राजस्थान: Remdesivir पर बोले चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा, कहा-पंजाब को इंजेक्शन देने से कमी नहीं आई

चिकित्सा मंत्री डॉ. शर्मा ने कहा कि हमारे पास जो इंजेक्शन थे उनकी एक्सपायरी डेट 30 अप्रैल थी.

चिकित्सा मंत्री डॉ. शर्मा ने कहा कि हमारे पास जो इंजेक्शन थे उनकी एक्सपायरी डेट 30 अप्रैल थी.

Rajasthan Remedesiver News: राजस्थान के चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा है कि जब पंजाब को रेमडेसिविर इंजेक्शन दिए थे, तब हमारे पास केस बहुत कम थे और पंजाब में केस बहुत ज्यादा आ रहे थे.

  • Share this:
जयपुर. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने 2000 से ज्यादा ऑक्सीजन कंसंट्रेटर का टेंडर निरस्त करने के मामले में साफ किया है कि यह टेंडर रद्द नहीं किया है. वह आज भी कैंडल स्टैंड करता है. उन्होंने कहा कि 2300 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर का आर्डर हमने दिया हुआ है. वह चाइना से आते हैं. चाइना ने इसे लाने वाले एयरक्राफ्ट पर प्रतिबंध लगा दिया था. अब वह प्रतिबंध हटा दिया है. राज्य को बहुत जल्दी ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मिल जाएंगे.

वहीं पंजाब को रेमडेसिविर इंजेक्शन देने के मामले में डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि पंजाब को देने से राजस्थान में रेमडेसिविर इंजेक्शन (Remdesivir Injection) की कमी नहीं आई है. हमने जब पंजाब को रेमडेसिविर इंजेक्शन दिए थे, तब हमारे पास केस बहुत कम थे और पंजाब में केस बहुत ज्यादा आ रहे थे. रेमडेसिविर इंजेक्शन की एक्सपायरी डेट 3 महीने के आस-पास रहती है. हमारे पास जो इंजेक्शन थे, उनकी एक्सपायरी डेट 30 अप्रैल थी. उस वक्त पंजाब के मुख्यमंत्री ने हमसे रेमडेसिविर इंजेक्शन देने का अनुरोध किया था. इंजेक्शन यहां पड़े-पड़े एक्सपायर हो जाते, इसलिए भेज दिए, लेकिन बाद में राजस्थान में अचानक केस बढ़ गए.

Youtube Video


दिल्ली गया था गहलोत सरकार का मंत्री समूह
उल्लेखनीय है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन और रेमडेसिविर इंजेक्शन समेत अन्य संसाधानों की कमी को लेकर मचे बवाल बीच मंगलवार को गहलोत सरकार ने तीन मंत्रियों का समूह केन्द्र सरकार से मदद मांगने दिल्ली पहुंचा था. कैबिनेट मंत्री शांति धारीवाल, डॉ. बीडी कल्ला और डॉ. रघु शर्मा के साथ एसीएस सुधांश पंत भी दिल्ली पहुंचे थे. यहां मंत्रियों के समूह ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला और केमिकल एंड फर्टिलाइजर मंत्री मनसुख मांडवीया से उनके आवास पर जाकर मुलाकात की. वहीं गृहमंत्री अमित शाह, रेल मंत्री पीयूष गोयल, स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन, केन्द्रीय गृह सचिव और केन्द्रीय स्वास्थ्य सचिव से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये प्रदेश के हालात पर विस्तार से चर्चा कर मदद मांगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज