अपना शहर चुनें

States

लव जिहाद पर कानून को लेकर बोले सीएम गहलोत- यह साम्प्रदायिक सद्भाव को बिगाड़ने की चाल

गहलोत ने इसे सामाजिक टकराव को बढ़ाने वाला कदम करार दिया है.
गहलोत ने इसे सामाजिक टकराव को बढ़ाने वाला कदम करार दिया है.

Love Jihad: मध्य प्रदेश सरकार के प्रस्तावित लव जिहाद बिल को सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने साम्प्रदायिक सद्भाव को बिगाड़ने की चाल बताया है. गहलोत ने ट्वीट कर कहा कि शादी व्यक्तिगत आजादी का मामला है.

  • Share this:
जयपुर. उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश सरकार द्वारा लव जिहाद (Love Jihad) के खिलाफ कानून बनाए जाने के मुद्दे पर राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने निशाना साधा है. सीएम ने लव जिहाद बिल को लेकर ट्वीट करते हुये कहा कि बीजेपी (BJP) ने देश को बांटने और साम्प्रदायिक सद्भाव को बिगाड़ने के लिए लव जिहाद शब्द ईजाद किया है. शादी व्यक्तिगत आजादी का मामला है. शादी को रोकने के लिए लाया जाने वाला कोई भी कानून पूर्णतया असंवैधानिक है.

सीएम ने गहलोत ने एक के बाद एक लगातार 3 ट्वीट कर कहा, 'यह किसी अदालत में नहीं टिकेगा. प्यार में जिहाद का कोई स्थान नहीं है. वे देश में ऐसा माहौल बना रहे हैं, जहां वयस्क लोगों की सहमति राज्य की दया पर निर्भर हो जाएगी. शादी निजी फैसला है और वे इसमें रुकावट डाल रहे हैं. यह व्यक्तिगत आजादी को छीनने जैसा है. यह साम्प्रदायिक सद्भाव को बिगाड़ने की चाल और सामाजिक टकराव को बढ़ाने वाला कदम है. इसके साथ ही संविधान के उस प्रावधान का अनादर है, जिसमें राज्य किसी नागरिक के साथ किसी भी आधार पर किसी तरह का भेदभाव नहीं कर सकता.

COVID-19: राजस्थान के सभी जिलों में 21 नवंबर से फिर लागू होगी धारा-144






मध्य प्रदेश में इसका विरोध
उल्लेखनीय है कि मध्य प्रदेश सरकार की ओर से लव जिहाद के खिलाफ कानून बनाने की घोषणा होने के साथ ही वहां इसका विरोध शुरू हो गया है. जमीयत उलेमा-ए- हिंद ने इसका विरोध करते हुये शिवराज सरकार से मांग की है कि वह इस तरह का विधेयक न लाया जाए. जमीयत का कहना है कि पहले से ही इस तरह के कानून हैं. ऐसे में और कोई प्रोपेगंडा कर किसी समुदाय विशेष को बदनाम करने का काम न करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज