Lockdown: गंभीर प्रकृति के अपराध थमे, शराब तस्करी और तंबाकू उत्पादों की अवैध बिक्री ने पकड़ा जोर
Jaipur News in Hindi

Lockdown: गंभीर प्रकृति के अपराध थमे, शराब तस्करी और तंबाकू उत्पादों की अवैध बिक्री ने पकड़ा जोर
राजधानी जयपुर में इस अवधि में शराब तस्करी का ज्यादा जोर रहा है. (सांकेतिक तस्वीर)

जयपुर कमिश्नरेट पुलिस ने पिछले 15 दिनों में राजधानी के मुहाना, हरमाड़ा, ट्रांसपोर्ट नगर, खोह नागोरियान, जवाहर नगर, विद्याधर नगर, भट्टा बस्ती, श्याम नगर, वैशाली नगर और सांगानेर सदर शराब माफियाओं के खिलाफ जमकर कार्रवाइयां की हैं. ग्रामीण क्षेत्रों में इससे भी बुरा हाल है. जयपुर ग्रामीण पुलिस ने पिछले 25 दिनों में शराब की अवैध बिक्री और तस्करी से जुड़े 101 से अधिक मामले दर्ज कर 114 से ज्यादा आरोपियों को गिरफ्त में लिया है.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश में करीब सवा महीने से लागू लॉकडाउन (Lockdown) के चलते प्रदेश में अपराध का ग्राफ गिर गया है. राजधानी जयपुर (Jaipur) समेत प्रदेश के अन्य इलाकों में हत्या और लूटपाट जैसी गंभीर वारदातें तो न के बराबर सामने आई हैं. इस अवधि में अगर कोई अपराध बढ़ा है, तो वह है शराब तस्करी (Liquor smuggling), तंबाकू उत्पादों की अवैध बिक्री, आवश्यक वस्तुओं की कालाबाजारी का। इसके अलावा लॉकडाउन तोड़ने और सरकारी आदेशों के उल्लंघन के मामले सबसे ज्यादा सामने आए हैं. वहीं सड़क दुर्घटना भी न्यूनतम स्तर पर आ गई है.

होम डिलीवरी के साथ ऑनलाइन शराब सप्लाई की कोशिश
राजधानी जयपुर में इस अवधि में शराब तस्करी का ज्यादा जोर रहा है. लॉकडाउन के दौरान शराब की दुकानें बंद होने से शराब के शौकीनों की हालत खराब हो गई. वे महंगे दामों में इसे जैसे भी मिले खरीदने के लिए तैयार रहते हैं. लिहाजा शराब के तलबगारों की इस कमजोरी का फायदा उठाते हुए शराब माफिया सक्रिय हो गए. बड़े शराब माफियाओं के साथ गली-गली में छुटभैया माफिया भी मैदान में आ गए. इसके लिए वे होम डिलीवरी कर शराब सप्लाई करने की कोशिशों में जुट गए और इसे चार से पांच गुना दामों में सप्लाई किया जाने लगा. अजमेर में पिछले दिनों बिहार के व्यापारी को पकड़कर पुलिस ने उसके पास से करीब 10 लाख से ज्यादा के तंबाकू उत्पाद जब्त किए हैं.

लॉकडाउन में ये हैं जयपुर शहर और ग्रामीण क्षेत्र के हालात
जयपुर कमिश्नरेट पुलिस ने पिछले 15 दिनों में राजधानी के मुहाना, हरमाड़ा, ट्रांसपोर्ट नगर, खोह नागोरियान, जवाहर नगर, विद्याधर नगर, भट्टा बस्ती, श्याम नगर, वैशाली नगर और सांगानेर सदर शराब माफियाओं के खिलाफ जमकर कार्रवाइयां की हैं. ग्रामीण क्षेत्रों में इससे भी बुरा हाल है. जयपुर ग्रामीण पुलिस ने पिछले 25 दिनों में शराब की अवैध बिक्री और तस्करी से जुड़े 101 से अधिक मामले दर्ज कर 114 से ज्यादा आरोपियों को गिरफ्त में लिया है. जयपुर ग्रामीण पुलिस अधीक्षक शंकर दत्त शर्मा के अनुसार इस अवधि में रेनवाल, कोटपूतली, मनोहरपुरा, चंदवाजी, जोबनेर, नैरना, दूदू और जमवारामगढ़ समेत कई जगहों पर कार्रवाइयां कर लगभग 70 लाख रुपयों की अवैध शराब और 23 वाहन जब्त किए गए हैं. इसके अलावा 34 हजार लीटर कच्ची शराब नष्ट कर 55 भट्टियां तोड़ी गई हैं.



सरकारी आदेश की अवहेलना के मामले ही ज्यादा
जयपुर पुलिस उपायुक्त (पश्चिम) मनोज चौधरी के अनुसार लॉकडाउन की अवधि में गंभीर प्रकृति के अपराधों की संख्या न के बराबर रह गई हैं. राजधानी में एक मर्डर के अलावा चेन स्नैचिंग जैसी एक-दो वारदात जरुर हुई है. इस दौरान सबसे ज्यादा मामले शराब तस्करी, तंबाकू उत्पादों की अवैध बिक्री, लॉकडाउन और कोरोना को लेकर जारी सरकारी आदेश की अवहेलना के सामने आए हैं.

COVID-19: राजस्थान में 33 नए पॉजिटिव आए, 3 और मौतें दर्ज, 2617 हुई संख्या

Lockdown: प्रवासियों के लिए रेलवे जल्द चला सकता है स्पेशल ट्रेन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज