Home /News /rajasthan /

Jaipur: मंत्री के दबाव के आगे झुके जालोर कलक्टर, अपने निकाले आदेश लेने पड़े वापस

Jaipur: मंत्री के दबाव के आगे झुके जालोर कलक्टर, अपने निकाले आदेश लेने पड़े वापस

डोटासरा ने कहा अकेले  जालोर जिले में शिक्षकों को परेशान करने वाले ऐसे आदेश नहीं चल सकते.

डोटासरा ने कहा अकेले जालोर जिले में शिक्षकों को परेशान करने वाले ऐसे आदेश नहीं चल सकते.

जिले से बाहर से आने वाले शिक्षकों (Teachers) को 14 दिन क्वॉरेंटाइन रखने के आदेश के मामले को लेकर जालोर जिला कलक्टर को शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद डोटासरा (Govind Dotasara) के दबाव के आगे झुकना पड़ा.

जयपुर. जिले से बाहर से आने वाले शिक्षकों (Teachers) को 14 दिन क्वॉरेंटाइन रखने के आदेश के मामले को लेकर जालोर जिला कलक्टर को शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद डोटासरा (Govind Dotasara) के दबाव के आगे झुकना पड़ा. कलक्टर ने कोरोना संकट के बीच जिले में बाहर से आने वाले शिक्षकों को 14 दिन क्वॉरेंटाइन रखने के आदेश दिया था. इसका शिक्षक संगठनों ने जबर्दस्त विरोध किया. उसके बाद शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में भी ये मामला खूब गरमाया. डोटासरा ने ऐसे आदेशों को बेतुका करार दे दिया.

अधिकारियों ने हाथोंहाथ आदेश रद्द करवा दिए
गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में डोटासरा ने अधिकारियों से पूछा कि मैंने तो ऐसे कोई आदेश नहीं दिए हैं. अगर किसी उच्च अधिकारी ने इसे कोई ऑर्डर निकाले हैं जिनकी वजह से जालोर डीईओ को ऐसे आदेश देने पड़े हों तो वो बताए. ऐसे निर्देश किसी भी जिले को नहीं दिए गए हैं तो अकेले जालोर जिले में शिक्षकों को परेशान करने वाले ऐसे आदेश नहीं चल सकते. उसके बाद अधिकारियों ने हाथोंहाथ जालोर कलक्टर के आदेश रद्द करवा दिए.

लगातार ड्यूटी दे रहे शिक्षकों को अब मिलेगी छुट्टी
वीसी के दौरान शिक्षा राज्यमंत्री ने निर्देश दिए गए कि कोविड-19 संकट काल के दौरान जो शिक्षक शुरू से ही ड्यूटी दे रहे हैं उनको ड्यूटी से मुक्त करें. संबंधित उपखंड अधिकारी को अन्य कार्मिकों की सूची दी जाए, जिससे उनकी ड्यूटी लगाई जा सके. उपखंड अधिकारी को सौंपी गई सूची अनुसार जिन कार्मिकों की कोविड में ड्यूटी लगी हैं उन्ही को मुख्यालय पर बुलाया जाए. सभी पीईईओ (पंचायत प्रारम्भिक शिक्षा अधिकारी) मुख्यालय पर अनिवार्य रूप से उपस्थित रहेंगे. रेड जोन के कर्फ्यूग्रस्त एरिया में निवासरत कर्मचारी जो मुख्यालय छोड़ चुके हैं उनको नहीं बुलाया जाये. रेड जोन में जो कार्मिक अब तक ड्यूटी दे रहे हैं वो ही यथावत ड्यूटी देवें. मुख्यालय पर कार्मिकों की उपस्थिति पर्याप्त हो तो अन्य जिलों में निवासरत शिक्षकों को नहीं बुलाया जाए.

Jaipur: सीएम गहलोत ने इस बड़े खतरे से निपटने के लिए पीएम मोदी से मांगी मदद

Rajasthan: लॉकडाउन के बीच गहलोत सरकार किसानों को देने जा रही है यह बड़ी राहत

Tags: Jaipur news, Rajasthan education board, Rajasthan news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर