में पाकिस्तानी कैदी की हत्या, आपसी कहासुनी के बाद हुई थी मारपीट

साल 2010 में एटीएस ने इन आतंकियों को गिरफ्तार किया था जांच के दौरान शकरउल्ला और उसके 7 अन्य साथी आतंकी गतिविधियों में दोषी पाए गए. जिसके बाद 30 नवंबर 2017 को एडीजे कोर्ट ने सभी आतंकियों को उम्रकैद की सजा सुनाई थी.

ये भी पढ़ें- राजस्थान में सवर्णों को 10% आरक्षण लागू, पढ़ें- इन लोगों को नहीं मिलेगा फायदा



शकरउल्ला को धारा 13, 18, 18ए और धारा 20 में सजा सुनाई गई थी. उसपर 11 लाख रुपए का आर्थिक दंड भी लगाया गया था. शकरउल्ला के साथ असगर अली, मोहम्मद इकबाल, हाफिज़ अब्दुल मज़ीद, काबिल खां और अरूण जैन को भी आजीवन कारावास और 11-11 लाख रुपए का आर्थिक दंड दिया गया था. जबकि बाबू उर्फ निशाचंद अली और पवन पुरी को आजीवन कारावस के साथ 13-13 लाख रुपए का आर्थिक दंड  दिया गया था.

ये भी पढ़ें- 

शहीद की पत्नी ने बेटे के लिए खरीदा था प्लॉट, भूमाफिया ने रास्ते पर किया कब्जा

शहादत को सलाम... मरुधरा के 5 सपूत शहीद, रातभर नहीं सोया पूरा गांव

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 20, 2019, 4:34 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर