Home /News /rajasthan /

आ​र्थिक तंगी से जूझ रहे हैं निकाय पर मंत्री धारीवाल ने कहा-'हर हाल में होगा विकास'

आ​र्थिक तंगी से जूझ रहे हैं निकाय पर मंत्री धारीवाल ने कहा-'हर हाल में होगा विकास'

राजस्थान के नगर निकाय  आर्थिक तंगी के दौर से गुजर रहे हैं.

राजस्थान के नगर निकाय आर्थिक तंगी के दौर से गुजर रहे हैं.

पैसा नहीं होने के बावजूद भी सरकार ने निकायों (Municipal Coporation) को हिम्मत दी है और सूबे के निकायों से जनता को राहत देने वाली नई विकास की परियोजनाओं के प्लान तैयार करवाए जा रहे हैं. राज्य के नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल (Shanti Dhariwal) भी मानते हैं कि विकास के लिए पैसा मौजूदा समय में बड़ी चुनौती है.

अधिक पढ़ें ...
जयपुर. राजस्थान में जनता के लिए बनाई जा रही विकास की परियोजानओं (Development Projects) को पूरा करना सरकार के लिए बड़ा चैलेंज (Big Challenge) है. हालात ऐसी है कि कई निकायों के पास तो अपने कर्मचारियों को पगार देने तक के पैसे नहीं हैं. सूबे के कई निकायों में जहां कभी अकाउंट में भरपूर बजट होता था, वहां की माली हालात इनदिनों सही नहीं है. निकायों ने अदद मदद की आस के लिए सरकार से भी संपर्क किया है. पैसा नहीं होने के बावजूद भी सरकार ने निकायों को हिम्मत दी है और सूबे के निकायों से जनता को राहत देने वाली नई विकास की परियोजनाओं के प्लान तैयार करवाए जा रहे हैं. राज्य के नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल भी मानते हैं कि विकास के लिए पैसा मौजूदा समय में बड़ी चुनौती है. धारीवाल इसका ठीकरा पूर्व की भाजपा सरकार पर फोड़ने से भी नहीं कतरा रह हैं.

ऐसे चल रहा है निकायों का काम

राजधानी जयपुर सहित प्रदेश के बड़े और छोटे शहरो में निकायों ने बडी तादाद में विकास कार्य के बदले कई निर्माणकर्ताओं का भुगतान नहीं किया है. जयपुर जेडीए लोन की मदद से सोडाला एलीवेटेड, द्रव्यवती नदी सौंदर्यीकरण परियोजना जैसी कई बड़ी परियोजनाओं को पूरा कर रहा है. शायद तंगी के चलते ही जेडीए नये प्रोजेक्ट लाने के बजाय पुरानी आवास योजना में खाली पड़े भूखंडों को बेच कर जैसे तैसे दिन गुजार रहा है और जेडीए सरकार की ओर इस आस से देख रहा है कि अब सरकार ही कोई चमत्कार करेगी.

पूर्ववर्ती सरकार के फैसलों के कारण निकायों की हालत खराब: धारीवाल

निकायों की माली हालात को लेकर धारीवाल का कहना है कि निकायों के पास पैसा नहीं होने का बड़ा कारण पूर्ववर्ती सरकार के फैसले थे. धारीवाल ने न्यूज 18 से बताया कि भाजपा सरकार के पास कोई विजन नहीं था. निकायों पर कर्जा छोड़ा तो छोड़ा पिछली सरकार ने हर बार की तरह कई प्रोजेक्ट भी अधूरे छोड़ दिए, जिनका कोई खास जनहित में उपयोग नही है.

Shanti Dhariwal
मंत्री शांति धारीवाल ने यह दावा किया है कि कही से भी पैसा लाएंगे, मगर जनता से जुड़ी नई विकास परियोजनाओं को पूरा करेंगे.


'पैसा जुटाने के लिए अफसरों की फौज लगी है'

निकायों के पास भले ही पैसे की तंगी चल रही है और निकायों की माली हालत लगातार खराब है, मगर सरकार के मंत्री शांति धारीवाल ने यह दावा किया है कि कही से भी पैसा लाएंगे, मगर जनता से जुड़ी नई विकास परियोजनाओं को पूरा करेंगे. उन्होंने कहा कि इसके लिए विभाग के अफसरों की फौज दिन रात जुटी है ताकि निकायों की झोली में पैसा आ सके. धारीवाल का यह बयान शहरी विकास के नजरिये से खासा अहम है. अब सरकार अपने सामने आए इस चैलैंज को कैसे पूरा कर पाएंगी और कौन सी नई विकास की परियोजनाए जनता को आने वाले समय में मिलेंगी, यह तो आने वाला वक्त बताएगा.

यह भी पढ़ें: BJP संगठन चुनाव: आज होगी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया के निर्वाचन की घोषणा

फतेहसागर झील में कूदकर प्रोफेसर ने की खुदकुशी, Whatsapp पर छोड़कर आया था मैसेज

Tags: Jaipur news, Municipal Corporation, Rajasthan PCC

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर