लाइव टीवी

लोकसभा चुनाव: जयपुर ग्रामीण में 8 में से 5 विधानसभा सीटों पर कांग्रेस का कब्जा, पढ़ें-सियासी समीकरण
Jaipur News in Hindi

Deepak Vyas | News18 Rajasthan
Updated: February 19, 2019, 4:19 PM IST
लोकसभा चुनाव: जयपुर ग्रामीण में 8 में से 5 विधानसभा सीटों पर कांग्रेस का कब्जा, पढ़ें-सियासी समीकरण
जयपुर ग्रामीण लोकसभा सीट.(getty images)

जयपुर ग्रामीण लोकसभा सीट पर भी दोनों ही प्रमुख पार्टियों के नेता टिकट के लिए दांव-पेच लगाने लगे हैं. इस सीट पर वर्तमान में बीजेपी का कब्जा हैं और यहां सांसद कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ केंद्रीय मंत्री हैं.

  • Share this:
लोकसभा चुनाव का काउंटडाउन शुरू हो चुका है. जल्द ही चुनाव की तारीखों का ऐलान भी हो जाएगा. प्रदेश की 25 सीटों पर जीत के लिए कांग्रेस और बीजेपी दोनों ने ही तैयारियां भी शुरू कर दी हैं. लिहाजा, जयपुर ग्रामीण लोकसभा सीट पर भी दोनों ही प्रमुख पार्टियों के नेता टिकट के लिए दांव-पेच लगाने लगे हैं. यह सीट क्षेत्रफल के हिसाब से काफी बड़ी और महत्वपूर्व सीट मानी जाती है. अलवर जिले से सटा जयपुर जिले का कोटपूतली कस्बा भी इस क्षेत्र में शामिल है. वहीं, उससे करीब 125 किलोमीटर दूर फुलेरा भी. कुल 8 विधानसभा सीटें जयपुर ग्रामीण में आती हैं. इनमें से 7 जयपुर जिले की हैं तो एक अलवर जिले की बानसूर भी शामिल है.
जयपुर ग्रामीण लोकसभा सीट पर वर्तमान में बीजेपी का कब्जा हैं. 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी के प्रत्याशी कर्नल(रिटायर्ड) राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने इस सीट पर करीब 3 लाख से ज्यादा वोटों से जीत दर्ज की थी. उन्होंने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सीपी जोशी को शिकस्त दी थी. लेकिन, 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस जयपुर ग्रामीण के अन्तर्गत आने वाली विधानसभा सीटों पर बेहतर प्रदर्शन करने में साबित हुई और कुल 8 में से 5 सीट कांग्रेस ने जीत ली. जबकि, बीजेपी सिर्फ दो सीटों पर सिमट गई. वहीं एक सीट निर्दलीय के खाते में चली गई.

ये भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव: राजस्थान में राज्यवर्धन सिंह ने संभाला प्रचार रथ का स्टीयरिंग

विधानसभा चुनाव 2018 का परिणाम



1. बानसूर
कांग्रेस- शकुंतला रावत
2. कोटपूतली
कांग्रेस- राजेन्द्र यादव
3. जमवारामगढ़
कांग्रेस- गोपाल मीणा
4. झोटवाड़ा
कांग्रेस- लालचंद कटारिया
5. विराटनगर
कांग्रेस- इन्द्राज गुर्जर
6. आमेर
बीजेपी- सतीश पूनिया
7. फुलेरा
बीजेपी- निर्मल कुमावत
8. शाहपुरा
आलोक बेनीवाल(निर्दलीय)

ये भी पढ़ें- राजस्थान में 'देशद्रोही' और 'धार्मिक भावनाएं' भड़काने वाला युवक गिरफ्तार

वहीं, बात यदि 2009 के लोकसभा चुनाव की करी जाए तो कांग्रेस के लालचंद कटारिया ने इस सीट पर जीत दर्ज की थी. ये सीट 2009 में हुए परिसीमन के बाद नई बनी थी. इस सीट पर यदि मतदाताओं की बात की जाए तो 2014 के आंकडों के हिसाब से कुल 16 लाख 99 हजार 462 मतदाता हैं.

ये भी पढ़ें- राजस्थान बोर्ड की किताबों में होगी पुलवामा में शहीद हुए CRPF के शहीदों की गाथा

कुल मतदाता- 16 लाख 99 हजार 462
पुरुष- 9 लाख 6 हजार 275
महिला - 7 लाख 93 हजार 187
वर्तमान में मतदाताओं की संख्या करीब 18 लाख
2011 की जनगणना के हिसाब से जनसंख्या 27 लाख 6 हजार 261
82.25 फीसदी हिस्सा ग्रामीण क्षेत्र
17.75 फीसदी शहरी क्षेत्र
इस क्षेत्र की समस्याओं की यदि बात की जाए तो हर इलाके की अपनी अलग- अलग समस्याएं हैं. कही पानी 10-10 दिन तक जनता को नहीं मिलता, तो कई गांवों में सड़कों की समस्या है. जहां सड़के बन चुकी हैं वहां नालियां तक नहीं बनी हैं. कई इलाकों में सफाई भी बड़ी परेशानी हैं. हालांकि, बड़ी समस्या जयपुर-दिल्ली रोड भी है जो आज भी अधूरे काम की वजह से परेशानी का सबब बनी हुई है.


ये भी पढ़ें- पुलवामा में राजस्थान के 5 जवान शहीद, यहां देखें- पूरी लिस्ट

इस सीट पर यदि जातिगत समीकरणों की बात की जाए तो जाट, ब्राहम्ण और अनुसूचित जाति के मतदाताओं की संख्या ज्यादा हैं. वहीं, गुर्जर, यादव, मीणा, राजपूत, माली और वैश्य मतदाताओं का भी चुनाव जिताने में काफी अहम रोल रहता हैं.

ये भी पढ़ें- शहादत को सलाम... मरुधरा के 5 सपूत शहीद, रातभर नहीं सोया पूरा गांव

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 19, 2019, 3:54 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर