Home /News /rajasthan /

Lockdown: सड़क दुर्घटनाएं घटी, लेकिन दिमागी तनाव बढ़ा, 'हैप्पी इंडेक्स' कम हुआ

Lockdown: सड़क दुर्घटनाएं घटी, लेकिन दिमागी तनाव बढ़ा, 'हैप्पी इंडेक्स' कम हुआ

अब बुरे सपनों में डराने लगा है कोरोना वायरस.

अब बुरे सपनों में डराने लगा है कोरोना वायरस.

लॉकडाउन (Lockdown) में जहां एक ओर सड़क दुर्घटनाओं में कमी आई है, वहीं दूसरी ओर पारिवारिक कलह और मानसिक तनाव (Mental stress) में खासी वृद्धि हुई है. हाल ही में राजधानी जयपुर (Jaipur) के नारायणा मल्टीस्पेशियलिटी हॉस्पिटल के एक सर्वे में इसका खुलासा हुआ है.

अधिक पढ़ें ...
जयपुर. लॉकडाउन (Lockdown) में जहां एक ओर सड़क दुर्घटनाओं में कमी आई है, वहीं दूसरी ओर पारिवारिक कलह और मानसिक तनाव (Mental stress) में खासी वृद्धि हुई है. हाल ही में राजधानी जयपुर (Jaipur) के नारायणा मल्टीस्पेशियलिटी हॉस्पिटल के एक सर्वे में इसका खुलासा हुआ है. सर्वे में यह पता चला है कि लॉकडाउन में सड़क दुर्घटनाओं में कमी आयी है, लेकिन कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के साथ मानसिक तनाव, पारिवारिक कलह और बुरे सपनों में बढ़ोतरी होने लगी है.

अब नई समस्या सामने आने लगी है
नारायणा मल्टीस्पेशियलिटी हॉस्पिटल, जयपुर के न्यूरोलॉजिस्ट डॉ. पृथ्वी गिरी बताते हैं कि हॉस्पिटल के द्वारा पिछले महिने 800 लोगों पर किये गये सर्वे से ज्ञात हुआ है कि लॉकडाउन के शुरूआती दिनों में लोगों में 'हैप्पी इंडेक्स' अच्छी थी, लेकिन अब नई समस्या सामने आने लगी है. कुल मिलाकर यह सर्वे यह दर्शाता है कि कोरोना महामारी इस दौर में लोगों में मानसिक तनाव बढ़ा है तथा समय के साथ लोगों में धैर्य कम होता जा रहा है. यह शारीरिक, मानसिक एवं सामाजिक परिपेक्ष्य में काफी नुकसानदायक हो सकता है.

बुरे सपनों में डराने लगा कोरोना वायरस
सर्वे के 800 मरीजों में 90 में नाइटमेयर डिसऑर्डर की समस्या पाई गई. इनमें से 15 मरीजों को पहले से ही बुरे सपने आते थे, लेकिन 75 मरीज ऐसे थे जिनमें पहले यह समस्या नहीं थी. बुरे सपनों में कोरोना वायरस का दिखना, आई.सी.यू. में भर्ती होना, खुद की या परिवारजन की मौत होते देखना आदि शामिल थे. बुरे सपनों की वजह से ज्यादातर रात में अचानक घबराकर उठ जाना, पसीना आना, हृदय गति बढ़ जाना और बैचेनी होना शामिल था. डॉ. गिरी बताते हैं कि ऐसा होने से हार्ट अटैक और लकवे जैसी समस्याऐं बढ़ सकती हैं. ये बुरे सपने अप्रत्यक्ष रूप से कोरोना वायरस के तनाव एवं डर को दर्शाते हैं.

कोरोना को हराने के लिए सरकारी निर्देशों के साथ-साथ इन बातों का भी ध्यान रखें
- कोरोना की जंग लंबी है इसलिए मानसिक सुदृढ़ता तथा धैर्य बहुत जरूरी है.
- अपने आप तथा परिवारजनों में व्यस्त रहें.
- नियमित घर पर रहकर परिवार के साथ कसरत करें.
- वक्त नहीं मिलने पर रह गई अधूरी हॉबी पूरी करें.
- परिवार के कार्यों में हाथ बटायें- बच्चों को पढ़ायें.
- उनके साथ खेलें- सोने से पहले अच्छी न्यूज देखें.
- कार्यस्थल पर यूनिवर्सल प्रिक्योशन (मास्क, बार-बार हाथ धोना, सामजिक दूरी बनायें रखना) का पालन करें.

Lockdown: राजस्थान में 3 मई के बाद भी राहत नहीं! सीएम गहलोत ने दिए संकेत

Lockdown: भूख नहीं, 'स्वाभिमान' बड़ा है, आदिवासियों ने नकारा 'मुफ्त' का राशन

Tags: Corona Days, Corona epidemic, Jaipur news, Lockdown, Rajasthan news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर