Home /News /rajasthan /

राजस्‍थान: बीजेपी फिर से साधु संतों की शरण में, इन सीटों पर जताया भरोसा

राजस्‍थान: बीजेपी फिर से साधु संतों की शरण में, इन सीटों पर जताया भरोसा

फाइल फोटो।

फाइल फोटो।

लोकसभा चुनाव में बीजेपी एक बार फिर से साधु-संतों की शरण में है. बीजेपी ने अपनी दूसरी सूची में अलवर सीट पर फिर से नाथ सम्प्रदाय के महंत पर भरोसा जताया है.

    लोकसभा चुनाव में बीजेपी एक बार फिर से साधु संतों की शरण में है. बीजेपी ने अपनी दूसरी सूची में अलवर सीट पर फिर से नाथ सम्प्रदाय के महंत पर भरोसा जताया है. इससे पहले बीजेपी अपनी पहली सूची में सीकर लोकसभा क्षेत्र से स्वामी सुमेधानंद को चुनाव मैदान में उतारने का ऐलान कर चुकी है.

    राजस्‍थान: कांग्रेस के बाद बीजेपी ने चूरू, अलवर और बांसवाड़ा लोकसभा सीट के लिए घोषित किए प्रत्याशी

    दरअसल, प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में साधु संतों का अपना-अपना प्रभाव है. अलवर और सीकर दोनों ही क्षेत्र ऐसे हैं जहां बीजेपी की स्थिति ज्यादा बेहतर नहीं रही है. शेखावाटी को कांग्रेस का मजबूत गढ़ माना जाता है. शेखावाटी के तीनों जिले सीकर, चूरू और झुंझुनूं जाट बहुल हैं. इनमें हरियाणा से आकर सीकर के समीप पिपराली में आश्रम बनाकर रह रहे स्वामी सुमेधानंद सरस्वती स्वयं जाट जाति से हैं. उनका जाट समाज पर अच्छा खासा प्रभाव है. लिहाजा, सीकर के रण को जीतने के लिए बीजेपी ने सुमेधानंद पर दांव खेला था और वहां जीत दर्ज कराई थी. इस बार फिर बीजेपी ने यहां स्वामी सुमेधानंद पर भरोसा जताया है, जबकि उनका स्थानीय स्तर पर विरोध हो रहा है.

    लोकसभा चुनाव-2019: 11 सीटों पर तय हुए मुकाबले, यहां देखें कौन-कौन हैं आमने-सामने

    अलवर में उपचुनाव में मात खा चुकी है बीजेपी
    कमोबेश ऐसे ही हालात अलवर के हैं. कांग्रेस की छाप वाले इस जिले में वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने बहरोड़ के विधायक रहे नाथ सम्प्रदाय के महंत चांदनाथ को चुनाव मैदान में उतारकर कांग्रेस के कब्जे से अलवर सीट छीनी थी. वर्ष 2017 में महंत चांदनाथ के निधन से रिक्त हुई सीट पर बीजेपी ने उपचुनाव में अपने मंत्री जसवंत सिंह चुनाव मैदान में उतारा था, लेकिन वह कांग्रेस से मात खा गई. उस दौरान भी महंत चांदनाथ के उत्तराधिकारी ने बालकनाथ ने दावेदारी जताई थी, लेकिन पार्टी ने तव्वजो नहीं दी. अब इस बार पार्टी कोई रिस्क नहीं लेना चाहती. लिहाजा हाथ से फिसली हुई अलवर सीट को पुन: पाने के लिए बीजेपी पूर्व सांसद चांदनाथ के उत्तराधिकारी बाबा बालकनाथ को चुनाव मैदान में उतार अपनी जीत सुनिश्चित करने में जुटी है.

    लोकसभा चुनाव-2019: बागियों के प्रति बीजेपी का कड़ा रुख, कहा- अभी कांग्रेस को है जरूरत

    प्रत्याशी चयन में बदलाव की आहट, कांग्रेस नए जातीय समीकरण और बीजेपी देख रही फीडबैक

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट

    Tags: Alwar S20p08, Amit shah, BJP, Jaipur news, Lok Sabha Election 2019, Lok sabha elections 2019, Pm narendra modi, Rajasthan Lok Sabha Elections 2019, Rajasthan news, Sikar news, Sikar S20p05, Vasundhara raje, अलवर

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर