• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Side Effects Of Lockdown: जयपुर में महिला ने ऑटो में दिया बच्चे को जन्म

Side Effects Of Lockdown: जयपुर में महिला ने ऑटो में दिया बच्चे को जन्म

घाटगेट से सांगानेरी गेट के बीच के रास्ते में ही महिला के प्रसव पीड़ा तेज हो गई और उसने वहीं ऑटो में ही बच्चे को जन्म दे दिया.

घाटगेट से सांगानेरी गेट के बीच के रास्ते में ही महिला के प्रसव पीड़ा तेज हो गई और उसने वहीं ऑटो में ही बच्चे को जन्म दे दिया.

जयपुर में एक गर्भवती महिला प्रसव पीड़ा होने पर ऑटो में अस्पताल जा रही थी. इस दौरान सख्ती के चलते ऑटो वाले से कई बार पूछताछ की गई. इस बीच महिला के ऑटो में ही प्रसव हो गया. गनीमत है कि जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ है.

  • Share this:
जयपुर. लॉकडाउन (Lockdown) में सख्ती का असर अब मेडिकल इमरजेंसी के जरुरतमंद लोगों पर भी नज़र आने लगा है. राजधानी जयपुर का रामगंज इलाका कोरोना वायरस (COVID-19) का हॉट-स्पॉट बना हुआ है. इस इलाके में चल रही पुलिस की सख्ती का खामियाजा शनिवार को एक गर्भवती महिला को भुगतना पड़ा. यहां एक गर्भवती महिला प्रसव पीड़ा होने पर ऑटो में अस्पताल जा रही थी. इस दौरान सख्ती के चलते ऑटो वाले से कई बार पूछताछ की गई. इस बीच महिला के ऑटो में ही प्रसव हो गया. गनीमत है कि जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ है.

महिला चिकित्सालय जा रही थी महिला
जानकारी के अनुसार घटना शनिवार को सुबह की बताई जा रही है. सुबह करीब 9.45 बजे रामंगज इलाके के नवाब के चौराहे के पास जुलाहों के मोहल्ले में रहने वाली महिला को प्रसव पीड़ा होने पर परिजन उसे ऑटो से सांगानेरी गेट स्थित महिला चिकित्सालय ले जा रहे थे. यहां से चिकित्सालय महज ढाई किलोमीटर दूर है. लेकिन इलाके में कर्फ्यू लगा होने के कारण वहां तैनात पुलिसकर्मियों ने उनके ऑटो को कई बार रोककर पूछताछ की. पूछताछ में लगे समय के दरम्यिान घाटगेट से सांगानेरी गेट के बीच के रास्ते में ही महिला के प्रसव पीड़ा तेज हो गई और उसने वहीं ऑटो में ही बच्चे को जन्म दे दिया. करीब ढाई किलोमीटर की इस दूरी को पार करने में उन्हें पौन घंटा लगा गया.

पति ने कहा ऐसा बर्ताव नहीं किया जाना चाहिए था
इससे नाराज महिला के पति ने कहा कि ऐसी हालत में ऐसा बर्ताव नहीं किया जाना चाहिए. माना कि हालात काफी खराब हैं, लेकिन पुलिस की इस सख्ती ने उनकी पत्नी और बच्चे दोनों की जान को खतरे के डाल दिया. ऐसी इमरजेंसी में इंसान कहां जाए. महिला के पति ने कहा कि अगर हमें बार-बार नहीं रोका जाता तो शायद हम सही वक्त पर अस्पताल पहुंच जाते और हमें इतनी सारी परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ता. गनीमत यह रही कि नवजात और महिला दोनों स्वस्थ हैं. वे अस्पताल में चिकित्साकर्मियों की निगरानी में हैं.

Lockdown: बढ़ते बालों से परेशान युवकों ने एक दूसरे के सिर पर चलाया उस्तरा  

COVID-19: राजस्थान में पॉजिटिव मरीजों में रिकॉर्ड बढ़ोतरी, आज 117 नए केस आए

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज