लाइव टीवी

मेज नदी बस हादसा: विधानसभा में हंगामा, पीड़ितों से मिलने CM गहलोत कल जाएंगे कोटा, ADM करेंगे जांच
Jaipur News in Hindi

Goverdhan Chaudhary | News18 Rajasthan
Updated: February 27, 2020, 5:54 PM IST
मेज नदी बस हादसा: विधानसभा में हंगामा, पीड़ितों से मिलने CM गहलोत कल जाएंगे कोटा, ADM करेंगे जांच
नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि बस मालिक के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करवाया जाए.

बूंदी के लाखेरी में मेज नदी में बस गिरने से हुई 24 लोगों की मौत (Death) का मामला गुरुवार को विधानसभा (Assembly) में गूंजा. संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल ने मामले की जांच एडीएम से करवाने की घोषणा की है.

  • Share this:
जयपुर. बूंदी के लाखेरी में मेज नदी में बस गिरने से हुई 24 लोगों की मौत (Death) का मामला गुरुवार को विधानसभा (Assembly) में गूंजा. मामले को लेकर बीजेपी विधायकों ने मंत्री शांति धरीवाल की टिप्पणी के विरोध में जमकर हंगामा किया और फिर सदन से वॉकआउट (Walkout) कर दिया. इससे पहले सदन में मेज नदी हादसे में मारे गए लोगों को 2 मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई. संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल ने मामले की जांच एडीएम से करवाने की घोषणा की है. शुक्रवार को सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) मृतकों के परिजनों को ढांढस बंधाने कोटा जाएंगे.

स्थगन के जरिए उपनेता प्रतिपक्ष ने उठाया मामला
उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ और विधायक चंद्रकांता मेघवाल तथा संदीप शर्मा ने स्थगन के जरिए यह मामला उठाते हुए मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये मुआवजा देने सहित घटना की जांच करवाने की मांग उठाई. राठौड़ ने सिटी परमिट की बस को बाहर भेजने पर भी सवाल उठाए. संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि बस का सिटी परमिट था और उसे बाहर जाने का अस्थयी परमिट दिया गया था. बस के कागजों की जांच के लिए तीन अधिकारियों को भेजा है. धारीवाल ने बीजेपी राज में मेगा हाईवे बनाने वाली कंपनी द्वारा पुरानी पुलिया की मरम्मत नहीं करने पर सवाल उठाए. इस पर बीजेपी विधायकों ने हंगामा शुरू कर दिया और बाद में सदन से वॉकआउट किया.

विधानसभा अध्यक्ष ने किया मामले में हस्तक्षेप



वॉकआउट के बाद जब बीजेपी विधायक जब वापस आए तो विधानसभा अध्यक्ष ने भी मामले में हस्तक्षेप किया और मंत्री से दुर्घटना की जांच तथा मृतकों के बच्चों को पर्याप्त मुआवजा देने पर स्थिति स्पष्ट करने को कहा. नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने सिटी एडीएम को जांच देने की मांग की. संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल ने अपने जवाब में सिटी एडीएम से जांच करवाने पर सहमति जताई.

बस मालिक के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करवाया जाए
नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि बस मालिक के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करवाया जाए. सिटी बस परमिट के बावजूद बाहर कैसे भिजवाया गया. बस का परमिट कब खत्म हुआ. क्या विभाग ने बस मालिक को नोटिस दिया था. अगर नहीं दिया तो विभाग का भी दोष है. 30 सीटर बस का परमिट था तो क्षमता से ज्यादा सवारियां कैसे बैठाई गई. यह हादसा बेहद दुखद है.

 

 

पंचायत चुनाव: कानूनी अड़चनें हुईं दूर, अप्रेल माह में ही होंगे बचे हुए चुनाव

 

बाड़मेर: पुलिस हिरासत में फिर 1 युवक की मौत, SHO सस्पेंड, पूरा थाना लाइन हाजिर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 27, 2020, 5:50 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर