जयपुर में महंत पर लगा कूकर्म का आरोप, कोर्ट ने दिए जांच के निर्देश
Jaipur News in Hindi

जयपुर में महंत पर लगा कूकर्म का आरोप, कोर्ट ने दिए जांच के निर्देश
एफआईआर दर्ज नहीं किए जाने से परेशान होकर पीड़ित व्यक्ति ने कोर्ट की शरण ली.

एफआईआर दर्ज नहीं किए जाने से परेशान होकर पीड़ित व्यक्ति ने कोर्ट की शरण ली.

  • Share this:
राजस्थान की राजधानी जयपुर के एक मंदिर महंत पर एक युवक ने कूकर्म का आरोप लगाया है. बाबा के भेष में छिपे कथित दुराचारी के खिलाफ जब पीड़ित ने पुलिस से शिकायत की तो उसकी किसी ने नहीं सुनी. आखिर कोर्ट का सहारा लेते हुए पीड़ित ने इंसाफ की मांग की है. मामला शहर के बंशी वाले बाबा नरसिंहजी मंदिर का है. यहां के महंत पर कूकर्म का आरोप लगाने वाला पीड़ित भी यहां सेवा करने वाला ही है.

पीड़ित व्यक्ति का कहना है कि करीब चार-पांच महीने पहले महंत ने उसके साथ जबरन कूकर्म किया. घटनाक्रम के अगले दिन नाहरगढ़ थाने पहुंचने पर पुलिस ने रिपोर्ट ही दर्ज नहीं की. एफआईआर दर्ज नहीं किए जाने से परेशान होकर पीड़ित व्यक्ति ने कोर्ट की शरण ली.

कोर्ट ने पीड़ित व्यक्ति की याचिका पर अब उसकी मेडिकल जांच के लिए नाहरगढ़ पुलिस को निर्देश दिए है. पुलिस की कार्यप्रणाली से परेशान होकर पीड़ित मीडिया के सामने आया है और उसने महंत के कारनामों का खुलासा किया.



पीड़िता का कहना है कि कोर्ट में इस्तगासे की जानकारी जब महंत को लगी तो उसने मंदिर में बुलाकर उसके साथ मारपीट की. एक पुजारी ने मारपीट के दौरान बीचबचाव किया तो उसके साथ भी मारपीट की गई. पुजारी ने महंत के खिलाफ नाहरगढ़ थाने में मारपीटण् का मुकदमा दर्ज कराया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज