राजस्थान के लाखों बच्चे आज से रेडियो के जरिए करेंगे पढ़ाई, आकाशवाणी पर गूंजेगी 'शिक्षा वाणी'
Jaipur News in Hindi

राजस्थान के लाखों बच्चे आज से रेडियो के जरिए करेंगे पढ़ाई, आकाशवाणी पर गूंजेगी 'शिक्षा वाणी'
शिक्षा महकमा अब रेडियो के साथ दूरदर्शन से भी पढ़ाई की तैयारी में जुटा है.

कोरोना संकट (Corona crisis) के बीच राजस्थान की सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स के लिए बड़ी खुशखबरी है. सोमवार से शिक्षा महकमा प्रदेश के लाखों बच्चों को रेडियो (Radio) के जरिये पढ़ाई की शुरुआत कराएगा.

  • Share this:
जयपुर. कोरोना संकट (Corona crisis) के बीच राजस्थान की सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स के लिए बड़ी खुशखबरी है. सोमवार से शिक्षा महकमा प्रदेश के लाखों बच्चों को रेडियो (Radio) के जरिये पढ़ाई की शुरुआत कराएगा. आकाशवाणी ने शिक्षा महकमे को 55 मिनट का फ्री टाइम स्लॉट आवंटित किया है. सुबह 11 बजे से लेकर 11.55 बजे तक बच्चे रेडियो से पढ़ सकेंगे. शाला दर्पण की ओर से इसके लिए तमाम तैयारियां पूरी कर ली गई है.

सरकार की शैक्षिक क्रांति
उपनिदेशक दीपक मूंड ने बताया कि विषयवार विशेषज्ञ शिक्षक स्टूडेंट्स को रेडियो से पढ़ाई कराएंगे. मंत्री गोविंद डोटासरा ने शिक्षा महकमे के इस नवाचार को सरकार की शैक्षिक क्रांति करार दिया है. इस प्रसारण को शिक्षा वाणी नाम दिया गया है. मंत्री गोविंद डोटासरा ने स्कूली बच्चों को अपने मैसेज में कहा प्यारे बच्चों कान लगाओ, पढ़ते जाओ, बढ़ते जाओ. शिक्षा विभाग ने दूरदर्शन से भी समय मांगा है. शिक्षा महकमा अब रेडियो के साथ दूरदर्शन से भी पढ़ाई की तैयारी में जुटा है. विशेषज्ञ शिक्षकों ने कंटेंट तैयार कर लिया है, लेकिन अभी तक प्रसार भारती की ओर से दूरदर्शन के जरिए पढ़ाई की अनुमति नहीं मिल सकी है.

दूरदर्शन से अभी हरी झंडी का इंतजार
मंत्री गोविंद डोटासरा ने केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक से इस बारे में लंबी चर्चा की है. सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को भी गोविंद डोटासरा ने पत्र लिखा है. डोटासरा ने इसके साथ ही बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया से भी सहयोग मांगा है. सतीश पूनिया ने केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से प्रदेश के स्टूडेंट्स के हित के लिए दूरदर्शन पर फ्री टाइम स्लॉट देने की मांग की है. जयपुर में दूरदर्शन निदेशक को भी मंत्री गोविंद डोटासरा ने फ्री टाइम स्लॉट आवंटन के लिए सहयोग करने की अपील की है. दूरदर्शन से शिक्षा महकमा 195 मिनट रोजाना फ्री टाइम स्लॉट चाहता है. दूरदर्शन निदेशक से शिक्षा महकमे के अधिकारियों की कई दौर की बातचीत हो चुकी है. लेकिन अभी प्रसार भारती की ओर से हरी झंडी का इंतजार है.



Corona Crisis: अलवर में अब दूध की होगी होम डिलीवरी

Dungarpur: इन 24 उपायों से अभी तक रोक रखी है शहर में Corona की 'एंट्री'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज