• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • निकाय चुनाव: कांग्रेस प्रदेश महासचिव मंडेलिया का बड़ा बयान, बोले- हम जोड़तोड़ में सबसे माहिर

निकाय चुनाव: कांग्रेस प्रदेश महासचिव मंडेलिया का बड़ा बयान, बोले- हम जोड़तोड़ में सबसे माहिर

कांग्रेस के प्रदेश महासचिव और चूरू के पूर्व विधायक मकबूल मंडेलिया ने खुलकर कहा है कि चूरू में जोड़तोड़ में कांग्रेस आगे रहेगी.

कांग्रेस के प्रदेश महासचिव और चूरू के पूर्व विधायक मकबूल मंडेलिया ने खुलकर कहा है कि चूरू में जोड़तोड़ में कांग्रेस आगे रहेगी.

कांग्रेस ने प्रभारी मंत्रियों (Ministers in charge), विधायकों (MLAs) और जिलाध्यक्षों को सभी 49 निकायों में बाड़ेबंदी से लेकर पूरी व्यवस्थाएं (Complete arrangements) करने और बोर्ड बनाने की जिम्मेदारी (Responsibility) दी है. बाड़ेबंदी भी इन्हीं की देखरेख में हो रही है.

  • Share this:
जयपुर. निकाय चुनाव (Local body elections) का परिणाम आने से पहले ही कांग्रेस और बीजेपी (Congress and BJP) ने अपने-अपने उम्मीदवारों की बाड़ेबंदी शुरू कर दी है. कांग्रेस ने प्रभारी मंत्रियों (Ministers in charge), विधायकों (MLAs) और जिलाध्यक्षों को सभी 49 निकायों में बाड़ेबंदी से लेकर पूरी व्यवस्थाएं (Complete arrangements) करने और बोर्ड बनाने की जिम्मेदारी (Responsibility) दी है. बाड़ेबंदी भी इन्हीं की देखरेख में हो रही है.

बाड़ेबंदी को परिणाम से पहले प्रशिक्षण का दिया नाम
हालांकि कांग्रेस के नेता बाड़ेबंदी की बात को खुलकर नहीं मान रहे हैं और इसे परिणाम से पहले प्रशिक्षण का नाम दे रहे हैं. लेकिन कांग्रेस के प्रदेश महासचिव और चूरू के पूर्व विधायक मकबूल मंडेलिया ने खुलकर कहा है कि चूरू में जोड़तोड़ में कांग्रेस आगे रहेगी. मंडेलिया ने बीजेपी नेता राजेंद्र राठौड़ के जोड़तोड़ में माहिर होने के सवाल पर साफ कहा कि राठौड़, बाड़ेबंदी और जोड़तोड़ में माहिर होंगे, लेकिन हम इसमें उनसे भी माहिर निकलेंगे.



जाटव ने किया जीत का दावा
मंडेलिया ने कहा कि चूरू बाड़ेबंदी मामले में सबसे स्ट्रॉन्ग प्वाइंट है, लेकिन वहां अब तक कोई बाड़ेबंदी नहीं की है. सब खुले घूम रहे हैं. पार्टी के प्रदेश संगठन महासचिव महेश शर्मा ने कहा कि यह बाड़ेबंदी नहीं प्रशिक्षण है. स्थानीय नेताओं को इसकी जिम्मेदारी दी गई है. मंत्री भजनलाल जाटव ने कहा कि राजनीति में सुरक्षा सहित सभी पहलुओं का ध्यान तो रखना ही पड़ता है. कांग्रेस कार्यकर्ता मजबूत हैं. उन्होंने दावा किया कि निकाय चुनाव में कांग्रेस ही जीतेगी.

कांग्रेस के लिए प्रतिष्ठा का सवाल है
निकाय चुनाव कांग्रेस के लिए प्रतिष्ठा का सवाल है. सताधारी पार्टी होने की वजह से कांग्रेस ज्यादा से ज्यादा निकायों में अपना बोर्ड बनाने की कवायद में जुट गई है, इसके लिए उसने अपनी पूरी ताकत लगा रखी है.

इन स्थानों पर सामने आ चुकी है बाड़ाबंदी
बता दें कि निकाय चुनाव के लिए मतदान के बाद ही बीजेपी-कांग्रेस ने हार-जीत की समीक्षा कर अपने-अपने प्रत्याशियों की बाड़ाबंदी शुरू कर दी थी. शनिवार रात से ही इस कार्य को अंजाम देना शुरू कर दिया गया था. चूरू, बीकानेर, सीकर, अलवर, भरतपुर, जैसलमेर, बांसवाड़ा, पाली और पुष्कर समेत कई जगहों पर बाड़ाबंदी कर दी गई है. प्रत्याशियों को होटलों और रिसोर्ट में ले जाया गया है.

निकाय चुनाव: परिणाम से पहले बीजेपी-कांग्रेस का बाड़ाबंदी पर जोर

पंचायत चुनाव की बिसात बिछी, यहां देखें कहां-कहां बढ़ी पंचायतें और समितियां

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन