लाइव टीवी

निकाय चुनाव: छिटपुट घटनाओं के बीच संपन्न हुआ मतदान, 19 नंवबर को होगी मतगणना

News18 Rajasthan
Updated: November 16, 2019, 6:43 PM IST

प्रदेश में 49 निकायों के पार्षद पद के चुनाव (Local body elections) के लिए शनिवार को छिटपुट घटनाओं के बीच मतदान (Voting) संपन्न हो गया है. मतदान के प्रति मतदाताओं (Voters) ने काफी उत्साह दिखाया. मतदान केन्द्रों पर दिनभर मतदाताओं की कतारें (lines) लगी रही.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश में 49 निकायों के पार्षद पद के चुनाव (Local body elections) के लिए शनिवार को छिटपुट घटनाओं के बीच मतदान (Voting) संपन्न हो गया है. मतदान के प्रति मतदाताओं (Voters) ने काफी उत्साह दिखाया. मतदान केन्द्रों पर दिनभर मतदाताओं की कतारें (lines) लगी रही. मतदान के दौरान फर्जी वोटिंग (Fake voting) को लेकर करीब आधा दर्जन से अधिक जगह विवाद और झड़पें (Disputes and skirmishes) हुईं, लेकिन समय रहते उन पर काबू (Control) पा लिया गया, जिससे कोई अप्रिय वारदात नहीं हुई. विभिन्न निकायों में दिग्गज नेताओं (Veteran leaders) ने भी अपने परिजनों के साथ उत्साहपूर्वक मतदान किया. मतगणना 19 नंवबर को होगी.

चुनाव आयोग बरत रहा है पूरी सतर्कता
प्रदेश में 49 स्थानीय निकायों में पार्षद पद के चुनाव के लिए मतदान शनिवार को सुबह 7 बजे शुरू हुआ था. सुबह 10 बजे तक विभिन्न निकायों में  15 से 20 फीसदी मतदान हो चुका था. मतदान की गति कहीं धीमी तो कहीं औसत रही. मतदान शाम 5 बजे तक चला. मतदान के लिए 3,479 मतदान केंद्र बनाए गए थे. मतदान के लिए 20 हजार कर्मचारी और 20 हजार ही सुरक्षाकर्मी  तैनात किए गए थे. राज्य निर्वाचन आयोग ने चुनाव को लेकर पूरी सर्तकता बरती. मतदान के दौरान सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए थे.

भयमुक्त होकर मतदान करने की अपील

मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्याम सिंह राजपुरोहित ने मतदाताओं से अपील की थी कि वे भयमुक्त होकर मतदान करें. कोई भी मतदाता मताधिकार से वंचित न रहे. लोकतंत्र में एक-एक वोट बहुत कीमती होता है. संवेदनशील और अतिसंवेदनशील मतदान केंद्रों की वीडियोग्राफी कराई गई है. वहां अतिरिक्त पुलिस जाब्ता तैनात किया गया था. मतदान के लिए मतदाता पहचान-पत्र नहीं होने पर 12 अन्य विकल्पों का उपयोग किए जाने की छूट दी गई थी.

ये थे 12 अन्य विकल्प
राज्य निर्वाचन आयोग के अनुसार इन 12 विकल्पों में पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, राज्य एवं केंद्र सरकार के फोटो युक्त सेवा पहचान पत्र, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों और पब्लिक बैंकों या डाकघरों द्वारा जारी किए गए फोटोयुक्त पासबुक का भी उपयोग मतदान के लिए किया जा सकता है. इनके अलावा पैन कार्ड, आरजीआई और एनपीआर द्वारा जारी किए गए स्मार्ट कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, श्रम मंत्रालय की योजना द्वारा जारी स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, फोटो युक्त पेंशन दस्तावेज, निर्वाचन तंत्र द्वारा जारी फोटो मतदाता पर्ची, विधायकों-सांसदों को जारी किए गए सरकारी पहचान पत्र और आधार कार्ड को अधिकारियों को दिखाकर मतदान किया जा सकता है.26 नवंबर को होगा निकाय प्रमुख का चुनाव
शनिवार को 49 निकायों में 2,105 वार्ड पार्षद पद के लिए हुए चुनाव में 7,944 उम्मीदवारों का भाग्य ईवीएम में बंद हो गया है. कुल 33 लाख 6 हजार 912 मतदाताओं में से 17 लाख 5 हजार 1 पुरुष और 16 लाख 1 हजार 864 महिलाओं समेत 47 अन्य मतदाता शामिल है. पार्षदों के चुनाव के बाद आगामी 26 नवंबर को निकाय प्रमुख और 27 नवंबर को उपप्रमुखों का चुनाव कराया जाएगा.

प्रदेश में जल्द अस्तित्व में आएंगी 48 नई पंचायत समितियां और 1264 पंचायतें !

महिलाओं के लिए खुशखबरी: विकास के द्वार खुले, 1 करोड़ तक का मिलेगा ऋण

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 15, 2019, 7:32 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर