Lockdown: रेल यात्री फिर ध्यान दें, अफवाहों से बचें, आगामी आदेश तक नहीं होगें रिजर्वेशन
Jaipur News in Hindi

Lockdown: रेल यात्री फिर ध्यान दें, अफवाहों से बचें, आगामी आदेश तक नहीं होगें रिजर्वेशन
NWR के सीपीआरओ अभय शर्मा ने कहा है कि जब तक आगे से आदेश नहीं मिल जाते तब तक रेल सेवाएं स्थगित रहेंगी.

लॉकडाउन (Lockdown) के दौर में फिर से ट्रेनें शुरू होने को लेकर अफवाहों (Rumors) का बाज़ार गर्म हो गया है. इसे देखते हुए उत्तर पश्चिम रेलवे (North Western Railway) ने एक बार फिर से यात्रियों को आगाह किया है कि ट्रेनें शुरू होने को लेकर अभी तक रेलवे की तरफ से कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है.

  • Share this:
जयपुर. लॉकडाउन (Lockdown) के दौर में फिर से ट्रेनें शुरू होने को लेकर अफवाहों (Rumors) का बाज़ार गर्म हो गया है. इसे देखते हुए उत्तर पश्चिम रेलवे (North Western Railway) ने एक बार फिर से यात्रियों को आगाह किया है कि ट्रेनें शुरू होने को लेकर अभी तक रेलवे की तरफ से कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है. इसलिए रेलयात्री संयम बरतें. फिलहाल अग्रिम आदेशों तक रेलवे किसी तरह कि टिकट बुकिंग या रिज़र्वेशन नहीं कर रहा है.

आगामी आदेशों तक रेल सेवाएं स्थगित रहेंगी
3 मई तक के लॉकडाउन को खत्म होने में अब महज 3 दिनों का समय बचा है. ऐसे में देशभर के अलग अलग हिस्सों में फंसे हुए लोगों की नजरें पैसेंजर ट्रेनों के शुरू होने पर टिकी हुई है. ट्रेनें चलने को लेकर अफवाहें चरम पर हैं. जैसे टिकटों के दाम महंगे होगें. 3 मई से रेलवे स्टेशन पर ही टिकट मिलेगी. रिजर्वेशन शुरू होने वाले हैं. इन सभी अफवाहों का NWR के सीपीआरओ अभय शर्मा ने खंडन किया है और कहा है कि जब तक आगे से आदेश नहीं मिल जाते तब तक रेल सेवाएं स्थगित रहेंगी. फिलहाल टिकट बुकिंग से लेकर रिजर्वेशन तक सब बंद हैं इसलिए रेलयात्री किसी भी तरह की अफवाहों पर ध्यान न दें.

टिकट रिफंड के नियमों में बदलाव किए थे वो यथावत रहेंगे
बकौल सीपीआरओ लॉकडाउन के वजह से रेलवे ने टिकट के रिफंड के नियमों में बदलाव किए थे, वो बदलाव यथावत रहेंगे. पहले यात्री को टिकट रद्द करवाने और रिफंड लेने के लिए 3 दिन का समय मिलता था लेकिन अब रेलयात्रियों को रिफंड के लिए ट्रेन शुरू होने की तारीख से लेकर 3 महीने तक का समय दिया जा रहा है. हाल ही में रेल शुरू होने को लेकर मुंबई में बांद्रा रेलवे स्टेशन पर हजा़रों रेलयात्रियों की भीड़ इकठ्ठा हो गई थी इसे देखते हुए रेलवे बार-बार एडवाइज़री जारी कर रहा है ताकि यात्रियों तक साफ संदेश जा सके.



ट्रेनों को चलाना रेलवे के लिए चुनौतीपूर्ण होगा
हालांकि रेलवे अपने सभी जोन के साथ नियमित तौर पर वीडियो कॉन्फ्रेसिंग कर सुझाव ले रहा है. ये तय है कि जब ट्रेनें शुरू होंगी तो कोरोना के चलते काफी हद तक बदलाव किए जाएंगे. इसमें सबसे ज्यादा ध्यान सोशल डिस्टेंसिंग पर रहेगा क्योंकि रेलवे ही वह पब्लिक ट्रांसपोर्ट है जहां सबसे ज्यादा भीड़ उमड़ती है. ऐसे में ट्रेनों को चलाना रेलवे के लिए सबसे ज्यादा चुनौतीपूर्ण होगा.

COVID-19 Update: 74 नए केस, 2438 पर पहुंचा आंकड़ा, अब तक 55 लोगों की मौत

Corona Crisis: गहलोत सरकार ने GPF और CPF पर घटाई ब्याज दर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज