Home /News /rajasthan /

Lockdown 3.0: PM मोदी ने मानी CM गहलोत की बात तो मनरेगा मजदूरों की दोगुनी हो सकती है कमाई

Lockdown 3.0: PM मोदी ने मानी CM गहलोत की बात तो मनरेगा मजदूरों की दोगुनी हो सकती है कमाई

सीएम ने कहा कि अब केन्द्र और राज्य सरकारों को दोहरे मोर्चे पर लड़ाई लड़नी है.

सीएम ने कहा कि अब केन्द्र और राज्य सरकारों को दोहरे मोर्चे पर लड़ाई लड़नी है.

पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने मनरेगा की तर्ज पर ही शहरी क्षेत्रों के लिए भी रोजगार की गारंटी देने वाली योजना शुरू करने की मांग की है.

जयपुर. पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने मनरेगा की तर्ज पर ही शहरी क्षेत्रों के लिए भी रोजगार की गारंटी देने वाली योजना शुरू करने की मांग की है. गहलोत ने कहा कि लॉकडाउन के कारण दिहाड़ी पर गुजर-बसर करने वाले, गरीब, मजदूर और जरूरतमंद तबके की आजीविका बुरी तरह प्रभावित हुई है. उन्हें रोजगार मिलता रहे इसके लिए जरूरी है कि केंद्र मनरेगा की तरह ही शहरी क्षेत्र के लिए भी ऐसी योजना लाने पर विचार करे. सीएम ने मनरेगा के तहत मजदूरों के लिए न्यूनतम 200 दिन रोजगार उपलब्ध कराने का भी आग्रह किया.

राज्यों को मिले जोन निर्धारण की छूट
सोमवार को आयोजित वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में गहलोत ने कहा कि केन्द्र द्वारा घोषित लॉकडाउन का राज्य सरकारों और आमजन ने पूरी इच्छाशक्ति और संकल्प के साथ पालन किया है. अब अगले चरण में विभिन्न जोन के निर्धारण और प्रतिबंधों को लागू करने का अधिकार राज्यों को मिलना चाहिए. केन्द्र सरकार के मानक दिशा-निर्देशों के अनुरूप रहते हुए राज्यों को यह अधिकार मिले जिससे कि वे स्थानीय स्तर पर यह तय कर सकें कि किन गतिविधियों के लिए उन्हें छूट देनी है और किन को प्रतिबंधित रखना है.

केंद्र और राज्य को मिलकर लड़नी होगी अर्थव्यवस्था पटरी पर लाने की जंग
सीएम ने कहा कि अब केन्द्र और राज्य सरकारों को दोहरे मोर्चे पर लड़ाई लड़नी है. एक तरफ कोरोना से जीवन बचाने की जंग तो दूसरी तरफ आजीविका बचाने और आर्थिक हालात पटरी पर लाने की लड़ाई. लॉकडाउन के कारण केन्द्र एवं राज्यों के राजस्व संग्रहण पर विपरीत असर पड़ा है. केन्द्र की मदद के बिना यह असंभव है कि राज्य इस संकट का मुकाबला कर सकें. इसके लिए जरूरी है कि केन्द्र जल्द से जल्द व्यापक आर्थिक प्रोत्साहन पैकेज उपलब्ध कराए. एमएसएमई, मैन्यूफैक्चरिंग, सर्विस, टूरिज्म, रियल एस्टेट सहित तमाम सेक्टर्स को संबल की जरूरत है. इकोनॉमिक रिवाइवल के लिए जरूरी है कि ऐसे उपाय हों जिससे लोगों की क्रय शक्ति बढ़े उन्हें रोजगार मिले तथा उद्योगों को भी राहत मिले.

महाराणा प्रताप पर अभद्र टिप्पणी, RPS प्रवीण सुंडा समेत 3 खिलाफ मामला दर्ज

Alwar: नवविवाहित युवक निकला कोरोना पॉजिटिव, गांव में मचा हड़कंप, कर्फ्यू लगाया

Tags: Ashok gehlot, Jaipur news, Pm narendra modi, Rajasthan news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर