अपना शहर चुनें

States

निकाय चुनाव-2021: कांग्रेस ने झौंकी ताकत, फूंक-फूंककर रख रही है कदम

नगर निकायों में बीजेपी के वर्चस्व को खत्म करने में कांग्रेस पिछले चुनावों में काफी हद तक कामयाब हुई है.
नगर निकायों में बीजेपी के वर्चस्व को खत्म करने में कांग्रेस पिछले चुनावों में काफी हद तक कामयाब हुई है.

Local Bodies Election-2021: चुनावों के लिये कांग्रेस ने अपनी पूरी ताकत झौंक दी है. कांग्रेस (Congress) इस बात की उम्मीद भी पाले बैठी है कि उसे बीजेपी की फूट का फायदा भी मिलेगा.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश के 90 नगर निकायों (Local Bodies Election-2021) के चुनाव में अब महज कुछ ही दिन का समय बचा है. कांग्रेस (Congress) ने इस रण को फतह करने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. हाल ही में संगठन में हुई नियुक्तियों के बाद ये पहले चुनाव हैं और कांग्रेस इसमें और ज्यादा बेहतर प्रदर्शन की कवायद में जुटी है. इसके लिये वह बेहद फूंक-फूंककर कदम रख रही है.

90 नगर निकायों में नामांकन की प्रक्रिया सम्पन्न हो चुकी है और अब 28 जनवरी को प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला होना है. राजनीतिक दलों ने निकाय को इस रण को फतेह करने की कवायदें तेज कर दी है. कांग्रेस इस चुनाव में पिछली बार से भी बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद संजोए बैठी है. हाल ही में पार्टी में प्रदेश स्तर पर संगठन पदाधिकारियों की नियुक्तियां हुई है. उसके बाद पार्टी ज्यादा उत्साह के साथ मैदान में है.





जिला स्तर के संगठन पदाधिकारियों से भी लगातार चर्चा की जा रही है
पिछले चुनावों में बेहतर प्रदर्शन से भी पार्टी कार्यकर्ताओं में जोश है. पीसीसी चीफ गोविन्द सिंह डोटासरा लगातार चुनाव को लेकर संगठन पदाधिकारियों से चर्चा कर रहे हैं. इसके साथ ही प्रदेश पदाधिकारियों को फील्ड में जाने के निर्देश दिए हैं. इतना ही नहीं जिन प्रत्याशियों को टिकट दिए गए हैं उनसे मुख्यालय स्तर पर लगातार सम्पर्क साधा जा रहा है. जिला स्तर के संगठन पदाधिकारियों से भी लगातार चर्चा की जा रही है. पीसीसी चीफ का कहना है कि सरकार के कार्यों को कार्यकर्ता जोर-शोर से आम लोगों तक पहुंचाने में जुटे हैं. बीजेपी की आपसी फूट का फायदा भी कांग्रेस को चुनाव में मिलेगा.

बागी कांग्रेस के लिए भी मुश्किलें पैदा कर रहे हैं
नगर निकायों में बीजेपी के वर्चस्व को खत्म करने में कांग्रेस पिछले चुनावों में काफी हद तक कामयाब हुई है. पार्टी प्रदेशाध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा के मुताबिक बीजेपी प्रतिपक्ष की भूमिका निर्वहन सही तरीके से नहीं कर पा रही है. यही वजह है कि पिछले चुनाव में वह 24 प्रतिशत जगहों पर ही अपने बोर्ड बना पाई. हालांकि बागी कांग्रेस के लिए भी मुश्किलें पैदा कर रहे हैं. बागियों के सवाल पर पीसीसी चीफ का कहना है कि कांग्रेस में यह संकट बीजेपी के मुकाबले कम है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज