MBC Reservation Case- हाईकोर्ट में आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगी सुनवाई

Chandra Shekhar Vyas | News18 Rajasthan
Updated: August 20, 2019, 9:49 AM IST
MBC Reservation Case- हाईकोर्ट में आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगी सुनवाई
गत 5 अगस्त को हुई थी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सुनवाई की शुरुआत। फाइल फोटो।

एमबीसी आरक्षण मामले (MBC Reservation Case) को लेकर मंगलवार को हाईकोर्ट (High Court) में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (Video Conferencing) के जरिए सुनवाई होगी. हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस एस. रविन्द्र भट्ट (Chief Justice S. Ravindra Bhatt) और जस्टिस विनीत कुमार माथुर (Justice Vineet Kumar Mathur) की खंडपीठ में यह सुनवाई होगी.

  • Share this:
अति पिछड़ा वर्ग के आरक्षण मामले (MBC Reservation Case) में मंगलवार को हाईकोर्ट (High Court) में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (Video Conferencing) के जरिए सुनवाई होगी. हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस एस. रविन्द्र भट्ट (Chief Justice S. Ravindra Bhatt) और जस्टिस विनीत कुमार माथुर (Justice Vineet Kumar Mathur) की खंडपीठ याचिका पर सुनवाई करेगी. राजस्‍थान सरकार के महाअधिवक्ता (Advocate General) एमएस सिंघवी और याचिकाकर्ता के वकील अभिनव शर्मा सुनवाई के दौरान जयपुर से अपनी दलीलें देंगे.

CJ भट्ट जयपुर और जस्टिस माथुर जोधपुर में रहेंगे मौजूद
हाईकोर्ट में पिछले दिनों ही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सुनवाई का सिस्टम शुरू किया गया था. मंगलवार को गुर्जर (एमबीएस) सहित अन्य जातियों को पांच फीसदी आरक्षण देने के खिलाफ दायर जनहित याचिका पर हाईकोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सुनवाई होगी. चीफ जस्टिस एस. रविन्द्र भट्ट हाईकोर्ट की जयपुर पीठ के कोर्ट नंबर 1 में और खंडपीठ के दूसरे जस्टिस विनीत कुमार माथुर हाईकोर्ट की मुख्यपीठ जोधपुर के कोर्ट नंबर 9 में बैठकर सुनवाई करेंगे. सुनवाई दोपहर 3 बजे शुरू होगी. इसमें महाअधिवक्ता एमएस सिंघवी और याचिकाकर्ता के अधिवक्ता अभिनव शर्मा जयपुर से अपनी दलीलें देंगे.

5 अगस्त को हुई थी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की शुरुआत

प्रदेश के न्यायिक इतिहास में पहली बार 15 दिन पहले गत 5 अगस्त को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सुनवाई हुई थी. इससे राजस्थान हाईकोर्ट के इतिहास में एक नया अध्याय जुड़ गया था. हालांकि, पहले से जेल में बंद कैदियों की अधीनस्थ अदालतें वीसी के जरिए सुनवाई करती आई हैं. लेकिन, हाईकोर्ट में कभी भी वीडियो कांफ्रेंसिंग से सुनवाई नहीं हुई थी. गुर्जर आरक्षण से जुड़े मामले से ही इसकी शुरुआत हुई थी.

मुख्य न्यायाधीश 15-15 दिन जोधपुर और जयपुर में बैठते हैं
मुख्य न्यायाधीश 15-15 दिन जोधपुर व जयपुर में बैठते हैं. पहली बार जब वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सुनवाई हुई थी उस समय CJ जोधपुर में ही थे. पूरी खंडपीठ जोधपुर में बैठी थी. उस समय महाअधिवक्ता एमएस सिंघवी और याचिकाकर्ता के अधिवक्ता अभिनव शर्मा ने जयपुर से अपनी दलीलें दी थी, लेकिन बार खंडपीठ के दोनों न्यायाधीशों भी अलग-अलग जयपुर और जोधपुर में बैठेंगे.
Loading...

सुर्खियां: राजस्थान-गुजरात बॉर्डर पर अलर्ट, सुरक्षा बढ़ाई

राजस्थान: पूर्व PM डॉ. मनमोहन सिंह राज्यसभा सांसद निर्वाचित

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 20, 2019, 9:32 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...