निकाय चुनाव- बीजेपी-कांग्रेस ने शुरू की मोर्चाबंदी, नंवबर में होंगे पहले चरण के चुनाव

Sudhir sharma | News18 Rajasthan
Updated: September 6, 2019, 3:34 PM IST
निकाय चुनाव- बीजेपी-कांग्रेस ने शुरू की मोर्चाबंदी, नंवबर में होंगे पहले चरण के चुनाव
प्रदेश में अभी तक 187 निकाय थे, लेकिन परिसीमन के बाद इनकी संख्या बढ़कर 193 हो गई है. पहले चरण में 51 निकायों के चुनाव नवंबर माह में होना प्रस्तावित है. फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

जयपुर. विधानसभा (Assembly) और लोकसभा (Lok Sabha) चुनावों के बाद अब बीजेपी-कांग्रेस (BJP-Congress) ने प्रदेश में नवंबर में होने वाले निकायों चुनाव (Local Body Election) की तैयारियां शुरू कर दी है. बीजेपी ने दावा किया है कि केन्द्र सरकार (Central government) के कार्यों के दम पर निकायों में उनकी सरकार बनेगी.

  • Share this:
जयपुर.  विधानसभा (Assembly) और लोकसभा (Lok Sabha) चुनावों के बाद अब बीजेपी-कांग्रेस (BJP-Congress) ने प्रदेश में नवंबर में होने वाले निकायों चुनाव (Local Body Election) की तैयारियां शुरू कर दी है. बीजेपी ने दावा किया है कि केन्द्र सरकार (Central government) के कार्यों के दम पर निकायों में उनकी सरकार बनेगी. वहीं प्रदेश में सत्तारूढ़ कांग्रेस ने दावा किया है कि राज्य सरकार (State government) के कार्यों के जरिए वे निकायों की सत्ता पर काबिज होंगे.

188 से बढ़कर 193 हुए निकाय
प्रदेश में अभी तक 188 निकाय थे, लेकिन परिसीमन के बाद इनकी संख्या बढ़कर 193 हो गई है. खाटूश्यामजी, थानागाजी, महुआ, नसीराबाद और परतापुरगढ़ नए निकाय बने हैं. निकाय चुनाव 3 चरण में होने हैं. पहले चरण में 51 निकायों के चुनाव नवंबर माह में होना प्रस्तावित है. इनमें 25 जिलों की 64 विधानसभा क्षेत्रों में निकाय चुनाव होंगे. इस चरण में अजमेर को छोड़ कर 6 नगर निगमों में भी चुनाव होंगे.

बूथ मैनेजमेंट के दम पर तैयारियां शुरू की

निकाय चुनाव को लेकर बीजेपी ने अपने जिला संगठन प्रभारी और बूथ प्रबंधन अधिकारी समेत निकाय चुनाव में अनुभव रखने वाले नेताओं को जिम्मेदारी दी है. बीजेपी इस बार चुनाव में केन्द्र सरकार के कार्यों के अलावा स्थानीय मुद्दों को निकाय चुनाव में प्रमुखता से रखने की तैयारी कर रही है. इसके साथ ही वह कश्मीर से अनुछेच्द-370 और 35-A के मुद्दे को भी भुनाएगी. बीजेपी ने बूथ मैनेजमेंट के दम पर अपनी तैयारियां शुरू कर दी है.

कांग्रेस ने शैक्षणिक योग्यता का बैरियर
दूसरी तरफ सत्तारूढ़ कांग्रेस ने लगभग एक सप्ताह पहले प्रदेश कांग्रेस कमेटी में बैठक कर निकाय चुनाव के लिए मोर्चा संभाल लिया है. कांग्रेस राज्य सरकार के कामकाज के दम पर निकाय चुनाव में जीत का दाव खेल रही है. कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव से पूर्व किए गए वादे के मुताबिक निकाय चुनाव लड़ने के लिए शैक्षणिक योग्यता का बैरियर पहले ही हटा दिया है. वह इसको भुनाने के साथ ही बजट की घोषणाओं को भी निकाय चुनाव में जनता के बीच जाएगी. निकाय चुनाव के लिए दोनों पार्टियों ने अपने अपने तरीके से तैयारियां शुरू जरुर कर दी है, लेकिन शहरी सरकार का सेहरा जनता किसके सर बाधेंगी यह तो चुनाव परिणाम आने पर ही पता चल पाएगा.
Loading...

बहरोड़ थाने पर AK-47 से हमला, हिल उठा पुलिस महकमा, सीएम गहलोत ने लिया फीडबैक

बंगला पॉलिटिक्स: फिर क्यों चर्चा में है गहलोत-राजे के बीच की राजनीतिक सदाशयता

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 6, 2019, 3:28 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...