लाइव टीवी

Lockdown-4.0: राजस्थान देश में श्रमिक स्पेशल बस चलाने वाला पहला राज्य बना, इस तरह कर रहा मदद
Jaipur News in Hindi

Sachin Kumar | News18 Rajasthan
Updated: May 20, 2020, 7:29 AM IST
Lockdown-4.0:  राजस्थान देश में श्रमिक स्पेशल बस चलाने वाला पहला राज्य बना, इस तरह कर रहा मदद
मंगलवार से पहले चरण में रोडवेज ने उत्तरप्रदेश के लिए 31, उत्तराखंड के लिए 17, मध्यप्रदेश के लिए 6 और हिमाचल प्रदेश के लिए 1 बस को रवाना किया।

श्रमिक स्पेशल ट्रेन की तर्ज पर राजस्थान देश में श्रमिक स्पेशल बस (Shramik Special Bus) चलाने वाला पहला राज्य बन गया है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देश पर रोडवेज ने जिला प्रशासन के साथ मिलकर इसकी शुरुआत की है.

  • Share this:
जयपुर. श्रमिक स्पेशल ट्रेन की तर्ज पर राजस्थान देश में श्रमिक स्पेशल बस चलाने वाला पहला राज्य बन गया है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देश पर रोडवेज ने जिला प्रशासन के साथ मिलकर मंगलवार से इसकी शुरुआत कर दी है. पहले ही दिन रोडवेज ने 54 बसों का संचालन कर करीब 3 हज़ार श्रमिकों को विभिन्न राज्यों के लिए रवाना किया.

श्रमिक ट्रेन की तर्ज पर शुरू की गई यह श्रमिक स्पेशल बसें वहां संचालित हो रही हैं, जहां श्रमिक स्पेशल ट्रेन का रूट नहीं बन पा रहा है. ऐसे मार्गों पर श्रमिक स्पेशल बसों के जरिए मजदूरों को फ्री में सेवाएं उपलब्ध करवाई जा रही हैं. मंगलवार से पहले चरण में रोडवेज ने उत्तर प्रदेश के लिए 31, उत्तराखंड के लिए 17, मध्य प्रदेश के लिए 6 और हिमाचल प्रदेश के लिए 1 बस को रवाना किया. वहीं, अगले चरण में दिल्ली, पंजाब, गुजरात और महाराष्ट्र में अलग-अलग शहरों के लिए भी ये बसें चलाई जाएंगी.

तीन लाख लोगों को गंतव्‍य तक पहुंचाया
श्रमिक स्पेशल बसों के संचालन से पहले राजस्थान रोडवेज राज्य और पड़ाेसी राज्यों की सीमाओं में करीब 3 लाख 7 हज़ार लोगों को उनके गंतव्‍य तक पहुंचा चुकी है. रोडवेज ने लॉकडाउन 3.0 खत्म होने के साथ ही 3 लाख लोगों को परिवहन करवाने का आंकड़ा छू लिया था. इसमें 1,12,285 प्रवासियों को उनके राज्य की सीमाओं तक पहुंचाना और राज्य की सीमा पर पहुंचे कुल 58,425 लोगों उनके घर तक पहुंचाना शामिल है.



राज्य के अंदर परिवहन सेवा उपलब्ध करवाई


इसके अलावा 23 मार्च से लेकर 17 मई तक रोडवेज ने 1,28,592 लोगों को राज्य के अंदर परिवहन सेवा उपलब्ध करवाई है. इसमें करीब 62 हज़ार लोग ऐसे थे जो रोजगार, पढ़ाई और अन्य कारणों से अपने घर से दूर राज्य के अलग-अलग जिलों में फंसे हुए थे. इसके अलावा रोडवेज ने श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से आने वाले प्रवासी श्रमिकों व अन्य को स्टेशन से उनके घर पहुंचाने का काम भी किया. ऐसे श्रमिकों की संख्या करीब 42 हज़ार के आसपास है. वहीं ट्रेन से अन्य राज्य में जाने वाले करीब 28 हज़ार प्रवासियों को रेलवे स्टेशन छोड़ने का काम भी रोडवेज ने किया.

रेल मंत्रालय का बड़ा फैसला, 1 जून से 200 अतिरिक्त श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलेंगी

Rajasthan: 1 जून से किसानों पर बरसेगी राहत, महज 3% की ब्याज दर पर मिलेगा ऋण

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 20, 2020, 6:28 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading