लाइव टीवी

बजट से 'मदरसा' शब्‍द गायब होने से भड़के टीचर्स, सरकार पर लगाया धोखा देने का आरोप
Jaipur News in Hindi

Arbaaz Ahmed | News18 Rajasthan
Updated: February 24, 2020, 7:57 PM IST
बजट से 'मदरसा' शब्‍द गायब होने से भड़के टीचर्स, सरकार पर लगाया धोखा देने का आरोप
बजट से नाराज़ टीचर्स ने मदरसा बोर्ड किया बंद.

विधानसभा में पेश किये गए राज्य सरकार (State Government) के बजट के खिलाफ प्रदेशभर के मदरसा पैराटीचर्स अपनी नाराजगी जाहिर कर रहे हैं. राजस्थान मदरसा शिक्षक सहयोगी संघ ने सरकार पर धोखा देने का आरोप लगाया है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्‍थान विधानसभा में पेश किये गए राज्य सरकार (State Government) के बजट के खिलाफ प्रदेशभर के मदरसा पैराटीचर्स अपनी नाराजगी जाहिर कर रहे हैं. उनका कहना है कि सरकार ने वादा करके धोखा दिया है. सरकार ने मदरसों (Madrasa) को लेकर जो ख्वाब दिखाए थे वो अधूरे ही रह गए हैं. राजस्थान मदरसा शिक्षक सहयोगी संघ अध्यक्ष सैयद मसूद अख्तर ने कहा कि इस साल पेश किए गए बजट को लेकर मदरसा पैराटीचर्स इसलिए भी नाराज हैं कि जबसे मदरसा बोर्ड बना है, तब से ऐसा कभी नहीं हुआ, इसका जिक्र बजट में न किया जाए. हर साल मदरसों में बेहतर तालीम देने के लिए सभी सरकारों ने कुछ न कुछ किया है.

सीएम अशोक गहलोत के भाषण में नहीं था मदरसा शब्‍द
इस साल विधानसभा में पौने दो घंटे की सीएम अशोक गहलोत की स्पीच कहीं भी मदरसा शब्द ही नहीं था. मदरसों के लिए कई अहम मांगों खुद सरकार रजामंदी जाहिर की थी, जिनमें मदरसों में हाईटेक तालीम देना, पैराटीचर्स को रेगुलर करने और रेगुलर होने तक मानदेय बढ़ाना, मदरसा स्टूडेंट के लिए टीचिंग एड मुहैया करवाना और मदरसा एक्ट को इस विधानसभा सत्र में पेश कर पास करवाना. जबकि मदरसा पैराटीचर्स संघ के संरक्षक अमीन कायमखानी ने कहा कि इन तमाम मांगों को लेकर प्रदेश के सभी 9 मुस्लिम एमएलए भी सीएम को पत्र लिख चुके थे, उसके बावजूद इस बार के से बजट 'मदरसा' नाम का शब्द ही गायब कर दिया गया. इस साल मदरसों को न तो कोई इमदाद दी गई, न मदरसा पैराटीचर्स का मानदेय बढ़ाया और न ही उन्हें नियमित करने को लेकर कोई बात की गई.

मंत्री का दावा भी हुआ फेल



मदरसा एक्ट को लेकर तो अल्संख्यक विभाग के कैबिनेट मंत्री सालेह मोहम्मद भी ये दावा कर चुके थे कि इस बार विधानसभा में मदरसा एक्ट पेश कर दिया जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं हो सका. इसी वजह से सरकार से नाराज चल रहे मदरसा पैरा टीचर्च प्रदेश के अलग-अलग जिलों से जयपुर पहुंचे. नाराज मदरसा पैराटीचर्स प्रदेशभर के मदरसों को बंद कर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ गए. इस दौरान सवाई माधोपुर जिला अध्यक्ष दिलशाद खान ने सांकेतिक रूप से मदरसा बोर्ड के दरवाजों को बंद कर ये चेतावनी दी कि अगर उनकी मांगे नहीं मानी गई तो 27 फरवरी को मदरसा बोर्ड में ताला जड़ देंगे और विधानसभा से लेकर सीएम हाउस तक कूच करेंगे.

 

ये भी पढ़ें-

गहलोत के मंत्री का किसानों को लेकर बयान, बोले-फसल कम खराब हुई तो मैं क्या करूं

 

जयपुर: NWR ने मार्च-अप्रैल में फिर रद्द की 8 ट्रेनें, 4 का कारण बताया कोहरा!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 24, 2020, 5:43 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर