Jaipur: एक बार फिर 'मददगार' साबित हुआ मदद फाउंडेशन, युवक की जान बचाने के लिये आया आगे
Jaipur News in Hindi

Jaipur: एक बार फिर 'मददगार' साबित हुआ मदद फाउंडेशन, युवक की जान बचाने के लिये आया आगे
फाउंडेशन की टीम हॉस्पिटल पहुंची और 107000 की राशि जितेन्द्र के इलाज के लिए उसके परिवार को भेंट की.

दुर्घटना में घायल हुए एक युवक के लिए मदद फाउंडेशन एक बार फिर मददगार साबित हुआ. फाउंडेशन ने दुर्घटना में घायल हुए युवक के इलाज के लिये एक लाख रुपये से अधिक की राशि देकर उसका अमूल्य जीवन बचाने में सराहनीय भूमिका निभाई है.

  • Share this:
जयपुर. दुर्घटना में घायल हुए एक युवक के लिए मदद फाउंडेशन (Madad Foundation) एक बार फिर मददगार साबित हुआ. फाउंडेशन ने दुर्घटना में घायल हुए युवक के इलाज के लिये एक लाख रुपये से अधिक की राशि देकर उसका अमूल्य जीवन (Priceless life) बचाने में सराहनीय भूमिका निभाई है. फाउंडेशन इससे पहले भी हालात के मारे पीड़ितों की हरसंभव सहायता के लिए आगे आता रहा है.

जमीन बेचने के लिये मजबूर हो गये थे परिजन
दरअसल पाली जिले की जैतारण तहसील के पालीयावास गांव निवासी जितेंद्र सिंह का पिछले दिनों एक्सीडेंट हो गया था. इसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गया था. जितेन्द्र अपने माता-पिता की इकलौती संतान है. परिवार की आर्थिक हालत कमजोर होने के कारण वह अपने इकलौते पुत्र का इलाज कराने में असमर्थ थे. अंतत: जितेन्द्र के बुजुर्ग माता-पिता के पास अपनी जमीन बेचकर उसका इलाज कराने के अलावा और कोई दूसरा रास्ता नहीं बचा था. वे जमीन बेचने का निर्णय भी कर चुके थे. लेकिन इस दौरान मदद फाउंडेशन उनके लिए उम्मीद की किरण बनकर आया.

Dungarpur: जिस भाई की हत्‍या के मामले में जेल में बंद हैं दो शख्‍स वह 6 महीने बाद घर लौटा, किसने रची साजिश?
107000 की सहायता दी तो भावुक हुआ जितेन्द्र का परिवार


फांउडेशन की टीम को वस्तुस्थिति का पता चलने पर वह जितेन्द्र से मिलने के लिए राजधानी जयपुर के खातीपुरा स्थित सियाराम हॉस्पिटल पहुंची. वहां टीम ने जितेन्द्र की गंभीर हालत और परिवार की आर्थिक स्थिति को देखते हुए फाउंडेशन की तरफ से उनकी मदद करने का निर्णय लिया. उसके बाद गरुवार को फाउंडेशन की टीम फिर हॉस्पिटल पहुंची और 1,07000 की राशि जितेन्द्र के इलाज के लिए उसके परिवार को भेंट की. फाउंडेशन की तरफ से राशि भेंट किये जाने के दौरान दिलीप सिंह सफेड़, नवल सिंह बरणा और गजेंद्र सिंह चिराणा समेत अन्य सदस्य मौजूद रहे. मदद पाकर पीड़ित परिवार भावुक हो उठा और भामाशाहों का आभार व्यक्त किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading