Assembly Banner 2021

निकाय चुनाव-2019: रणभूमि में 7,944 उम्मीदवार, 14 प्रत्याशी निर्विरोध पार्षद बने

नाम वापसी के आखिरी दिन शुक्रवार को 1,565 उम्मीदवारों ने अपना नाम वापिस ले लिया है.

नाम वापसी के आखिरी दिन शुक्रवार को 1,565 उम्मीदवारों ने अपना नाम वापिस ले लिया है.

प्रदेश के 49 निकायों (Local bodies) में 16 नवंबर को होने वाले पार्षदों के चुनाव (Elections) के लिए नाम वापसी की अवधि समाप्त होने के बाद अब कुल 7,944 उम्मीदवार (Candidate) चुनाव मैदान में शेष रह गए हैं.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश के 49 निकायों (Local bodies) में 16 नवंबर को होने वाले पार्षदों के चुनाव (Elections) के लिए नाम वापसी की अवधि समाप्त होने के बाद अब कुल 7,944 उम्मीदवार (Candidate) चुनाव मैदान में शेष रह गए हैं. प्रदेश के विभिन्न निकायों के 14 वार्डों में प्रत्याशी निर्विरोध पार्षद (Uncontested councilor) बन गए हैं.

2,759 नामांकन-पत्र हुए खारिज
आयोग के मुख्य निर्वाचन अधिकारी और सचिव श्यामसिंह राजपुरोहित ने बताया कि राज्य के 2,105 वार्डों में कुल 10,910 उम्मीदवारों ने 13,268 नामांकन पत्र दाखिल किए थे. संवीक्षा में 2,759 नामांकन-पत्र विभिन्न कमियों के चलते खारिज कर दिए गए हैं. 9,523 उम्मीदवारों के 10,509 नामांकन-पत्र सही पाए गए हैं. इनमें से नाम वापसी के आखिरी दिन शुक्रवार को 1,565 उम्मीदवारों ने अपना नाम वापिस ले लिया है. अब राज्य में नगर निकाय आम चुनाव-2019 में अंतिम रूप से चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों की संख्या 7,944 रह गई है.

आज होगा चुनाव चिन्ह का आवंटन
राजपुरोहित ने बताया कि नाम वापसी के बाद शेष बचे उम्मीदवारों को शनिवार को चुनाव चिन्ह आवंटित किए जाएंगे. सभी 49 निकायों में 16 नवंबर को पार्षद पदों के लिए सुबह 7 से शाम 5 बजे तक मतदान करवाया जाएगा. उसके बाद 19 नवंबर को मतगणना करवाई जाएगी. निकाय प्रमुख का चुनाव 26 नवंबर और उपप्रमुख का 27 नवंबर को करवाया जाएगा.



33 लाख 6 हजार 912 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे
इस चुनाव में कुल 33 लाख 6 हजार 912 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे. इनमें से 17 लाख 5 हजार 1 पुरुष और 16 लाख 1 हजार 864 महिलाओं समेत 47 अन्य मतदाता शामिल हैं.

तीसरा मोर्चा भी दे रहा है चुनौती
इन निकाय चुनावों में बीजेपी-कांग्रेस को तीसरे मोर्चे से भी कड़ी चुनौती मिल रही है. विभिन्न राजनीतिक दलों ने इस बार निकाय चुनाव में किस्मत आजमाने का फैसला किया है और उन्होंने अपने प्रत्याशी भी उतारे हैं. खास तौर से बहुजन समाज पार्टी, आम आदमी पार्टी, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी और शिवसेना भी इस चुनाव में अपनी किस्मत आजमा रही है. दूसरी तरफ विधानसभा और लोकसभा चुनाव में अच्छा प्रदर्शन करने वाली राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (आरएलपी) निकाय चुनाव में मैदान से बाहर है.

निकाय चुनाव: BJP-कांग्रेस के साथ BSP, माकपा, AAP और शिव सेना भी कूदी मैदान में

1100 नई पंचायतों और 50 से ज्यादा पंचायत समितियों के गठन को मिली मंजूरी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज