होम /न्यूज /राजस्थान /'माननीयों' की जान को खतरा, गृह विभाग ने नेता प्रतिपक्ष समेत इनको मुहैया कराई सुरक्षा

'माननीयों' की जान को खतरा, गृह विभाग ने नेता प्रतिपक्ष समेत इनको मुहैया कराई सुरक्षा

नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया। फाइल फोटो।

नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया। फाइल फोटो।

प्रदेश के कई वर्तमान एवं पूर्व जनप्रतिनिधियों को जान का खतरा है. नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया और महिला एवं बाल विकास ...अधिक पढ़ें

    प्रदेश के कई वर्तमान एवं पूर्व जनप्रतिनिधियों को जान का खतरा है. नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया और महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री ममता भूपेश समेत पांच विधायकों को संभावित खतरे के मद्देनजर सुरक्षा प्रदान की गई है. इनके साथ ही चित्तौड़ सांसद और पूर्व मंत्री देवी सिंह भाटी को भी सुरक्षा प्रदान मुहैया कराई गई है.

    सीकर अपहरण केस: पुलिस ने परिजनों को सौंपी दुल्हन, आरोपियों की कोर्ट में पेशी

    राज्य के गृह विभाग की ओर से जारी आदेश के अनुसार नवलगढ़ विधायक राजकुमार शर्मा, दूदू विधायक बाबूलाल नागर और फुलेरा विधायक निर्मल कुमावत को प्रदेश में आचार संहिता लागू रहने तक सुरक्षा मिलेगी. इन सभी को एक-एक पीएसओ की स्वीकृति प्रदान की गई है. सभी विधायकों को संभावित खतरे के मद्देनजर सुरक्षा मुहैया कराई गई है. प्रदेश में 23 मई तक आचार संहिता रहेगी.

    उदयपुर: दस बार कांग्रेस ने लहराया है परचम, आज मोदी साधेंगे सियासी समीकरण

    जोशी और भाटी को भी उपलब्ध करवाई सुरक्षा
    गृह विभाग की ओर से जारी आदेश के अनुसार इनके अलावा चित्तौड़गढ़ के मौजूदा सांसद एवं बीजेपी प्रत्याशी सीपी जोशी को भी संभावित खतरे के मद्देनजर सुरक्षा प्रदान की गई है. गृह विभाग ने इनकी सुरक्षा में एक पीएसओ की स्वीकृति दी है. इसी प्रकार पूर्व मंत्री देवी सिंह भाटी को भी संभावित खतरे के मद्देनजर एक पीएसओ स्वीकृत किया गया है.

    लोकसभा चुनाव -2019: मानवेन्द्र सिंह को घेरने के लिए बाड़मेर पहुंचे पीएम मोदी

    अपहरण प्रकरण- दुल्हन ने जताई परिवार के पास जाने की इच्छा, पुलिस जुटी पूछताछ में

    Tags: Ashok gehlot, BJP, Congress, Jaipur news, Lok Sabha Election 2019, Rajasthan Lok Sabha Elections 2019, Rajasthan news, Rajasthan State Election Commission, Sachin pilot, Vasundhara raje

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें