Home /News /rajasthan /

निकाय चुनाव: परिणाम से पहले बीजेपी-कांग्रेस का बाड़ाबंदी पर जोर, यहां देखें किसको कहां ले जाया गया

निकाय चुनाव: परिणाम से पहले बीजेपी-कांग्रेस का बाड़ाबंदी पर जोर, यहां देखें किसको कहां ले जाया गया

अलवर के एक रिसोर्ट में चर्चा करते बाड़ाबंदी में शामिल कांग्रेस प्रत्याशी। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

अलवर के एक रिसोर्ट में चर्चा करते बाड़ाबंदी में शामिल कांग्रेस प्रत्याशी। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

प्रदेश के 49 निकायों (Local body elections) में पार्षद पद (Councilor position) के लिए हुए मतदान (Voting) के बाद अब हार-जीत के आकलन के आधार पर प्रत्याशियों की बाड़ाबंदी शुरू हो गई है. कांग्रेस-बीजेपी (Congress, BJP) दोनों पार्टियां इसमें जुटी हुई हैं.

अधिक पढ़ें ...
    जयपुर. प्रदेश के 49 निकायों (Local body elections) में पार्षद पद (Councilor position) के लिए हुए मतदान (Voting) के बाद अब हार-जीत के आकलन के आधार पर प्रत्याशियों की बाड़ाबंदी शुरू हो गई है. मतगणना (Counting ) मंगलवार को होगी. लेकिन मतदान के बाद इसकी समीक्षा के आधार पर कांग्रेस-बीजेपी (Congress, BJP) निकायों में अपना बोर्ड बनाने के लिए अपने-अपने प्रत्याशियों (Candidates) की बाड़ाबंदी में जुटी हैं. इसके लिए प्रत्याशियों को इकट्ठा कर उन्हें सुरक्षित स्थानों (Safe places) पर पहुंचाया जा रहा है. इसकी मॉनिटरिंग पार्टियों के वरिष्ठ नेता (Senior leader) कर रहे हैं. प्रत्याशियों को एंजॉय कराया जा रहा है.

    अलवर में विधायक यादव ने संभाल रखी है कमान
    अलवर में कांग्रेस ने भिवाड़ी नगरपरिषद के प्रत्याशियों को अलवर के गोल्डन बाग रिसोर्ट में ठहराया है. इसके अलावा 2 अन्य जगह पर बाड़ाबंदी की गई है. इसमें निर्दलीय और अन्य पार्टियों के संभावित विजेता प्रत्याशियों से संपर्क कर उन्हें भी बाड़ाबंदी में शामिल किया जा रहा है. इसकी कमान तिजारा विधायक संदीप यादव के पास है. पार्षदों प्रत्याशियों को परिवार सहित बाड़ाबंदी में लाया गया है. 40 से अधिक पार्षद प्रत्याशियों को अलवर के गोल्डन बाग और करीब 20 अन्य संभावितों को दूसरी जगह पर ठहराया गया है.

    सीकर में कांग्रेस हुई सक्रिय, भरतपुर में बीजेपी ने खेला मथुरा का दांव
    सीकर में कांग्रेस अपनी रणनीति के तहत प्रत्याशियों को अज्ञात स्थान पर ले गई है. पहले उन्हें शहर की एक होटल में ले जाया गया था, लेकिन अब दूसरी जगह शिफ्ट कर दिया गया है. शहर विधायक राजेंद्र पारीक का कहना कि बाड़ेबंदी जैसी कोई बात नहीं है. हम लोग शहर के विकास पर चर्चा करेंगे. भरतपुर में बीजेपी और कांग्रेस दोनों ने बाड़ेबंदी शुरू कर दी है. बीजेपी के कुछ प्रत्याशियों को मथुरा भेजा गया है. वहीं निर्दलियों की निगरानी की जा रही है. कांग्रेस भी निर्दलीय प्रत्याशियों के संपर्क में है.

    चूरू और पाली में बीजेपी ने प्रत्याशियों को किया एकत्र
    चूरू में बीजेपी प्रत्याशियों को बाड़ाबंदी के तहत उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ के आवास पर लाया गया है. यहां राठौड़ प्रत्याशियों की मीटिंग ले रहे हैं. उसके बाद इन्हें दूसरी जगह ले जाया जाएगा. निर्दलीय और समर्थित प्रत्याशियों से भी संपर्क साधा जा रहा है. अजमेर के पुष्कर में बीजेपी प्रत्याशियों को मेड़ता रोड जैन मंदिर में रखा गया है.

    जैसलमेर में बाड़ेबंदी में भी धड़ेबंदी
    जैसलमेर में भी बीजेपी-कांग्रेस दोनों ने बाड़ाबंदी की है. यहां कांग्रेस में दो गुटों की आपसी खींचतान में भीतरघात की आशंका है। इसके चलते यहां बाड़ेबंदी में भी धड़ेबंदी हो रही है. यहां कांग्रेस विधायक रुपाराम धनदेव और मंत्री सालेह मोहम्मद दोनों गुटों के समर्थकों की अलग-अलग बाड़ाबंदी की गई है. मंत्री समर्थक प्रत्याशियों को पोकरण ले जाने की सूचना है, वहीं धनदेव समर्थकों को शहर से दूर ले अज्ञात स्थान पर ले जाया गया है. बीजेपी ने शहर में ही स्थित एक होटल में अपने प्रत्याशियों को रखा है.

    बांसवाड़ा और पाली में भी चल रहे हैं दावपेंच
    बांसवाड़ा में दोनों पार्टियों के प्रत्याशियों की बाड़ाबंदी कर ली गई है. यहां एक पार्टी अपने लोगों को उदयपुर ले गई तो दूसरी के रणकपुर या जयसंमद जाने की जानकारी सामने आ रही है. पाली में बीजेपी ने अपने प्रत्याशियों की बाड़ेबंदी कर उन्हें लूनी के शिकारपुरा आश्रम में ठहराया है. कांग्रेस अभी हालात पर नजर रखे हुए है.

    महाराष्ट्र के कांग्रेस विधायकों की जयपुर में बाड़ाबंदी का राम-हनुमान कनेक्शन

    पंचायत चुनाव की बिसात बिछी, यहां देखें कहां-कहां बढ़ी पंचायतें और समितियां

    Tags: BJP, Congress, Election, Jaipur news, Rajasthan news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर