लाइव टीवी

निकाय चुनाव: कांग्रेस ने मैदान में उतारी वकीलों की फौज, इन बिन्दुओं की कर रही है जांच

Goverdhan Chaudhary | News18 Rajasthan
Updated: November 4, 2019, 7:12 PM IST
निकाय चुनाव: कांग्रेस ने मैदान में उतारी वकीलों की फौज, इन बिन्दुओं की कर रही है जांच
यह खास सावधानी इसलिए बरती जा रही है कि किसी कानूनी खामी की वजह से किसी भी उम्मीदवार का नामांकन खारिज न हो पाए.

प्रदेश के 49 शहरी निकायों (Local body election) के चुनाव में पर्चा दाखिल (Nomination) करने का कल आखिरी दिन (Last day) है. कांग्रेस (Congress) ने ज्यादातर निकायों में पार्षद उम्मीदवारों (Councilor candidates) को ​सिंबल बांट (Symbol) दिए हैं.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश के 49 शहरी निकायों (Local body election) के चुनाव में पर्चा दाखिल (Nomination) करने का कल आखिरी दिन (Last day) है. कांग्रेस (Congress) ने ज्यादातर निकायों में पार्षद उम्मीदवारों (Councilor candidates) को ​सिंबल बांट (Symbol) दिए हैं. कांग्रेस में इस बार पार्षद उम्मीदवार का टिकट देने में खास सावधानी (Special alertness) बरती गई है. पार्षद का टिकट तय होने के बाद भी उम्मीदवार की पूरी कुंडली खंगाली जा रही है. इसके लिए कांग्रेस ने हर निकाय स्तर पर 5 से ज्यादा वकीलों (Lawyers) की टीम को जिम्मेदारी दी है.

सभी बिन्दुओं की जांच-परख की दी है जिम्मेदारी
कांग्रेस विधि विभाग से जुड़े इन वकीलों को हर निकाय स्तर पर पार्षद के उम्मीदवारों को सिंबल देने से लेकर उनके नामांकन दाखिल करने तक कानूनी पहलुओं की पड़ताल करने की जिम्मेदारी दी गई है. जिस भी उम्मीदवार को टिकट दिया है वह स्थानीय वार्ड का रहने वाला है या नहीं. उसके दो से ज्यादा बच्चे तो नहीं हैं. वह सजायाफ्ता तो नहीं है आदि बिन्दुओं की वकीलों की यह टीम पूरी तस्दीक कर रही है. उसके बाद ही सिंबल दिए जा रहे हैं.

कानूनी पहलुओं का रखा जा रहा है ध्यान

कांग्रेस के विधि विभाग से जुड़े वकीलों को उम्मीदवारों की मदद के लिए मैदान में उतारा गया है. यह खास सावधानी इसलिए भी बरती जा रही है कि किसी कानूनी खामी की वजह से किसी भी उम्मीदवार का नामांकन खारिज न हो पाए. नामांकन पत्रों की जांच के बाद ही साफ हो जाएगा कि कांग्रेस के वकीलों की टीम ने कितनी मेहनत की है.

16 नंवबर होगा मतदान
गौरतलब है कि प्रदेश के 196 निकायों के चुनाव 4 चरणों में होने हैं. निकाय चुनाव का पहला चरण आगामी 16 नंवबर होगा. इस बार राज्य सरकार ने निकाय चुनाव से पहले इसको लेकर कई बड़े परिवर्तन किए हैं. इनमें जयपुर, जोधपुर और कोटा में नगर निगमों की संख्या 2-2 करने के साथ ही निकाय प्रमुख का चुनाव अप्रत्यक्ष प्रणाली से कराया जाना भी तय किया गया है.
Loading...

बसपा छोड़कर कांग्रेस में आए विधायकों को सत्ता में भागीदारी का आश्वासन!

केन्द्र की नीतियों के खिलाफ सड़क पर उतरेगी कांग्रेस, मंत्री संभालेंगे मोर्चा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 4, 2019, 7:12 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...