जब घोड़े की जगह गधे पर बैठकर इरफान करते थे एक्टिंग..., देखें अनदेखी तस्वीरें
Jaipur News in Hindi

जब घोड़े की जगह गधे पर बैठकर इरफान करते थे एक्टिंग..., देखें अनदेखी तस्वीरें
एक्टर इरफान का बुधवार को मुंबई में निधन हो गया.

इरफान के बचपन की तस्वीरें उनके अभिनय के प्रति जुनून की गवाह हैं. फिल्म 'शोले' ने उन्हें इतना प्रभावित किया था कि वह घोड़े की जगह गधे पर बैठकर इस फिल्म के दृश्यों की नकल उतारा करते थे.

  • Share this:
जयपुर. बॉलीवुड में कम समय में अपनी गहरी छाप छोड़ने वाले एक्टर इरफान खान (Irfan Khan) की यादें राजस्थान की माटी से जुड़ी हुई है. टोंक में जन्मे इरफान को बचपन से ही एक्टिंग का शौक था, जो समय के साथ उनके जुनून में तब्दील हो गया. उनके इसी शौक की पूरी दुनिया मुरीद थी और कल उनके निधन के बाद इसी वजह से लोग गमगीन भी हो गए. इरफान के बारे में उनके बचपन के दोस्त बताते हैं कि फिल्म 'शोले' ने उन्हें इतना प्रभावित किया था कि वह घोड़े की जगह गधे पर बैठकर इस फिल्म के दृश्यों की नकल उतारा करते थे.

इरफान के बचपन की तस्वीरें उनके अभिनय के प्रति जुनून की गवाह हैं. इरफान के रिश्तेदार और उनके साथ जयपुर के कॉलेज में पढ़े साहिबजादा कवी खान ने उनके इस शौक के बारे में विस्तार से बताया. साहिबजादा ने बताया कि इरफान को 'शोले' इतनी ज्यादा पसंद आई थी कि दोस्तों के साथ वे लगातार इस फिल्म के दृश्यों की कॉपी किया करते थे. एक दिन इरफान तीन गधों को लेकर आए और दोस्तों के साथ उस पर बैठकर एक्टिंग का अभ्यास किया. चाहे 'शोले' में कालिया का गांव से अनाज मांगने का सीन हो या वीरू के बाइक पर जय के कंधे पर बैठने का दृश्य, इरफान हर सीन का अभ्यास करते थे.

इरफान की यादः घोड़े की जगह गधे पर बैठ कर करते थे एक्टिंग की प्रैक्टिस, देखें Photos | memories-of-irfan-acting-was-a-passion-for-bollywood-actor-irfan-khan-rjaa



इरफान की यादः घोड़े की जगह गधे पर बैठ कर करते थे एक्टिंग की प्रैक्टिस, देखें Photos | memories-of-irfan-acting-was-a-passion-for-bollywood-actor-irfan-khan-rjaa
इरफान के बचपन की तस्वीरें.

इरफान की यादः घोड़े की जगह गधे पर बैठ कर करते थे एक्टिंग की प्रैक्टिस, देखें Photos | memories-of-irfan-acting-was-a-passion-for-bollywood-actor-irfan-khan-rjaa

साहिबजादा कवी खान का कहना है कि इरफान में एक्टिंग को लेकर एक अलग ही जुनून था. आमतौर पर बचपन में लोगों में कई शौक होते हैं, लेकिन इरफान ने अपनी मंजिल बहुत पहले ही तय कर ली थी. उसे पाने के लिए उन्होंने जी-तोड़ मेहनत की और अपना मुकाम हासिल किया. साहिबजादा ने बताया कि आज जब इरफान ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया है, तो उनके इसी जुनून को याद कर आंखों में आंसू आ जाते हैं.

ये भी पढ़ें-

उसकी आंखों ने दर्द बयां किया, लेकिन उसने कभी नहीं- ऐसा था मेरा दोस्त इरफान!

राजस्थान के नायाब हीरे ने दुनिया को कहा अलविदा, टोंक में बीता था इरफान का बचपन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading